लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Education ›   UGC Chairman said that Technical glitches in CUET not a setback, won't hurry up plan to merge with JEE, NEET

CUET UG: सीयूईटी में तकनीकी खामियां झटका नहीं, अभी जेईई और नीट के विलय में जल्दबाजी नहीं- यूजीसी चेयरमैन

एजुकेशन डेस्क, अमर उजाला Published by: सुभाष कुमार Updated Tue, 16 Aug 2022 03:18 PM IST
सार

सीयूईटी यूजी के चौथे चरण की परीक्षा की शुरुआत बुधवार से होगी। पहले चरण की शुरुआत जुलाई महीने में हुई थी। इस दौरान कई केंद्रों पर परीक्षा में तकनीकी खामियां सामने आई थी।

UGC Chairman
UGC Chairman - फोटो : Social Media
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

यूजीसी के अध्यक्ष जगदीश कुमार के अनुसार, कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) के शुरुआती चरणों में आई तकनीकी गड़बड़ियों से महत्वपूर्ण परीक्षा के लिए विस्तार योजना प्रभावित नहीं होगी, जिसमें जेईई और एनईईटी के साथ विलय का प्रस्ताव शामिल है। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि अभी इस योजना में जल्दबाजी नहीं की जाएगी।

उन्होंने एक साक्षात्कार कहा कि सीयूईटी-यूजी के शुरुआती चरणों में तकनीकी खामियां झटके नहीं बल्कि एक सबक हैं। निकट भविष्य में उन्हें दूर कर लिया जाएगा और यह किसी भी तरह से  परीक्षा के विस्तार या विस्तार की योजना को नहीं रोकेगा। इससे पहले यूजीसी के अध्यक्ष ने जानकारी दी थी कि भविष्य में इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई और मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट का भी सीयूईटी में विलय किया जाएगा।

एक सामान्य प्रवेश परीक्षा आयोजित करने की योजना 
यूजीसी के अध्यक्ष जगदीश कुमार ने बताया कि नई शिक्षा नीति के अंतर्गत कई प्रवेशों में उपस्थित होने वाले छात्रों पर बोझ को कम करने के लिए एक सामान्य प्रवेश परीक्षा आयोजित करने की योजना है। हालांकि, हम इसे शुरू करने में जल्दबाजी नहीं करेंगे क्योंकि हमें अच्छी तरह से योजना बनाने की आवश्यकता है। यह एक बड़ी कवायद है। 

कब होगा परीक्षाओं का विलय?
इस सवाल का जवाब देते हुए यूजीसी के अध्यक्ष ने बताया कि इसके तौर-तरीकों पर अभी काम किया जाना बाकी है। इस महीने के अंत तक एक विशेषज्ञ समिति का गठन किया जाएगा। यह देश के साथ-साथ विदेशों में आयोजित होने वाली सभी महत्वपूर्ण प्रवेश परीक्षाओं का अध्ययन करेगा। अगर हमें अगले साल परीक्षा शुरू करनी है, तो तैयारी अब बड़े पैमाने पर शुरू करनी होगी। उन्होंने कहा कि इसके लिए सभी के बीच एक आम सहमति भी होनी चाहिए। हमें जिन दो मुख्य मुद्दों को संबोधित करने की आवश्यकता है, वे पाठ्यक्रम के साथ-साथ कठिनाई स्तर भी हैं क्योंकि प्रत्येक विषय की अपनी विशिष्टताएं होती हैं।

बुधवार से शुरू होगा चौथा चरण
सीयूईटी यूजी के चौथे चरण की परीक्षा की शुरुआत बुधवार से होगी। पहले चरण की शुरुआत जुलाई महीने में हुई थी। इस दौरान कई केंद्रों पर परीक्षा में तकनीकी खामियां सामने आई थी। वहीं, कई केंद्रों पर परीक्षा टाल दी गई थी। यूजीसी के अध्यक्ष ने जानकारी दी थी कि कई केंद्रों पर तोड़फोड़' की खबरों के बाद कुछ केंद्रों पर परीक्षा रद्द की गई थी। केंद्रीय विश्वविद्यालयों में स्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए सीयूईटी एक सामान्य प्रवेश परीक्षा है। 14.9 लाख पंजीकरण के साथ यह देश की दूसरी सबसे बड़ी प्रवेश परीक्षा है। वहीं, नीट-यूजी भारत में सबसे बड़ी प्रवेश परीक्षा है, जिसमें 18 लाख से अधिक पंजीकरण हुए हैं। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें शिक्षा समाचार आदि से संबंधित ब्रेकिंग अपडेट।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00