सुशांत सिंह राजपूत केस में जानकारी लीक करने की बात को सीबीआई ने नकारा, कोर्ट में कही ये बात

एंटरटेनमेंट डेस्क, अमर उजाला Updated Fri, 23 Oct 2020 05:48 PM IST
विज्ञापन
सुशांत सिंह राजपूत
सुशांत सिंह राजपूत - फोटो : अमर उजाला, मुंबई

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

सार

  • सॉलिसिटर जनरल अनिल सिंह ने जनहित याचिका द्वारा लगाए गए आरोपों को खारिज किया है।
  • बॉम्बे हाई कोर्ट में कई जनहित याचिकाएं दायर की गईं।
  • जनहित याचिका दायर करने वालों में रिटायर्ड पुलिस अधिकारी हैं।

विस्तार

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की जांच सीबीआई कर रही हैं। एजेंसी पर मामले की जानकारी लीक करने के आरोप लगते रहे हैं। ऐसे में शुक्रवार को बॉम्बे हाईकोर्ट ने इस मामले पर सुनवाई की, जिसमें सीबीआई ने दावा किया है कि उन्होंने किसी भी तरह की जानकारी किसी भी शख्स या मीडिया को नहीं दी है। साथ ही उनकी तरफ से किसी भी तरह की जानकारी लीक नहीं हुई है। 
विज्ञापन

दरअसल सुशांत सिंह राजपूत मामले में सीबीआई, एनसीबी और ईडी जांच कर रही हैं। जब से इन तीनों केंद्रीय एजेंसियों ने जांच शुरू की तब से उनपर मामले की जानकारी मीडिया के साथ साझा करने के आरोप लग रहे हैं। जनहित याचिका में दावा किया गया कि इस मामले की गंभीर जानकारी मीडिया में आने के बाद ध्रुवीकरण हो रहा है। इसको लेकर बॉम्बे हाई कोर्ट में कई जनहित याचिकाएं दायर की गईं जिस पर कोर्ट ने शुक्रवार को सुनवाई की। 
सीबीआई की ओर से सॉलिसिटर जनरल अनिल सिंह ने जनहित याचिका में लगाए गए आरोपों को खारिज किया है। अनिल सिंह ने कहा, 'सीबीआई ही नहीं इस मामले में जांच कर रहे नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने भी मामले की जांच को लीक नहीं किया है। यह हमारी जिम्मेदारी है और जानकारी लीक होने का सवाल ही नहीं उठता है।'

मुख्य न्यायाधीश दीपांकर दत्ता और न्यायमूर्ति जी एस कुलकर्णी की पीठ जनहित याचिकाओं पर अंतिम बहस कर रही थी, जिसमें कहा गया कि मीडिया को दिवंगत अभिनेता की मौत की जांच में अपने कवरेज में संयमित रहने की जरूरत है। गौरतलब है कि इससे पहले भी तीनों जांच एंजेसियों ने कोर्ट में हलफनामा दायर करके भी जानकारी लीक होने की बात को नकारा था। आपको बता दें कि जनहित याचिका दायर करने वालों में रिटायर्ड पुलिस अधिकारी हैं, जिन्होंने दावा किया है कि न्यूज चैनल्स को सुशांत सिंह राजपूत केस की गंभीर जानकारी दी जा रही है। 
विज्ञापन
विज्ञापन
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X