विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विनायक चतुर्थी पर सिद्धिविनायक मंदिर(मुंबई ) में भगवान गणेश की पूजा से खत्म होगी पैसों की किल्लत 30-नवंबर-2019
Astrology Services

विनायक चतुर्थी पर सिद्धिविनायक मंदिर(मुंबई ) में भगवान गणेश की पूजा से खत्म होगी पैसों की किल्लत 30-नवंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

दिल्ली

बुधवार, 20 नवंबर 2019

आज से फिर बिगड़ सकती है आबोहवा, दिल्ली-एनसीआर को खतरे का संदेश दे रही हैं हवाएं

दिल्ली-एनसीआर की हवाएं एक बार फिर खतरे का संकेत दे रही हैं। चाल धीमी होने से मंगलवार से प्रदूषण स्तर में दोबारा बढ़ोतरी हो सकती है। पिछले हफ्ते की तरह दिल्ली-एनसीआर पर स्मॉग की चादर छाने का अंदेशा है। बुधवार को हवा की गुणवत्ता बेहद खराब से गंभीर स्तर के बीच बनी रहेगी। उधर, सोमवार को हवा की गुणवत्ता खराब स्तर पर बनी रही।

मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि वायु प्रदूषण के नजरिए से अगले दो दिन दिल्ली-एनसीआर के लिए बेहद नाजुक हैं। मंगलवार से हवाओं की चाल में तेजी से गिरावट आएगी। बुधवार कोइसके शून्य पर चले जाने का अंदाजा है। इसके साथ मिक्सिंग हाइट भी सामान्य स्तर 6 किमी से गिरकर एक किमी पर पहुंच जाएगी। इससे दिल्ली-एनसीआर दोबारा स्मॉग की चपेट में आ सकता है।

सफर का कहना है कि इसी दौरान हवा की दिशा में भी बदलाव आया है। सोमवार से ही पंजाब व हरियाणा की तरफ से हवाएं चल रही हैं। इससे पराली के धुएं का हिस्सा भी दिल्ली के प्रदूषण में बढ़ा है। रविवार के दो फीसदी की तुलना में सोमवार को यह 9 फीसदी पहुंच गया। वहीं, मंगलवार को इसके 13 फीसदी तक पहुंचने का अनुमान है। इससे एक बार फिर हवा की गुणवत्ता बेहद खराब स्तर में जाएगी। इसके अलग दो दिन गंभीर स्तर तक चले जाने का अंदाजा है।

उधर, सोमवार को हवा की चाल करीब 15 किमी प्रति घंटा रिकार्ड की गई। वहीं, आसमान ने हल्के बादल छाए रहने के बाद भी मिक्सिंग हाइट दस किमी से ऊपर रही। इससे दिल्ली का प्रदूषण खराब स्तर में बना रहा। वायु गुणवत्ता सूचकांक 214 दर्ज किया गया।
... और पढ़ें

मां के सामने बेटे की चाकू से गोदकर हत्या

नई दिल्ली। दक्षिण दिल्ली के अंबेडकर नगर में रविवार देर रात मामूली झगड़े के बाद तीन-चार लड़कों ने मनोज उर्फ मावी (21) को उसकी मां के सामने ही चाकू से गोद डाला। उनके फरार होने के बाद मनोज को नजदीकी अस्पताल ले जाया गया तो डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को पकड़ा है। इनमें एक 21 वर्षीय मदनगीर निवासी सूरज और दूसरा नाबालिग है। इनका कहना है कि मनोज ने एक दिन शराब पीकर इनकी पिटाई कर दी थी। इसका बदला लेने के लिए इन्होंने वारदात की। दक्षिण जिला पुलिस उपायुक्त अतुल कुमार ठाकुर ने बताया कि मनोज 313, डी-2, मदनगीर में पिता भगवान दास, मां सरोज देवी के साथ रहता था। उसकी एक बहन शादीशुदा है। परिवार का इकलौता बेटा मनोज दक्षिण दिल्ली में ही एक डेंटिस्ट के पास नौकरी करता था। रविवार रात वह अपने घर के पास खड़ा था। इस बीच तीन-चार लड़कों से उसकी किसी बात पर बहस हो गई। शोर सुनकर मनोज की मां सरोज भी पहुंच गई। आरोपियों ने चाकू से मनोज पर हमला कर दिया। कई जगह चाकू मारने के बाद आरोपी फरार हो गए। परिजन मनोज को लेकर नजदीकी अस्पताल की ओर भागे। पुलिस को रात 11:12 बजे हत्या की सूचना मिली। उपायुक्त का कहना है कि आरोपियों से वारदात में इस्तेमाल चाकू बरामद कर लिया गया है। अन्य आरोपियों की तलाश है। ... और पढ़ें

