लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Education ›   Dibrugarh University Anti-Ragging Committee rusticated 4 students and debarred to strudy for 3 years in India

DU Ragging Case: रैगिंग मामले में विश्वविद्यालय ने की आरोपियों पर सख्त कार्रवाई, अब आगे नहीं कर पाएंगे यह काम

एजुकेशन डेस्क, अमर उजाला Published by: देवेश शर्मा Updated Wed, 30 Nov 2022 08:39 PM IST
सार

Dibrugarh University Ragging Case: डिब्रूगढ़ यूनिवर्सिटी रैगिंग केस मामले में विश्वविद्यालय की एंटी-रैगिंग कमेटी की बैठक के दौरान कई अहम एवं सख्त निर्णय लिए गए हैं।

Dibrugarh University Ragging Case
Dibrugarh University Ragging Case - फोटो : ANI
विज्ञापन

विस्तार

Dibrugarh University Ragging Case: डिब्रूगढ़ यूनिवर्सिटी रैगिंग केस मामले में विश्वविद्यालय की एंटी-रैगिंग कमेटी की बैठक के दौरान कई अहम एवं सख्त निर्णय लिए गए हैं। बैठक के दौरान समिति ने सर्वसम्मति से आरोपी चार छात्रों को पूरी तरह से निष्कासित कर दिया है। इतना ही नहीं, रैगिंग विरोधी समिति ने उन्हें सबक सिखाते हुए देश भर के किसी भी विश्वविद्यालय और संस्थान में अगले तीन साल तक प्रवेश लेने से वर्जित कर दिया है।  


डिब्रूगढ़ यूनिवर्सिटी की एंटी-रैगिंग कमेटी की बैठक के बाद विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार डॉ परमानंद सोनोवाल ने कहा कि हमने चार छात्रों को पूरी तरह से निष्कासित कर दिया और उन्हें तीन साल के लिए देश के किसी अन्य संस्थान में प्रवेश से वंचित कर दिया। ताकि भविष्य में कोई भी छात्र इस तरह रैगिंग लेने का गंभीर अपराध में शामिल होने से पहले अपने करिअर को लेकर सोच -विचार कर करें। 



 

विज्ञापन
विज्ञापन

सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें शिक्षा समाचार आदि से संबंधित ब्रेकिंग अपडेट।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00