बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

गंभीर हालात: दिल्ली के इंडियन स्पाइनल इंजरी सेंटर में केवल 30 मिनट का ऑक्सीजन बाकी, कई अस्पताल बेहाल

अमर उजाला नेटवर्क, नई दिल्ली Published by: शाहरुख खान Updated Fri, 23 Apr 2021 06:30 PM IST

सार

दिल्ली के सर गंगा राम अस्पताल के चिकित्सा निदेशक ने कहा कि ऑक्सीजन की वजह से अस्पताल में पिछले 24 घंटे में 25 मरीजों की मौत हो गई है। ऑक्सीजन एक और 2 बजे तक चलेगी। वेंटिलेटर प्रभावी ढंग से काम नहीं कर रहे हैं।
विज्ञापन
ऑक्सीजन गैस सिलेंडर
ऑक्सीजन गैस सिलेंडर - फोटो : amar ujala

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें

विस्तार

देशभर में कोरोना से स्थिति भयावह होती जा रही है। ऑक्सीजन को लेकर हाहाकार मचा है। मरीजों को ऑक्सीजन नहीं मिल रही है, जिससे उनकी जान जा रही है। ऑक्सीजन का संकट सबसे ज्यादा देश की राजधानी दिल्ली में है। दिल्ली के बड़े अस्पताल में ऑक्सीजन नहीं होने से मरीजों को काफी परेशानी हो रही है।
विज्ञापन


भारतीय स्पाइनल इंजरी सेंटर में केवल आधे घंटे के लिए ऑक्सीजन का स्टॉक
वसंत कुंज के भारतीय स्पाइनल इंजरी सेंटर के अधिकारी ने कहा कि यहां कोरोना के 160 मरीजों को भर्ती किए गए थे, लेकिन हमारे पास केवल 30 मिनट के लिए ऑक्सीजन का स्टॉक है। हम कल रात यानि गुरुवार से ही ऑक्सीजन आपूर्ति का इंतजार कर रहे हैं, लेकिन अब तक कोई किरण नहीं दिखाई दे रही है। 


ऑक्सीजन के लिए दो अस्पताल पहुंचे हाईकोर्ट
आज ब्राम हेल्थकेयर प्राइवेट लिमिटेड और बत्रा अस्पताल व मेडिकल रिसर्च सेंटर ने ऑक्सीजन की कमी के चलते हाईकोर्ट में याचिका दायर की। सुनवाई के दौरान दिल्ली हाईकोर्ट ने माना है कि केंद्र ऑक्सीजन का आवंटन करता है। हाईकोर्ट ने कहा कि यह बात उसने सॉलिसीटर जनरल के सामने रखी है कि समर्थ लोग ऑक्सीजन के आवंटन पर दोबारा गौर करें ताकि दूरी को कम करके जल्द से जल्द उचित यातायात की व्यवस्था कर जरूरतमंदों तक पहुंचाया जा सके।

आकाश हेल्थकेयर को मिला एक टैंकर
आकाश हेल्थकेयर के सीओओ डॉ. कौसर ए शाह ने जानकारी दी है कि वह दिल्ली के तमाम छोटे-छोटे ऑक्सीजन विक्रेताओं से खरीदकर अपने ऑक्सीजन सिलिंडरों को भरने में कामयाब रहे हैं। हमें लगभग शाम 4.00 बजे एक लिक्विड ऑक्सीजन का टैंकर मिला है, जो अगले 14 घंटे तक चलेगा।

पेंटामेड अस्पताल में ऑक्सीजन स्टॉक खत्म
दिल्ली के पेंटामेड अस्पताल में ऑक्सीजन स्टॉक खत्म हो गया है। यहां 50 मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं। अस्पताल ने सभी मरीजों के परिजनों को ऑक्सीजन लाने को कहा है।

सर गंगाराम अस्पताल ने कहा- यह कहना गलत कि ऑक्सीजन की कमी से हुई मौत
पहले सर गंगाराम की तरफ से यह कहा गया था कि 25 मौतों में से कुछ ऑक्सीजन के लो प्रेशर और बेड न मिलने से हुई लेकिन अब अस्पताल ने यूटर्न ले लिया है। अब अस्पताल के चेयरमैन डॉ. डी.एस राणा ने बताया कि यह गलत खबर है कि कोरोना से जितने भी मरीजों की मृत्यु हुई है वे सब ऑक्सीजन की कमी से हुई। यह पूरी तरह से गलत है, ऐसा नहीं हुआ है। हमारे आईसीयू में पहले ऑक्सीजन दबाव कम हो गया था। उस दौरान हम लोगों ने मैनुअल तरह से ऑक्सीजन दी थी। 

