तीन तलाक के मु्ददे पर पहली बार बोलीं शबाना आजमी, जानिए क्या कहा

amarujala.com- Presented by: आकांक्षा सिंह Updated Mon, 22 May 2017 10:46 AM IST
शबाना आजमी
शबाना आजमी
विज्ञापन
ख़बर सुनें
फिल्म अभिनेत्री और सामाजिक कार्यकर्ता शबाना आजमी ने तीन तलाक की कड़ी आलोचना करते हुए कहा है कि ये प्रथा अमानवीय है। उन्होंने कहा कि तीन तलाक मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों का उल्लंघन करता है।
विज्ञापन


एक कार्यक्रम के दौरान शबाना आजमी ने कहा कि ये सरकार की जिम्मेदारी है कि वह मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों की रक्षा करे और इसे खत्म करने के बारे में सरकार की दो राय नहीं होनी चाहिए। 'ये प्रथा महिलाओं को समानता के अधिकार से वंचित करती है। पवित्र कुरान में भी तीन तलाक की इजाजत नहीं है।' उन्होंने आगे कहा कि जो महिलाएं सशक्त हैं उन्हें बाकी महिलाओं की मदद करनी चाहिए।


इस वक्त देश भर में तीन तलार पर बहस चल रही है। मुख्य न्यायाधीश की अध्यक्षता वाली पांच जजों की संविधान पीठ के सामने सुप्रीम कोर्ट में इसकी सुनवाई हुई है जिसपर फैसला सुरक्षित रखा गया है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00