लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Education ›   Independence Day 2022 75th or 76th know which no independence day it is clear the confusion here

Independence Day 2022: 75वां या 76वां स्वतंत्रता दिवस? इस खबर को पढ़कर दूर करें कन्फ्यूजन

एजुकेशन डेस्क, अमर उजाला Published by: सुभाष कुमार Updated Mon, 15 Aug 2022 02:09 PM IST
सार

Independence Day 2022: इस साल बताया जा रहा है कि देश आजादी की 75वीं वर्षगांठ मना रहा है। आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर पूरे देश में अमृत महोत्सव भी मनाया जा रहा है।

Independence Day 2022
Independence Day 2022 - फोटो : Social Media
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

Independence Day 2022: 15 अगस्त, 2022 यानि कि अंग्रजों के 200 साल की गुलामी से आजादी की तारीख। पूरे देश में आज हर ओर तिरंगा पूरे शान से लहरा रहा है। आज पूरे देश में आजादी के अमृत महोत्सव की धूम है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी लाल किले की प्राचीर से 83 मिनट का संबोधन दिया। इस सबोधन में उन्होंने अनुसंधान, नारी सम्मान, परिवारवाद, भ्रष्टाचार समेत विभिन्न मुद्दों पर बात की। हालांकि, कई लोगों को इस बात में कन्फ्यूजन है कि आज देश का 75वां स्वतंत्रता दिवस है या 76वां। आइए हम इस खबर में आपके इस कन्फ्यूजन को दूर करते हैं-: 

इस साल कौन सा स्वतंत्रता दिवस?
कई लोगों क इस बात की कंफ्यूजन है कि यह कौन सा स्वतंत्रता दिवस है। हम आपको यह बता दें कि इस साल देश 76वां स्वतंत्रता दिवस ही मना रहा है।  

क्यों हो रहा है ये कन्फ्यूजन?
आम तौर पर यह कन्फ्यूजन देखने को मिलता नहीं है। लेकिन इस साल बताया जा रहा है कि देश आजादी की 75वीं वर्षगांठ मना रहा है। आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर पूरे देश में अमृत महोत्सव भी मनाया जा रहा है। यही कारण है कि लोग 75 या 76 में कन्फ्यूज हो रहे हैं। 

इस तरह से दूर करें कन्फ्यूजन
हम इस साल कौन से नंबर का स्वतंत्रता दिवस मना रहे हैं, इसे जानने का सबसे आसान से तरीका ये है कि पहले स्वतंत्रता दिवस से कैलकुलेट करें। पहला स्वतंत्रता दिवस 1947 में हुआ। दसवां 1956 में। इसी तरह देश ने 1956 में 10वां, 1966 में 20वां, 1996 में 50वां, 2016 में 70वां और 2021 में 75वां स्वतंत्रता दिवस मनाया। इस कैलकुलेशन के अनुसार देश आज अपना 76वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। 

क्या बोले पीएम मोदी?
पीएम मोदी ने लाल किले के प्राचीर से आने वाले 25 वर्षों के लिए पांच संकल्प दिलाया। उन्होंने कहा कि अब देश बड़े संकल्प लेकर चलेगा, और वो पहला बड़ा संकल्प है विकसित भारत और उससे कुछ कम नहीं होना चाहिए। दूसरा प्रण है किसी भी कोने में हमारे मन के भीतर अगर गुलामी का एक भी अंश हो उसे किसी भी हालत में बचने नहीं देना।  तीसरी प्रण शक्ति- हमें अपनी विरासत पर गर्व होना चाहिए। चौथा प्रण है- एकता और एकजुटता... पांचवां प्रण है- नागरिकों का कर्तव्य, इसमें प्रधानमंत्री भी बाहर नहीं होता है, राष्ट्रपति भी बाहर नहीं है। 

 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें शिक्षा समाचार आदि से संबंधित ब्रेकिंग अपडेट।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00