मैक्स का एलान- किसी अस्पताल में नहीं होगी नई भर्ती
ऑक्सीजन की कमी झेल रहे मैक्स के तमाम अस्पतालों ने दिल्ली-एनसीआर की अपनी किसी भी शाखा में नए मरीज भर्ती करने पर रोक लगा दी है। 

अर्डेंट गणपति अस्पताल में ऑक्सीजन खत्म, डिस्चार्ज कर रहे मरीज
मुंडका के अर्डेंट गणपति अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर ने बताया कि उनके अस्पताल में ऑक्सीजन खत्म हो गई है। इसी वजह से वह यहां भर्ती सभी मरीजों को सरकारी अस्पताल में भेज रहे हैं।

गंगाराम में 24 घंटे में 25 मरीजों की मौत, एक टैंकर पहुंचा
दिल्ली के सर गंगा राम अस्पताल के चिकित्सा निदेशक ने कहा कि ऑक्सीजन के लो प्रेशर की वजह से अस्पताल में पिछले 24 घंटे में 25 मरीजों की मौत हो गई है। कई मरीजों को हाई प्रेशर की जरूरत थी लेकिन ऑक्सीजन प्रेशर कम होने से कुछ की मौत हुई तो कुछ की बेड न मिलने से। हालांकि खबर है कि सुबह 9.30 बजे के बाद यहांं एक ऑक्सीजन का टैंकर पहुंचा है, जिसमें 2000 क्यूबिक मीटर ऑक्सीजन है।

उन्होंने बताया कि गंभीर रूप से बीमार अन्य 60 मरीजों की जान भी खतरे में हैं और गंभीर संकट की आशंका है। ऑक्सीजन की तत्काल आवश्यकता है। चिकित्सा निदेशक ने बताया कि अस्पताल के आईसीयू और आपात-चिकित्सा विभाग में गैर-मशीनी तरीके से वेंटिलेशन बहाल करने का प्रयास किया जा रहा है।

फोर्टिस फरीदाबाद में केवल एक घंटे का ऑक्सीजन स्टॉक शेष
फरीदाबाद स्थित फोर्टिस अस्पताल में सिर्फ एक घंटे का ऑक्सीजन बचा है। अस्पताल प्रबंधन से बात करने पर पता चला कि रेवाड़ी से ऑक्सीजन सप्लाई सुनिश्चित की जा रही थी, किन्हीं कारणों से कल से अब तक ऑक्सीजन आपूर्ति बाधित है। देर रात से आईसीयू और ऑक्सीजन सपोर्ट पर भर्ती मरीजों को लेकर अस्पताल प्रबंधन चिंता में है। जिले में ऑक्सीजन सप्लाई सुनिश्चित करने के लिए नियुक्त नोडल अधिकारी करण गोदारा का कहना है कि सप्लाई सुनिश्चित की जा रही है स्वास्थ्य विभाग सेवाएं बाधित नहीं होने देगा।

मैक्स स्मार्ट अस्पताल और मैक्स अस्पताल साकेत में को मिला एक एक-एक मिट्रीक टन ऑक्सीजन
मैक्स स्मार्ट अस्पताल और मैक्स अस्पताल साकेत में एक घंटे से भी कम ऑक्सीजन का स्टॉक बचा था। दिल्ली सरकार ने मैक्स स्मार्ट अस्पताल साकेत और मैक्स अस्पताल साकेत को एक-एक मिट्रीक टन ऑक्सीजन उपलब्ध कराई है। दोनों अस्पतालों में मिलाकर 700 मरीज हैं जिसमें से 550 कोविड के मरीज हैं। रात 1.00 बजे से INOX से ताजा आपूर्ति का इंतजार किया जा रहा है। हालांकि जानकारी मिली है कि मैक्स अस्पताल में अगले 3 से 5 घंटे के लिए ऑक्सीजन पहुंच गई है। मैक्स हेल्थकेयर ने कहा है कि 700 से अधिक रोगियों को भर्ती कराया गया। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us