1950 बिस्तरों वाले तीन अस्पतालों को मिली मंजूरी, प्रत्येक में होंगे 650 बेड

राजधानी के मादीपुर, हस्तसाल और ज्वालापुरी में तीन सरकारी अस्पतालों का निर्माण कार्य आगामी दो माह में शुरु होगा और इनमें बिस्तरों की कुल संख्या 1950 होगी। सोमवार को उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की अध्यक्षता में वित्तीय खर्च समिति की बैठक में इनके निर्माण को मंजूरी प्रदान की गई। प्रत्येक अस्पताल में 650 बिस्तर होंगे।

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन का कहना है कि हमारा मकसद आम लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराना है और इस दिशा में लगातार हमारा प्रयास जारी है। बताया जा रहा है कि इन अस्पतालों से दिल्ली के लाखों लोगों को स्वास्थ्य सेवाएं आसानी से उपलब्ध हो सकेंगी। यह तीनों ही इलाके घनी आबादी वाले क्षेत्र माने जाते हैं। करीब 40 लाख लोगों को इन अस्पतालों से फायदा होगा। यहां के लोगों को घर से महज पांच किलोमीटर के दायरे में अस्पताल की सुविधा मिल सकेगी।

वित्तीय खर्च समिति की बैठक में गुरु गोबिंद सिंह अस्पताल के पिछले पांच वर्ष के आंकड़ों पर भी चर्चा हुई। यह अस्पताल अभी मादीपुर, हस्तसाल और ज्वालापुरी से लगभग समान दूरी पर स्थित है। वर्ष 2011 में गुरु गोबिंद सिंह अस्पताल में ओपीडी में मरीजों की संख्या करीब 5.5 लाख थी जो वर्ष 2016 में ही 6.82 लाख पार कर चुकी है। यहां सालाना करीब 3490 मरीज वर्ष 2011 में भर्ती हुए थे जिनकी संख्या वर्ष 2016 में 5360 हो गई थी।

इससे जाहिर है कि मरीजों की तादाद कितनी तेजी से बढ़ती जा रही है। स्वास्थ्य मंत्री का कहना है कि बिस्तरों की क्षमता बढ़ाने के लिए सरकार पूरे प्रयास कर रही है ताकि मरीजों को भर्ती करने के लिए कोई भी अस्पताल इंकार नहीं कर सके।
... और पढ़ें

अनधिकृत कॉलोनियों के निवासियों को मिलेगा भूमि का मालिकाना हक : उपराज्यपाल बैजल

अनधिकृत कॉलोनियों के निवासियों को जल्द ही भूमि का मालिकाना हक मिलेगा। इस दिशा में कदम बढ़ाते हुए उपराज्यपाल अनिल बैजल ने दिल्ली भूमि सुधार अधिनियम-1954 की धारा-81 के तहत अनधिकृत कॉलोनियों के निजी भूमि से संबंधित दर्ज सभी मामलों को वापस लेने के निर्देश जारी कर दिए हैं। भारत सरकार ने इस संबंध में रेग्युलेशन-2019 जारी किया है, ताकि इन कॉलोनियों के निवासियों को उनकी भूमि का पूर्ण स्वामित्व प्राप्त हो सके।

