'पद्मावत विवाद': करणी सेना ने CBFC ऑफिस का किया घेराव, कहा- 'नाम बदलना काफी नहीं, बैन लगे'

भावना शर्मा, अमर उजाला Updated Fri, 12 Jan 2018 02:42 PM IST
दीपिका पादुकोण
दीपिका पादुकोण
ख़बर सुनें
हाल ही में फिल्म 'पद्मावती' का नाम बदलकर 'पद्मावत' कर दिया गया। मेकर्स ने करणी सेना के विरोध के चलते नाम बदलने का फैसला लिया। लेकिन करणी सेना इससे संतुष्ट नहीं है। शुक्रवार सुबह सेना के कार्यकर्ताओं ने मुंबई में सेंसर बोर्ड ऑफिस का घेराव किया।
कार्यकर्ताओं का कहना है कि सिर्फ नाम बदलना काफी नहीं है। फिल्म पर पूरी तरह से बैन लगे। CBFC ऑफिस के बाहर सुरक्षा के कड़े इंतजाम हैं। फिलहाल किसी को कोई नुकसान पहुंचने की सूचना नहीं है। पुलिस ने कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया है। बता दें कि यह फिल्म राजस्‍थान और मध्यप्रदेश में बैन कर दी गई है। 

पढ़ें- Bigg Boss की चालबाजी को समझ गया ये कंटेस्टेंट, फिनाले से 3 दिन पहले Winner किया घोषित

ये सारा विवाद रानी पद्मावती और अलाउद्दीन खिलजी के प्रेम प्रसंग को लेकर है। करणी सेना का आरोप है कि फिल्म में मेकर्स ने पद्मावती और अलाउद्दीन खिलजी की लव स्टोरी दिखाई है। जो कि गलत है। भंसाली इतिहास को तोड़-मरोड़कर पेश कर रहे हैं। 
 


वहीं सेंसर बोर्ड ने पांच बदलाव के साथ फिल्म को रिलीज करने के लिए पास कर दिया है। इसी वजह से करणी सेना के कार्यकर्ता नाराज हैं। वे फिल्म पर पूरी तरह से बैन चाहते हैं। जबकि भंसाली ने फिल्म 25 जनवरी को रिलीज करने का फैसला कर लिया है।

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all entertainment news in Hindi related to bollywood news, Tv news, hollywood news, movie reviews etc. Stay updated with us for all breaking hindi news from entertainment and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Bollywood

धर्मेंद्र के 2 नहीं 3 बेटे हैं, बॉबी सनी के अलावा जानिए तीसरा कौन?

इन दिनों अगर किसी फिल्म की चर्चा है तो वो फिल्म है सलमान खान की रेस 3।

23 मई 2018

Related Videos

इन पांच वजहों के चलते हर देशभक्त को देखनी चाहिए 'परमाणु'!

इस शुक्रवार रिलीज़ होने वाली फ़िल्में है परमाणु और बॉयोस्कोपवाला। दोनों के विषय अलग हैं, ट्रीटमेंट अलग है और दोनों का दर्शक वर्ग भी अलग है।

23 मई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen