विज्ञापन
विज्ञापन

महाशिवरात्रि पर 21 साल बाद शिव योग, शुभ मुहूर्त

ब्यूरो/अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Sun, 06 Mar 2016 04:01 PM IST
महाशिवरात्रि
महाशिवरात्रि - फोटो : फाइल फोटो
ख़बर सुनें
महाशिवरात्रि पर इस वर्ष शिव योग बन रहा है। सोमवार को दोपहर एक बजकर 21 मिनट पर चतुर्दशी शुरू होगी। सेक्टर-30 स्थित भृगु ज्योतिष केंद्र के प्रमुख बीरेंद्र नारायण मिश्र ने बताया कि सोमवार को त्रयोदशी तिथि में चतुर्दशी तिथि शुरू हो तो शिव नामक योग बनता है। यह बहुत ही शुभ माना गया है।
विज्ञापन
विज्ञापन
शिवयोग की समाप्ति और मध्यरात्रि में साध्य नामक योग आ जाए तो इसको महारात्रि के नाम से जाना जाता है। इस महारात्रि को महाजयंती शिवरात्रि कहते हैं। मिश्र ने बताया कि इस रात्रि के द्वितीय प्रहर में भगवान शिव का अभिषेक करने से हर प्रकार की मनोकामना पूरी होती है। ऐसा योग 21 वर्ष के बाद आया है।

जय श्री राम ज्योतिष केंद्र के प्रमुख स्वामी राम बहादुर मिश्र, देवालय पूजक परिषद के कोषाध्यक्ष और सेक्टर-18 के श्री राधा कृष्ण मंदिर के पुजारी डॉ. लाल बहादुर दुबे, सेक्टर-30 के शिव शक्ति मंदिर के प्रमुख पुजारी श्याम सुंदर शास्त्री के अनुसार महाशिवरात्रि को चार प्रहर की पूजा होती है।

चार प्रहर की पूजा का समय
प्रथम प्रहर की पूजा -शाम 6:21 बजे से रात 9:40 बजे तक
द्वितीय प्रहर की पूजा -रात 9:40 बजे से रात 12:20 बजे तक
तृतीय प्रहर की पूजा- रात 12:20 बजे से सुबह 3:40 बजे तक
चतुर्थ प्रहर की पूजा- सुबह 3:40 बजे से सुबह 6:47 बजे तक

Recommended

UP Board Results देखने के लिए आज ही 8929470909 नंबर पर मिस्ड कॉल करें और फोन पर पाएं परिणाम
UP Board 2019

UP Board Results देखने के लिए आज ही 8929470909 नंबर पर मिस्ड कॉल करें और फोन पर पाएं परिणाम

कब और कैसे मिलेगी सरकारी नौकरी ?
ज्योतिष समाधान

कब और कैसे मिलेगी सरकारी नौकरी ?

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

गर्मियों में महिलाओं को क्यों होने लगती है यूरिन इंफेक्शन की समस्या

गर्मियां आते ही महिलाओं को यूरिन इन्फेक्शन की समस्या होने लगती है। पुरुषों की तुलना में ये दिक्कत महिलाओं को ज्यादा होती है। जरा सी अनदेखी करने से ये इन्फेक्शन ब्लैडर और किडनी तक को नुकसान पहुंचा सकता है।

25 अप्रैल 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election