‘साहब’ को बताए बिना छुट्टी की, स्पष्टीकरण दें

Ambala Updated Tue, 07 Aug 2012 12:00 PM IST
अंबाला। शहर नगर निगम के चालकों द्वारा रक्षाबंधन पर ‘साहब’ को बिन बताए छुट्टी पर जाना महंगा पड़ गया है। चालकों को नगर निगम सचिव की ओर से नोटिस जारी कर दो दिन में जवाब देने के लिए कहा गया है। इसी बात को लेकर चालकाें में जहां रोष की स्थिति है, वहीं नगर निगम कर्मचारी यूनियन ने भी इसका विरोध किया है।
दरअसल, शहर नगर निगम के चालकों को जारी नोटिस में कहा गया है कि वे रक्षाबंधन पर्व के दिन बिना किसी अधिकारी को सूचित किए गैरहाजिर रहे और ये अनुशासनहीनता है। नोटिस में चालकों को दो दिन में स्पष्टीकरण देने को कहा गया है। चालकों को नोटिस मिलने के बाद नगर निगम कर्मचारी यूनियन ने एक बैठक कर इसकी निंदा की है। प्रधान प्रदीप कुमार और चेयरमैन देसराज टांक के अनुसार नोटिस देने से पहले चालकों को बुलाकर उनसे गैरहाजिर का कारण पूछा जा सकता था। यूनियन के अनुसार सीधे नोटिस थमाने का तरीका उचित नहीं है।

चालकों का कहना है
एक चालक ने बताया उन्होंने राखी पर्व वाले दिन दोपहर लंच तक एसडीएम साहब की गाड़ी चलाई और एसडीएम साहब को बताकर ही वे छुट्टी पर गया था। लेकिन उसके बावजूद उसे नोटिस जारी कर दिया गया। एक अन्य चालक ने बताया कि वह इंप्रूवमेंट ट्रस्ट विभाग का चालक था, लेकिन उसे निगम में शिफ्ट किया गया है। उसने बकायदा इंप्रूवमेंट ट्रस्ट विभाग में अपनी छुट्टी की अर्जी दी हुई है। लेकिन उसके बावजूद उसे नोटिस दे दिया गया। जबकि एक अन्य चालक बीमारी की वजह से अवकाश पर चल रहा है, उसे भी नोटिस थमा दिया गया है।

‘ये सभी अनुशासन की बातें हैं, यदि चालकों को कोई दिक्कत हैं, तो वे उन्हें आकर बताएं। कर्मचारी यदि अफसरों को बिना बताए कहीं जाएगा, तो उसे अनुशासनहीनता ही मानी जाएगी।’
- वीरेंद्र सहारण, सचिव, नगर निगम, अंबाला
डीसी ने तलब किए आधा दर्जन कर्मचारी
औचक निरीक्षण के दौरान निगम में गैर हाजिर पाए गए नगर निगम के छह कर्मचारियों को डीसी अंबाला ने तलब कर लिया है। सूत्रों के अनुसार इन सभी छह कर्मचारियों से स्पष्टीकरण मांगा गया था। इन कर्मचारियों का स्पष्टीकरण अभी तक डीसी अंबाला के पास नहीं पहुंच पाया। इससे नाराज डीसी अंबाला ने इन सभी छह कर्मचारियों को तलब किया है। सभी कर्मचारियों को इस बारे में लिखित में सूचना दी जा चुकी है। इससे कर्मचारियों में हड़कंप है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

आजादी का क्रेडिट बापू को देने पर खट्टर के मंत्री को है ये ऐतराज

हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज एक बार फिर से अपने बयान को लेकर विवादों में घिर गए हैं।

20 नवंबर 2017