उपराज्यपाल ने दिल्ली की अनधिकृत कॉलोनियों में तेजी से विकास कार्य करने के लिए दिल्ली म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन अधिनियम की धारा-507 के तहत 79 गांवों के शहरीकरण को भी मंजूरी दी है।

इसके अलावा दिल्ली भूमि सुधार अधिनियम की धारा-507 के तहत शहरीकृत घोषित किए गए ग्रामीण कॉलोनियों में दिल्ली विकास प्राधिकरण विकास कार्य योजना तैयार करेगा। इसके साथ ही स्थानीय नगर निकाय इन कॉलोनियों में नागरिक व मूलभूत सामुदायिक सुविधाएं प्रदान करने के लिए कदम उठाएंगी। 
दिल्ली भूमि सुधार अधिनियम 1954 की धारा 81 के तहत ऐसे ग्रामीण क्षेत्रों के भू-स्वामियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई का प्रावधान था जिन्होंने निजी कृषि भूमि का उपयोग कृषि कार्य व बागवानी के अतिरिक्त अन्य उद्देश्य के लिए किया हो। 

उपराज्यपाल के धारा 81 के तहत दर्ज सभी मामले वापस लेने के आदेश से इन कॉलोनियों के निवासियों को बहुत बड़ी राहत मिलेगी और उन्हें किसी कानूनी अड़चन का सामना नहीं करना पड़ेगा। भूमि पंजीकरण व भूमि हस्तांतरण की प्रक्रिया में पारदर्शिता के साथ ही धोखाधड़ी व जालसाजी की गुंजाइश भी खत्म हो जाएगी। 

उपराज्यपाल ने कहा है कि इस तरह के महत्वपूर्ण कदम से प्रधानमंत्री उदय योजना के तहत अनधिकृत कालोनियों के निवासियों को संपत्ति का भू-स्वामित्व प्राप्त होगा और इन कॉलोनियों का तेजी से विकास होगा। 

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी-79 गांवों को शहरीकृत करने की विधिवत मंजूरी से क्षेत्र में विकास होगा। दिल्ली भूमि सुधार अधिनियम के तहत दर्ज सभी मामले निरस्त हो जाएंगे और इन कॉलोनियों में रहने वाले लोगों को उनका मालिकाना हक मिल सकेगा। 

अनाधिकृत कॉलोनियों को नियमित करने की दिशा में यह एक बड़ा और मजबूत कदम है। प्रधानमंत्री उदय योजना को अनाधिकृत कॉलोनियों और गांव के लोगों के लिए मील का पत्थर साबित होगा। भाजपा जो कहती है वह करती है। अनाधिकृत कॉलोनियों को नियमित करने का संकल्प भाजपा ने लिया है उसे पूरा करके दिखाएंगे। 
... और पढ़ें
उपराज्यपाल अनिल बैजल उपराज्यपाल अनिल बैजल

होटल के कमरे में ऐश करते पकड़ा गया गैंगस्टर सोहराब, दिल्ली पुलिस के सिपाही भी थे साथ

होमगार्ड सैलरी घोटालाः सीएम के आदेश पर बड़ी कार्रवाई, सबूत मिटाने के मामले में पांच गिरफ्तार

गौतमबुद्धनगर में होमगार्डों की फर्जी ड्यूटी दिखाकर करोड़ों के वेतन घोटाले के खुलासे के सात दिन बाद ही फर्जीवाड़े की फाइलों में सोमवार रात आग लगा दी गई। बुधवार को इस मामले में पांच गिरफ्तारियां हुई हैं।

इस मामले में वर्तमान डिविजनल कमांडेंट होमगार्ड राम नारायण चौरसिया, असिस्टेंट कंपनी कमांडर सतीश, प्लाटून कमांडर मोंटू, सतवीर और शैलेंद्र को गिरफ्तार किया गया है।

आरोपियों ने किस तरह से पूरी वारदात को अंजाम दिया इसका ब्योरा उन्होंने पूछताछ के दौरान दिया है। नोएडा पुलिस इस मामले में आज दिन में प्रेस कांफ्रेंस कर जानकारी देगी।

