NEET-JEE EXAM 2020: जान लीजिए ये दस अहम दिशानिर्देश, इनके बिना परीक्षा केंद्रों में 'नो एंट्री'

एजुकेशन डेस्क,अमर उजाला Published by: ललित फुलारा Updated Wed, 26 Aug 2020 11:17 AM IST
सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर - फोटो : पीटीआई
विज्ञापन
ख़बर सुनें
JEE- NEET Exams 2020: इंजीनियरिंग और मेडिकल पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए होने वाली जेईई और नीट परीक्षा में अब बेहद कम दिन बचे हैं। जेईई (JEE 2020) की परीक्षा एक सितंबर से लेकर छह सितंबर के बीच आयोजित होगी। जबकि, नीट (NEET 2020) परीक्षा 13 सितंबर को होगी। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने दोनों प्रवेश परीक्षाओं के लिए दिशानिर्देश जारी कर दिए हैं। अगर अभ्यर्थी इन दिशानिर्देशों का पालन नहीं करते हैं, तो उनको परीक्षा केंद्रों के भीतर प्रवेश नहीं मिलेगा।  
विज्ञापन


वहीं, शिक्षा मंत्रालय ने यह भी साफ कर दिया है कि दोनों परीक्षाएं तय शेड्यूल से होंगी। मंगलवार  रात केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने इन दोनों ही प्रवेश परीक्षाओं के लिए राज्यवार परीक्षा केंद्रों की सूची भी जारी कर दी है। जिसमें बताया गया है कि इन परीक्षाओं के लिए परीक्षा केंद्रों को बढ़ाया गया है। जेईई परीक्षा के केंद्र 570 से बढ़ाकर 660 किए गए हैं।जबकि, नीट के केंद्र 2,846 से बढ़ाकर 3843 कर दिए गए हैं। जेईई मेन परीक्षा के लिए नंबर ऑफ शिफ्ट्स बढ़ाई गईं हैं। पहले इस परीक्षा के लिए आठ शिफ्ट तय थीं, जिन्हें बढ़ाकर बारह किया गया है। वहीं, प्रति पाली अभ्यर्थियों की संख्या घटाकर 1.32 लाख से 85,000 कर दी गई है।


जेईई मेन के लिए जारी हो चुका है एडमिट कार्ड
जेईई मेन परीक्षा का प्रवेश पत्र जारी हो चुका है। जबकि, नीट के लिए प्रवेश पत्र जारी होना बाकी है। एनटीए ने जेईई के प्रवेश पत्र जारी करते हुए कहा था कि करीब 99 फीसदी अभ्यर्थियों को उनका चुना परीक्षा केंद्र दिया गया है। इस साल  जेईई मेन के लिए 8.58 लाख और नीट के लिए 15.97 लाख अभ्यर्थी पंजीकृत हैं। ये दोनों ही परीक्षाएं सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करते हुए आयोजित होंगी। अभ्यर्थियों के लिए हॉल में प्रवेश द्वार और परीक्षा के बाद निकासी द्वार अलग-अलग रखा जाएगा।

NEET-JEE परीक्षा को लेकर  दस अहम दिशानिर्देश
  • सभी अभ्यर्थियों को मास्क और ग्लब्स पहनकर परीक्षा देनी होगी।
  • हर अभ्यर्थी को सेल्फ डिक्लरेशन देना होगा कि वो कोरोना पॉजिटिव नहीं है।
  • छात्रों को परीक्षा केंद्र में प्रवेश से पहले साबुन से हाथ भी धोने होंगे।
  • घर से पारदर्शी बोतल में पानी लाना होगा। खुद का सैनिटाइजर भी लाना होगा।
  • नीट परीक्षा के दौरान हर परीक्षा हॉल में सिर्फ 12 अभ्यर्थी ही बैठेंगे। 
  •  जेईई परीक्षा में एक-एक सीट छोड़कर अभ्यर्थियों को बिठाया जाएगा। 
  •  परीक्षार्थियों को एक-दूसरे से छह फीट की दूरी बनानी होगी।
  • अभ्यर्थियों, शिक्षकों और स्टाफ का थर्मल स्क्रीनिंग से तापमान नापा जाएगा।
  • अभ्यर्थियों को परीक्षा केंद्रों में नये मास्क और ग्लब्स दिए जाएंगे।
  • हर परीक्षा केंद्र को परीक्षा से पहले ठीक से सैनिटाइज किया जाएगा।

इन परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों को इन बातों का रखना होगा ध्यान
  • नीट-जेईई परीक्षा में अब ज्यादा वक्त नहीं बचा है, इसलिए नए टॉपिक की तैयारी करने से बचे।
  • अभ्यर्थी इस प्रवेश परीक्षा में बेहतर परिणाम पाने के लिए हर दिन कम से कम दस घंटे जरूर पढ़ें
  • परीक्षा की तैयारी शेड्यूल के हिसाब से ही करें।
  • अभ्यर्थी अपने नोट्स हर वक्त अपने साथ रखें और उनसे ही पढ़ाई करें।
  • परीक्षा में कम दिन बचे हैं, ऐसे में ज्यादा से ज्यादा मॉक टेस्ट करें।
  • ध्यान रहे कि किसी भी तरह के अवसाद को अपने आस-पास न फटकने दें।
  • परीक्षा की तैयारी के साथ ही कम से कम छह-सात घंटे की नींद जरूर लें।
  • अभ्यर्थी पढ़ाई के साथ ही योग व मेडिटेशन भी करें ताकि उनका ध्यान केंद्रित रह सकें।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें शिक्षा समाचार आदि से संबंधित ब्रेकिंग अपडेट।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00