विज्ञापन
Hindi News ›   Entertainment ›   Bollywood ›   Bombay High Court Refuses to Grant Any Relief to gangster Chhota Rajan Directed Scoop makers to file Affidavit

Scoop: छोटा राजन को राहत देने से बॉम्बे हाई कोर्ट का इनकार, अदालत ने 'स्कूप' के मेकर्स को दिए ये निर्देश

एंटरटेनमेंट डेस्क, अमर उजाला Published by: मोहम्मद फायक अंसारी Updated Fri, 02 Jun 2023 03:52 PM IST
सार

सुनवाई के दौरान जब अदालत को सूचित किया गया कि सीरीज रिलीज की जा चुकी है और सभी छह एपिसोड उपलब्ध हैं, तो राजन के वकील मिहिर देसाई ने कहा कि निर्माताओं को इससे उनका नाम और इमेज हटाने के लिए निर्देशित किया जा सकता है।

Bombay High Court Refuses to Grant Any Relief to gangster Chhota Rajan Directed Scoop makers to file Affidavit
छोटा राजन - फोटो : सोशल मीडिया

विस्तार
Follow Us

बॉम्बे हाई कोर्ट ने शुक्रवार को जेल में बंद गैंगस्टर राजेंद्र निकल्जे उर्फ छोटा राजन को तत्काल राहत देने से इनकार कर दिया। दरअसल, हाल ही में उसने वेब सीरीज 'स्कूप' के खिलाफ याचिका दायर की थी। न्यायमूर्ति एस जी दिगे की अवकाश पीठ ने हंसल मेहता और नेटफ्लिक्स एंटरटेनमेंट सर्विसेज इंडिया सहित सीरीज के मेकर्स और प्रोड्यूसर्स को राजन की याचिका के जवाब में सात जून तक अपना हलफनामा दायर करने का निर्देश दिया है। बता दें कि जेल में बंद गैंगस्टर ने गुरुवार को वेब सीरीज के खिलाफ अदालत का रुख किया था, जिसमें कहा गया था कि उसके व्यक्तित्व की विशेषताओं का उपयोग या दुरुपयोग उसकी पूर्व सहमति के बिना उसके व्यक्तित्व अधिकारों के साथ-साथ मानहानि का उल्लंघन है।


Kangana Ranaut: कंगना ने खुद को बताया 'बेवकूफ', एयरपोर्ट लुक ट्रेंड को टाटा कहकर फैशन इंडस्ट्री पर साधा निशाना

अदालत ने कही यह बात
सुनवाई के दौरान जब अदालत को सूचित किया गया कि सीरीज रिलीज की जा चुकी है और सभी छह एपिसोड उपलब्ध हैं, तो राजन के वकील मिहिर देसाई ने कहा कि निर्माताओं को इससे उनका नाम और इमेज हटाने के लिए निर्देशित किया जा सकता है। हालांकि, न्यायमूर्ति डिगे ने राजन को राहत देने वाला कोई भी आदेश पारित करने से इनकार कर दिया। अदालत ने कहा, "सीरीज  पहले ही रिलीज हो चुकी है। सभी एपिसोड आ चुके हैं। हम अब इस मामले को अगली तारीख पर देखेंगे। इसके साथ ही कोर्ट ने  सभी प्रतिवादियों को सात जून तक जवाबी हलफनामे दायर करने का आदेश भी दिया। पीठ ने राजन को उनके द्वारा मांगी गई राहत को बदलने के लिए अपने मुकदमे में संशोधन करने की अनुमति दी। साथ अदालत ने उससे यह भी जस्टिफाई करने के लिए कहा कि यह  बौद्धिक संपदा अधिकारों का मामला कैसे था।
TMKOC: मुनमुन दत्ता पर दिए अपने बयान से पलटीं 'बावरी', मोनिका भदौरिया ने 'बबिता जी' की तारीफों के बांधे पुल

नेटफ्लिक्स की ओर दी गई यह दलील
नेटफ्लिक्स की ओर से पेश हुए वरिष्ठ वकील रवि कदम ने अदालत को बताया कि राजन को पत्रकार ज्योतिर्मय डे की हत्या के मामले में दोषी ठहराया गया है और फैसला सार्वजनिक डोमेन में उपलब्ध है। कदम ने कहा, "ऐसी परिस्थितियों में कोई भी उसका नाम या छवि का इस्तेमाल कर सकता है।" पीठ ने तब पूछा कि क्या होगा अगर वह (राजन) उच्च न्यायालय में उनके द्वारा दायर अपील में बरी हो गए। इस पर, कदम ने सुप्रीम कोर्ट के एक फैसले की ओर इशारा किया जिसमें कहा गया था कि जब तक अपील लंबित है तब तक निचली अदालत का फैसला किसी व्यक्ति को दोषी ठहराता है।
Jee Karda: तमन्ना भाटिया की नई वेब सीरीज 'जी करदा' का हुआ एलान, इस दिन होगा वर्ल्ड प्रीमियर

2011 का है मामला
गौरतलब है कि छोटा राजन अभी तिहाड़ जेल में बंद है। उसने 'स्कूप' सीरीज की रिलीज पर रोक लगाने और ट्रेलर को हटाने की मांग की है। गैंगस्टर ने हंसल मेहता और नेटफ्लिक्स एंटरटेनमेंट सर्विसेज इंडिया सहित सीरीज के अन्य मेकर्स से अपने व्यक्तित्व अधिकारों के उल्लंघन को रोकने की भी मांग की। इसके अलावा उसने हर्जाने के रूप में एक रुपये की भी मांग की है। जून 2011 में पत्रकार ज्योतिर्मय डे की हत्या कर दी गई थी। राजन और पत्रकार जिग्ना वोरा सहित 11 अन्य इस मामले में आरोपी थे। मई 2018 में, राजन और आठ अन्य को मामले में दोषी ठहराया गया था। वोरा को बरी कर दिया गया।
Snehal Rai: 'एक बच्चे को खोना सौ मौतों के बराबर है', चार महीने के बेटे के निधन को यादकर छलका स्नेहल का दर्द
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें मनोरंजन समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। मनोरंजन जगत की अन्य खबरें जैसे बॉलीवुड न्यूज़, लाइव टीवी न्यूज़, लेटेस्ट हॉलीवुड न्यूज़ और मूवी रिव्यु आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Independence day

अतिरिक्त ₹50 छूट सालाना सब्सक्रिप्शन पर

Next Article

फॉन्ट साइज चुनने की सुविधा केवल
एप पर उपलब्ध है

app Star

ऐड-लाइट अनुभव के लिए अमर उजाला
एप डाउनलोड करें

बेहतर अनुभव के लिए
4.3
ब्राउज़र में ही
X
Jobs

सभी नौकरियों के बारे में जानने के लिए अभी डाउनलोड करें अमर उजाला ऐप

Download App Now

अपना शहर चुनें और लगातार ताजा
खबरों से जुडे रहें

एप में पढ़ें

क्षमा करें यह सर्विस उपलब्ध नहीं है कृपया किसी और माध्यम से लॉगिन करने की कोशिश करें

Followed

Reactions (0)

अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं

अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करें