ऐसे मिटाए सबूत

घोटाले में फंसे आरोपियों ने सबूत मिटाने के लिए सूरजपुर स्थित होमगार्ड कमांडेंट दफ्तर में ब्लॉक आर्गनाइजर कक्ष का ताला तोड़कर 2014 तक के दस्तावेज जला दिए। मंगलवार सुबह आगजनी की सूचना से हड़कंप मच गया।

एसएसपी वैभव कृष्ण ने एफआईआर के आदेश दिए और जांच के लिए एसपी सिटी के नेतृत्व में एसआईटी गठित की। इसके बाद पुलिस ने प्लाटून कमांडर व दो हामगार्ड को हिरासत में लिया था। वहीं, सीएम योगी आदित्यनाथ ने दोषियों की तत्काल गिरफ्तारी के आदेश दिए। उन्होंने आगजनी की जांच फॉरेंसिक विशेषज्ञों से कराने को कहा है।

गोलमाल कर हड़प लेते थे वेतन
होमगार्ड विभाग में बड़े वेतन घोटाले के खुलासे के बाद लखनऊ समेत अन्य जगहों पर जांच के आदेश दिए गए थे। इसके लिए समिति का गठन किया गया है, जो नोएडा में भी जांच कर रही थी। दरअसल, होमगार्डों की ड्यूटी में गोलमाल कर आधे से ज्यादा पारिश्रमिक हड़प लिया जाता था। नोएडा की जांच में खुलासा हुआ है कि होमगार्ड थानों में काम पर नहीं आते थे पर उनकी हाजिरी लगाकर जिले के थानेदारों के फर्जी हस्ताक्षर से उनका वेतन निकाल लिया जाता था।
... और पढ़ें

गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा हटाए जाने के खिलाफ युवा कांग्रेस ने किया प्रदर्शन

pollution in delhi ncr
भारतीय राष्ट्रीय युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने बुधवार सुबह दिल्ली में गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा हटाए जाने को लेकर प्रदर्शन किया। उनका कहना है कि केंद्र सरकार गांधी परिवार की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ कर रही है। 




गौरतलब है कि पिछले दिनों केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा और राहुल गांधी को मिली एसपीजी सुरक्षा को वापस ले लिया है।

गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा हटाए जाने को लेकर मंगलवार को भी लोकसभा में जमकर बहस हुई थी। कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी ने इस मामले के आधार पर केंद्र सरकार पर खूब निशाना साधा था।
... और पढ़ें

दिल्ली: जेएनयू के दिव्यांग छात्रों ने किया प्रदर्शन, बस में सवार होकर पहुंचे पुराने पुलिस मुख्यालय

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय परिसर से संसद तक मार्च करने के दौरान छात्रों पर पुलिस द्वारा किए गए लाठीचार्ज के खिलाफ प्रदर्शन करने जा रहे छात्रों पर आज फिर पुलिस ने सख्ती दिखाई। लाठीचार्ज के खिलाफ बुधवार को प्रदर्शन के लिए दिल्ली पुलिस मुख्यालय जा रहे जेएनयू के दिव्यांग छात्रों को पुलिस ने हिरासत में लेने के बाद छोड़ दिया।

दिल्ली पुलिस ने सभी छात्रों को हिरासत में लेकर वसंत कुंज पुलिस स्टेशन भेज दिया था, जिसके कुछ देर बाद उन्हें छोड़ दिया गया। इसके बाद प्रदर्शन के लिए करीब 30-40 छात्र पुलिस मुख्यालय पहुंचे। यहां पहुंच कर उन्होंने दिल्ली पुलिस द्वारा किए गए लाठीचार्ज के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। 

