पानी के लिए मचा हाहाकार

New Delhi Updated Sun, 19 May 2013 05:30 AM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
नई दिल्ली। यूपी में गंगनहर में आई दरार के कारण पानी की कमी को लेकर राजधानी में रहने वाले बेजार हो गए हैं। पूरी राजधानी में पानी को लेकर गंभीर संकट पैदा हो गया है। गर्मी शुरू होते ही दिल्ली सरकार का एक्शन प्लान भी फ्लॉप साबित हो रहा है। जल बोर्ड के पानी पर निर्भर रहने वाले हजारों घरों के नलके या तो बूंद-बूंद टपक रहे है या सूखे पड़े है। पानी के टैंकर नहीं पहुंचने से भी विभिन्न इलाकों में परेशानी बढ़ गई है।
विज्ञापन

शुक्रवार सेे उत्तर प्रदेश के खतौली में गंगनहर में दरार आने की वजह से पानी नहीं मिल रहा है। दिल्ली में पानी की सप्लाई में वैसे ही 200-250 एमजीडी की कमी रहती है, ऊपर से गंगनहर से 50 एमजीडी पानी नहीं मिलने के कारण स्थिति और दयनीय हो गई है। जल बोर्ड के आंकड़ों के मुताबिक, वर्तमान मांग 1020 एमजीडी है।

शनिवार को जल बोर्ड के पाइप पर निर्भर 27.16 लाख घरों में भी पीने की पानी की किल्लत रही। कई इलाकों में गंदे पानी की समस्या रही तो कई जगह आपूर्ति और प्रेशर में भी कमी के कारण ऊपरी मंजिल तक पानी नहीं पहुंच सका।
.....
राजनीति मकड़जाल में फंसा पानी
राजधानी में पानी की सप्लाई में राजनीति का दांव फंस गया है। कभी हरियाणा सरकार पानी की आपूर्ति ठप कर देती है तो कभी उत्तर प्रदेश के गंगनहर से आने वाला पानी दिल्ली को नहीं मिलता है। ऐसे में पानी की समस्या बराबर बनी रहती है। सोनिया विहार संयंत्र को 140 एमजीडी और भागीरथी संयंत्र को 100 एमजीडी पानी गंगनहर से मिलता है। उधर, मुनक नहर के चालू होने का इंतजार अभी भी दिल्ली को है। इस मामले को केंद्र सरकार और हरियाणा सरकार के साथ मिलकर हल करने की कोशिश जारी है। यहां से दिल्ली को 80 मिलियन गैलन प्रतिदिन वृद्धि होने की संभावना है। हालांकि, जल बोर्ड द्वारा तैयार बवाना, द्वारका और ओखला में तैयार तीन जल उपचार संयंत्र अभी भी चालू नहीं हो सके है।
-------
हरियाणा के मुख्यमंत्री से मिले सांसद-विधायक
पानी की किल्लत को देखते हुए दिल्ली के तीन सांसदों व विधायक हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा से मिले। सांसद संदीप दीक्षित की अगुवाई में पहुंचे प्रतिनिधिमंडल ने हरियाणा के मुख्यमंत्री से मुनक नहर के लिए 610 क्यूसेक पानी छोड़ने की अपील की। उन्हें एक ज्ञापन भी दिया गया और मानवीय आधार पर पानी दी जाए। सांसद संदीप दीक्षित, महाबल मिश्रा व रमेश कुमार ने मुलाकात के बाद बताया कि हरियाणा के मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया है कि दिल्ली को उसका हिस्सा दिया जाएगा। विधायक नसीब सिंह ने कहा कि हरियाणा सरकार को मानवीय आधार पर मुनक नहर से पानी देना चाहिए। इसके पानी से बाहरी दिल्ली की समस्या का समाधान हो जाएगा।
---------
दिल्ली के 25 प्रतिशत इलाके में पाइपलाइन नहीं
दिल्ली जल बोर्ड के रिकॉर्ड को अगर माने तो 25 प्रतिशत घरों तक जल बोर्ड की पाइपलाइन नहीं है। ऐसे में करीब 32.53 लाख लोग जल बोर्ड के पानी से वंचित है। लोग जमीन से निकले पानी पर आश्रित हैं। कई इलाकों में पाइप तो हैं पर पानी नहीं, उन इलाकों में भूजल का इस्तेमाल हो रहा है। जल बोर्ड का कहना है कि जिन इलाकों में पाइपलाइन नहीं हैं, वहां टैंकराें से पानी की आपूर्ति की जाती है। टैंकरों से कितना पानी मिल रहा है इसकी पोल सीएजी की रिपोर्ट खोलती है। जल बोर्ड ने 2011-12 में 1000.94 मिलियन गैलन पानी टैंकरों के माध्यम से दिया। यानी औसतन हर दिन 3.82 लीटर प्रति व्यक्ति पानी ही मिला। इसी से पीने के पानी की समस्या का अंदाजा लगाया जा सकता है।
-------------
नहीं पता कितना पानी होता है बर्बाद
हैरानी की बात है कि जल बोर्ड को नहीं पता कि राजधानी में कितना पानी बर्बाद होता है। जल बोर्ड का कहना है कि 40 प्रतिशत पानी का बिल उसे नहीं मिलता। इसे जल बोर्ड लीकेज या चोरी बता देता है।
--------
जलबोर्ड के दावे
जलबोर्ड का दावा है कि स्थिति से निपटने के लिए इंतजाम कर लिए गए हैं। 835 एमजीडी पानी की सप्लाई होगी। मुनक कैनाल के चालू होने से 80 एमजीडी पानी में वृद्धि होगी। केंद्र और हरियाणा सरकार के साथ मिलकर हल ढूंढने की कोशिश की जा रही है । अनियोजित कॉलोनियों के लिए बुनियादी ढंाचे का योजनाबद्ध ढंग से विस्तार किया जा रहा है। 87भूमिगत जलाशय पंपिंग स्टेशनों पर काम कर रहे है। 41 अनधिकृत कॉलोनी में पाइपलाइन डाली गई है। 800 अनधिकृत कालोनियों में पानी उपलब्ध है। 126 अनधिकृत कॉलोनियों में इस साल के अंत तक पानी की लाइनें बिछाई जाएंगी। 200 एमएम पुरानी पाइलाइनों को बदला गया है और 333 बड़े रिसावों को दूर किया गया है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00