गोरखपुर में कानूनगो ने धक्का देकर बुजुर्ग को दफ्तर से निकाला, सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो

अमर उजाला ब्यूरो, गोरखपुर। Published by: गोरखपुर ब्यूरो Updated Fri, 15 Jan 2021 11:39 AM IST
सांकेतिक तस्वीर।
सांकेतिक तस्वीर। - फोटो : PIXABAY
विज्ञापन
ख़बर सुनें
गोरखपुर जिले में दो साल पहले मर चुके व्यक्ति के खिलाफ बेदखली का आदेश जारी करने के मामले में कार्यप्रणाली को लेकर हाल ही में कठघरे में खड़ा गोला तहसील प्रशासन एक बार फिर चर्चा में है। ताजा मामला सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहे एक वीडियो का है।
विज्ञापन


इसमें तहसील के ही कानूनगो अजीत सिंह फरियाद लेकर पहुंचे बुजुर्ग कोहरा खुर्द के चंद्र प्रकाश मिश्र की बात सुनने की जगह उन्हें धक्के देकर दफ्तर से बाहर निकालते दिख रहे है। वीडियो में दर्ज घटना 12 जनवरी 2021 की बताई जा रही है।


वायरल हो रहे वीडियो के मुताबिक गोला तहसील में तैनात कानूनगो अजीत सिंह के दफ्तर में एक बुजुर्ग फरियादी अपनी समस्या अभी बयां ही करता। इस बीच कानूनगो अपना आपा खो बैठते हैं और कुर्सी से खड़े होकर बुजुर्ग को धक्के देते हुए बाहर निकाल रहे हैं।

वीडियो में यह भी साफ सुना जा रहा है कि जब बुजुर्ग मामले की शिकायत करने की बात कहते हैं तो कानूनगो पलटकर जवाब दे रहे हैं। कानूनगो कह रहे हैं कि जहां मन करे वहां जाओ। देख लेंगे। वीडियो में घटना के समय दफ्तर में कर्मचारी और अन्य फरियादी भी अचानक हुई इस घटना से हक्का-बक्का हुए खड़े दिख रहे हैं। कानूनगो के इस दुर्व्यवहार से बुजुर्ग भी आक्रोशित दिखाई पड़ रहा है और भला-बुरा कहते हुए दफ्तर से बाहर निकल रहा है।

 

अधिकारियों ने क्या कहा?

गोला एसडीएम राजेंद्र बहादुर ने कहा कि घटना और वीडियो दोनों की जांच कराई जाएगी। जिसने गलती की होगी उस पर कार्रवाई होगी।

कानूनगो अजीत सिंह ने कहा कि एक डीह की जमीन के मामले को लेकर कोहरा खुर्द गांव के एक व्यक्ति दफ्तर आए थे। उस समय आईजीआरएस से जुड़ा काम कर रहा था। मामला हलका लेखपाल से जुड़ा हुआ था। व्यक्ति को लेखपाल के पास जाने की सलाह दी गई। यह भी कहा कि लेखपाल के पास दिक्कत हो तब वह मेरे पास आएं मगर वह मुझे ही भला-बुरा कहते हुए बदसलूकी करने लगे। इससे दफ्तर का काम भी प्रभावित हो रहा था। हमने सिर्फ हाथ पकड़कर उन्हें बाहर किया। धक्का या कोई बदसलूकी नहीं की है।

पीड़ित बुजुर्ग चंद्र प्रकाश मिश्र ने कहा कि मामला जमीन से जुड़ा था। लंबे समय से दौड़भाग कर रहे हैं। कानूनगो से पीड़ा बताने गया था लेकिन दुर्व्यवहार किया गया। इसकी मौखिक शिकायत एसडीएम से की है। अब लिखित शिकायत भी करेंगे। साक्ष्य के तौर पर वीडियो भी प्रस्तुत करूंगा।
 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00