इंदिरा पार्क नहीं, जंगल कहिये जनाब

Ambala Updated Tue, 07 Aug 2012 12:00 PM IST
अंबाला। छावनी का इंदिरा पार्क अब पार्क नहीं जंगल में तब्दील होता जा रहा है। निगम का इस ओर कोई ध्यान नहीं है, जबकि पार्क में सैर करने आने वालों की दिक्कत बढ़ती जा रही है। यही नहीं अब तो पार्क में सैर करना भी किसी खतरे से खाली नहीं है।
छावनी का इंदिरा पार्क अब धीरे-धीरे जंगल में तबदील होता जा रहा है। दिनोंदिन बिगड़ते इनके हालातों पर प्रशासन की नजर तक नहीं है। अंबाला का यह पार्क काफी पुराना है और सदर, रेलवे रोड, निकलसन रोड, बीसी बाजार, स्टाफ रोड, ग्रैंड होटल, पुराना बर्फखाना, सिसिल होटल, पैरिस होटल, बीआई मैस रोड, राय मार्केट, डेरा बत्ती क्षेत्रों के सबसे नजदीक है और इन क्षेत्रों के अधिकतर लोग यहां पर सैर करने के लिए आते हैं। लेकिन इस पार्क की स्थिति इन दिनों ऐसी है कि इस पार्क में आने वाले लोग मायूस होने लगे हैं। न तो यहां पर फव्वारे चलते हैं और न ही फिश पौंड कभी गुलजार ही नहीं हुआ। लेकिन अब तो पार्क में लंबी घास, टूटी सैरपट्टी, जहरीले कीड़े सैर करने आने वालों का स्वागत करते हैं।

‘पार्क के हालात खराब हैं और निगम का ध्यान इस ओर नहीं है। सैर करने आने वालों का लंबी घास स्वागत करती है। एक बार देखने से तो लगता है कि कहीं जंगल में आ गए हैं।’
- अनिल कुमार श्रीवास्तव, अंबाला छावनी
‘कैंट निगम क्षेत्र का यह सबसे पुराना पार्क है। इसका रकबा तो बढ़ा दिया गया, लेकिन इसकी व्यवस्थाएं पूरी तरह से दम तोड़ गई। आज के समय में यह पार्क पूरी तरह से बदहाल हो चुका है।’
- आनंद मोहन शुक्ला, निकलसन रोड, अंबाला छावनी

‘पार्क की देखरेख के लिए माली व अन्य कर्मचारी हैं। यदि पार्क में लंबी घास और अन्य अव्यवस्थाएं हैं, तो उसकी जानकारी लेकर दूर किया जाएगा। सैर करने आने वालों को जल्द ही इस में सुधार दिखाई देगा।’
- केके यादव, सचिव नगर निगम अंबाला सदर

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

आजादी का क्रेडिट बापू को देने पर खट्टर के मंत्री को है ये ऐतराज

हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज एक बार फिर से अपने बयान को लेकर विवादों में घिर गए हैं।

20 नवंबर 2017