विश्वविद्यालय प्रबंधन ने की छात्रों से अपील
छात्रों के विरोध प्रदर्शन के बीच जेएनयू प्रबंधन ने बुधवार को छात्रों से अपील की है कि वो अपना प्रदर्शन खत्म करें और कक्षा में पढ़ाई के लिए आना शुरू कर दें। इसके साथ ही उन्होंने सभी छात्रों से कहा कि कक्षाओं को नियमित रूप से चलने दें।
 



पुलिस अधिकारियों से छात्रों ने की मुलाकात
पुलिस मुख्यालय के बाहर फीस वृद्धी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे जेएनयू छात्रसंघ के प्रतिनिधियों ने दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ पदाधिकारियों से मुलाकात की। उनसे मिलकर छात्रों ने अपनी बातें रखीं और बताया कि वो क्यों प्रदर्शन कर रहे हैं। 

जारी रहेगा छात्रों का विरोध
एचआरडी मंत्रालय की बैठक के बाद जेएनयू छात्रसंघ ने बयान दिया कि उनका विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि हम वीसी से मिलकर अपनी बातें रखना चाहते हैं, लेकिन वो हमसे मुलाकात नहीं कर रहे। 
 

 

... और पढ़ें

दिल्ली प्रदूषण | सांसदो के बैठकों और संसद से नदारद रहने पर सांसद हेमामालिनी का था ये रिएक्शन

23 नवम्बर को मॉडर्न स्कूल में आयोजित होगा श्रीराम सेंटर फॉर परफॉरमिंग आर्ट्स का वार्षिक कवि सम्मेलन

नवम्बर की शुरूआत के साथ सर्दी का आगाज होने को है, या यूं कहें कि भीनी-भीनी ठंडक ने दस्तक दे दी है। सर्दियों के साथ-साथ विभिन्न गतिविधियां, सांस्कृतिक कार्यक्रम, महफिल आदि की तैयारियां भी जारी हैं जो पूरे महीने दिल्लीवासियों को लुभायेंगी। गीत-संगीत, कला-संस्कृति व अन्य के बीच साहित्य क्षेत्र से श्रीराम सेंटर फॉर परफॉरमिंग आर्ट्स द्वारा अपने वार्षिक, 49वां श्रीराम कवि सम्मेलन का आयोजन, शनिवार 23 नवम्बर 2019 को मॉडर्न स्कूल के अंतर्गत शंकर लाल हॉल में किया जायेगा।

अक्सर यह कहा जाता है कि साहित्य, कविता और इनमें छुपा मानवीय जीवंत रस, हमें बेहतर अंदाज में एक-दूसरे से जुड़ने में सक्षम बनाती हैं। आज के डिजीटल युग में यह अधिक स्पष्ट और प्रासंगिक है क्योंकि कविता की सशक्तता दुनियाभर में अपनी तरह से प्रकाश डालने की क्षमता रखती है और सच्चाई को मार्मिक अंदाज में हम तक लाती है। 

कुछ ऐसे ही अंदाज में पिछले 48 वर्षां से चली आ रही परंपरा को कायम रखते हुए, श्रीराम सेंटर फॉर परफॉर्मिंग आर्ट्स (एसआरसीपीए) विभिन्न विधाओं में भारत के प्रमुख कवि रत्नों को एक मंच पर दिल्लीवासियों के बीच ला रहे हैं, 23 नवम्बर 2019 को आयोजित किये जाने वाले अपने श्रीराम कवि सम्मेलन में। मॉडर्न स्कूल बाराखम्बा मार्ग के शंकर लाल सभागार में आयोजित 49वां संस्करण दिवंगत श्री हरिवंश राय बच्चन को समर्पित है।

49वें श्रीराम कवि सम्मेलन में इस वर्ष श्री दीपक गुप्ता- हंसी और व्यंग्य के कवि, गजलकार और एंकर श्री आयुष चरग, जाने-माने कवि श्री लक्ष्मी शंकर बाजपेयी, श्री महेश गर्ग ’बेधड़क’, प्रसिद्ध उर्दू कवि और लेखक श्री कुंवर रणजीत सिंह चौहान, श्री गुलजार देहलवी, श्री तेज नारायण शर्मा, श्री मनोरथ आदि अपना जौहर दिखायेंगे। जाने-माने कवि डॉ अशोक चक्रधर इस कार्यक्रम के संयोजक होंगे।

