लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Education ›   CBSE 10th Board Exam Result 2021: Here is the assessment process for those you missed pre board or internal assessment exam

CBSE Class 10 Result 2021: अगर प्री-बोर्ड या अन्य परीक्षा नहीं दी है तो कैसे होगा मूल्यांकन? जानिए यहां

एजुकेशन डेस्क, अमर उजाला Published by: वर्तिका तोलानी Updated Thu, 13 May 2021 08:45 PM IST
सार

सीबीएसई द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार प्रत्येक विद्यालय को रिजल्ट कमेटी तैयार करनी है। अगर किसी विद्यार्थी ने इंटरनल असेसमेंट या प्री-बोर्ड नहीं दिया है तो मूल्यांकन के लिए मानदंड तैयार करने का काम कमेटी द्वारा किया जाएगा। 

सीबीएसई दसवीं बोर्ड परीक्षाएं
सीबीएसई दसवीं बोर्ड परीक्षाएं - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

देश में कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए हाल ही में केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने कक्षा दसवीं की बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने का निर्णय लिया था। जिसके बाद सीबीएसई ने सभी विद्यालयों को इंटरनल असेसमेंट और प्री-बोर्ड के आधार पर अंतिम परिणाम तैयार करने के दिशा-निर्देश दिए थे। लेकिन जिन विद्यार्थियों ने किन्हीं कारणों की वजह से इंटरनल असेसमेंट या प्री-बोर्ड की परीक्षाएं नहीं दी हैं, उनका परिणाम कैसे तैयार होगा? इस पर सीबीएसई ने विद्यालयों के लिए निर्देश जारी किए हैं। पढ़िए…


रिजल्ट कमेटी करेगी मूल्यांकन का मानदंड तैयार
सीबीएसई द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार प्रत्येक विद्यालय को रिजल्ट कमेटी तैयार करनी है। इस कमेटी में प्रधानाध्यापक समेत 7 शिक्षक होंगे। अगर विद्यालय द्वारा एक से ज्यादा परीक्षाएं ली गई हैं, तो इन परिस्थितियों में रिजलट कमेटी प्रत्येक परीक्षा का वेटेज निर्धारित करेगी। इसके अलावा अगर किसी विद्यार्थी ने इंटरनल असेसमेंट या प्री-बोर्ड नहीं दिया है तो मूल्यांकन के लिए मानदंड तैयार करने का काम कमेटी द्वारा किया जाएगा।  

प्री-बोर्ड की परीक्षा न होने पर ऐसे तैयार किया जाएगा परिणाम

कोरोना महामारी की वजह से दिल्ली व अन्य के विद्यालयों में कक्षा दसवीं के विद्यार्थियों के लिए प्री-बोर्ड का आयोजन नहीं हो पाया था। ऐसी परिस्थितियों में विद्यालयों को सीबीएसई के गत वर्ष के फॉर्मूले के आधार पर अंक देने होंगे। यानी अगर किसी विद्यार्थी ने पूरे सत्र में चार परीक्षाएं दी हैं, तो उनमें से बेस्ट तीन के अंक, वहीं अगर तीन परीक्षाएं दी हैं, तो बेस्ट दो के अंक का एवरेज लिया जाएगा।

अगर पूरे सत्र में नहीं दी है एक भी परीक्षा तो ऐसे होगी मार्किंग

अगर किसी विद्यार्थी ने किन्ही कारणों की वजह से पूरे सत्र में किसी विषय की एक भी परीक्षा नहीं दी है, तो रिजल्ट कमेटी उन विद्यार्थियों का फोन कॉल पर असेसमेंट करेगी। 

विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें शिक्षा समाचार आदि से संबंधित ब्रेकिंग अपडेट।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00