विज्ञापन

Movie Review: 'पटाखा' देखने का मतलब पैसों में आग लगाना, रिव्यू पढ़कर ही देखने जाएं

रवि बुले Updated Fri, 28 Sep 2018 01:35 PM IST
Film Review pataakha Sanya Malhotra and Radhika Madan film
ख़बर सुनें
-निर्माता-निर्देशकः विशाल भारद्वाज
विज्ञापन
-सितारेः सान्या मल्होत्रा, राधिका मदान, विजय राज, सुनील ग्रोवर
रेटिंग **

शेक्सपीयर के नाटकों से प्रेरित मकबूल, ओमकारा और हैदर जैसी फिल्मों में लेखक-निर्देशक विशाल भारद्वाज ग्लोबल को लोकल बना रहे थे। मटरू की बिजली का मंडोला, सात खून माफ और रंगून में उन्होंने ग्लोबल-लोकल को मिक्स किया और अब पटाखा के साथ वह लोकल को ग्लोबल मंच देने की कोशिश में हैं। एक अच्छी कहानी अपने आप में सब कहती है, उसे व्याख्या की जरूरत नहीं पड़ती।

पटाखा में विशाल दो बहनों के सतत झगड़े की कहानी कहते हुए समझा रहे कि इन्हें भारत-पाकिस्तान, इजरायल-फिलस्तीन और उत्तर कोरिया-दक्षिण कोरिया के झगड़ों की तरह देखें। इन बहनों के पास झगड़ों की ठोस वजह नहीं लेकिन झगड़ती रहती हैं। बीड़ी और कपड़ों जैसी तुच्छ चीजों पर ये एक-दूसरे के बाल नोंच लेती हैं। झगड़ा इनकी सांसें हैं। 

ये झगड़ नहीं पातीं तो अंधी और गूंगी हो जाती हैं। जैसे इनके झगड़े के पीछे कोई तर्क नहीं, वैसे ही इनके अंधे-गूंगे और फिर आमने-सामने पड़ कर झड़गते हुए ठीक हो जाने के पीछे भी कोई तर्क नहीं। कुल जमा पटाखा बॉलीवु का तर्कहीन सिनेमा है। विशाल ने अपनी चुकती रचनाधर्मिता को नायिकाओं की गाली-गलौच, गोबर-मिट्टी में लथपथ झगड़े समेत शोर भरे बैकग्राउंड म्यूजिक से ढंकने की कोशिश की। इस लिहाज से पटाखा फिल्म का एकदम सही नाम है। लेकिन समझदार सदा कहते आए हैं कि पटाखों पर खर्च करना मतलब पैसे में आग लगाना है।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all entertainment news in Hindi related to bollywood news, Tv news, hollywood news, movie reviews etc. Stay updated with us for all breaking hindi news from entertainment and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Movie Review

'परमाणु' की तरह नहीं चला 'सत्यमेव जयते' का जादू, पर जॉन अब्राहम के एक्शन ने लूट ली महफिल

तरक्की के साथ सिनेमा को आगे बढ़ना चाहिए या पीछे? तय है कि आगे लेकिन लेखक-निर्देशक मिलाप जवेरी सत्यमेव जयते में इसे पीछे धकेलते हैं। वह 1970-80 के दशकों के चालू फार्मूलों से 2018 की फिल्म गढ़ते हैं।

15 अगस्त 2018

विज्ञापन

बेटी ईशा की शादी से पहले मंच पर उतरा अंबानी परिवार किया जमकर डांस

देश के बिजनेस टाइकून मुकेश अंबानी के बेटी ईशा अंबानी के उदयपुर में हुए प्री वेडिंग फंक्शन का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें पूरे अंबानी परिवार ने 'GAJJU' गीत पर एक साथ परफॉर्मेंस दी थी।

11 दिसंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election