कार्यक्रम के विषय में श्रीराम सेंटर फॉर परफॉरमिंग आर्ट्स के एग्जीक्यूटिव वाइस प्रेजीडेंट श्री हेमंत भरतराम ने बताया कि पिछले 48 सालों में लगातार हम इस कवि सम्मेलन का आयोजन करते आ रहे हैं और साहित्य क्षेत्र के नामी-गिरामी कवि अपनी रचनाओं से दिल्लीवासियों व अन्य की वाह-वाही लूटते हैं। हिंदी कविता के महत्व को इसकी प्रभावशाली और समृद्ध विरासत के बावजूद इसकी उचित मान्यता नहीं मिली है। 

हम कई दशकों से कवियों और उनके उल्लेखनीय कार्यों का प्रदर्शन करने के लिए श्रीराम कवि सम्मेलन की मेजबानी कर रहे हैं। अगले साल, हम अपने 50 वें वर्ष में प्रवेश करेंगे और हम इसे और अधिक समृद्ध और प्रभावशाली बनाने की आशा करते हैं। अपनी परंपरा का निर्वाह करते हुए हम 49वें श्रीराम कवि सम्मेलन का आयोजन कर रहे हैं और उम्मीद है कि हमेशा की तरह इस बार भी श्रोताओं का स्नेह, सहयोग एवं प्यार हमें मिलेगा ही इसके अतिरिक्त दिल्ली के दर्शकों को लुभाने के लिए हिंदी के कुछ प्रसिद्ध कवियों को लाने के लिए एक मील का पत्थर साबित होगा।’’

क्याः श्रीराम सेंटर फॉर परफॉरमिंग आर्ट्स द्वारा 49वां श्रीराम कवि सम्मेलन का आयोजन
कबः शनिवार, 23 नवम्बर 2019, समयः सायं 6.30 बजे से
स्थानः शंकर लाल हॉल, मॉर्डन स्कूल, बाराखम्भा रोड, नई दिल्ली। 
नम्बरः 011-23714307, 23315978
... और पढ़ें

बुजुर्ग ने मेट्रो ट्रेन के आगे कूदकर की आत्महत्या

नई दिल्ली। लक्ष्मी नगर मेट्रो स्टेशन पर मंगलवार शाम 75 वर्षीय बुजुर्ग ने ट्रेन के आगे कूदकर जान दे दी। कोई सुसाइड नोट नहीं मिला, लेकिन परिवार वालों ने बताया कि पिछले तीन साल से उनका डिप्रेशन का इलाज चल रहा था और वह बीमारी से परेशान थे। घटना की वजह से यमुना बैंक से वैशाली की ओर जाने वाले रूट पर कुछ देर के लिए मेट्रो सेवा प्रभावित रही।
पुलिस के अनुसार, मंगलवार शाम करीब सवा सात बजे पुलिस को लक्ष्मी नगर मेट्रो स्टेशन पर एक बुजुर्ग के ट्रेन के सामने छलांग लगाने की सूचना मिली। बुजुर्ग ने प्लेटफॉर्म संख्या-1 पर छलांग लगाई थी। पुलिस के मौके पर पहुंचने से पहले मेट्रो और सीआईएसएफ कर्मियों ने बुजुर्ग को लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल में भर्ती करा दिया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। कोई सुसाइड नोट नहीं मिला।
मृतक की शिनाख्त अमरीक सिंह (75) के रूप में हुई। वह गुरु रामदास नगर (लक्ष्मी नगर) में रहते थे। उनका एक बेटा और दो बेटियां हैं। परिवार वालों ने पुलिस को बताया कि अमरीक सिंह पिछले तीन साल से डिप्रेशन के मरीज थे और उनका इलाज चल रहा था। कुछ दिनों से वह बीमारी को लेकर काफी परेशान थे।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
विज्ञापन