लोगों का गुस्सा देख सहमी दिल्ली पुलिस

New Delhi Updated Sun, 23 Dec 2012 05:30 AM IST
नई दिल्ली। चलती बस में युवती से गैंग रेप मामले में जिस तरह आम लोग सड़कों पर उतर पर गुस्से का इजहार कर रहे हैं, उससे दिल्ली पुलिस सहम गई है। आरोपियों को गिरफ्तार तो कर लिया गया है, लेकिन उनकी सुरक्षा की चिंता पुलिस को सता रही है। पुलिस को डर है कि कहीं गुस्से से भरे लोग अभियुक्तों पर न टूट पड़े। यही वजह है कि शाम सात बजे तक अभियुक्त अक्षय कुमार उर्फ ठाकुर को अदालत में पेश नहीं किया गया। बताया गया है कि रात करीब 10 बजे उसे संबंधित जज के घर पर पेश किया जाएगा।
राष्ट्रपति भवन, इंडिया गेट पर हजारों नागरिक प्रदर्शन कर अपने गुस्से का इजहार कर रहे थे, उधर आरोपी अक्षय की संभावित पेशी को देखते हुए साकेत कोर्ट के गेट पर करीब 50 युवतियां पहुंच गईं। उन्होंने नारेबाजी कर आरोपियों को फांसी देने की मांग की। प्रदर्शनकारी युवतियों को वकीलों व मुकदमों की पैरवी करने आए लोगों का पूरा सहयोग मिला। इधर कई जज भी मीडिया कर्मियों से पीड़ित युवती के स्वास्थ्य की जानकारी लेते नजर आए। जजों के आवास भी कोर्ट परिसर में ही बने हुए हैं। करीब 6.30 बजे अचानक पुलिस हरकत में आई और पूरे परिसर को चारों ओर से घेर लिया। भीड़ को देखते हुए पुलिस की चिंता इसी से जाहिर होती है कि वरिष्ठ पुलिस अधिकारी पूरी सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेन स्वयं मौके पर उपस्थित थे। एक अधिकारी ने बताया कि उन्हें आदेश मिला है कि सुरक्षा प्रबंध चौकस होने चाहिए। उन्होंने माना कि आम लोगों में इतना गुस्सा है कि अगर एक बार अभियुक्त उनके हत्थे चढ़ गया तो हम भी कुछ नहीं कर पाएंगे। इसलिए सुरक्षा व्यवस्था कड़ी करना जरूरी हो गया है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

FILM REVIEW: राजपूतों की गौरवगाथा है पद्मावत, रणवीर सिंह ने निभाया अलाउद्दीन ख़िलजी का दमदार रोल

संजय लीला भंसाली की विवादित फिल्म पद्मावत 25 फरवरी को रिलीज हो रही है। लेकिन उससे पहले उन्होंने अपनी फिल्म की स्पेशल स्क्रीनिंग की। आइए आपको बताते हैं कि कैसे रही ये फिल्म...

24 जनवरी 2018