माल वाहनों की ओवरलोडिंग से बढ़ा प्रदूषण

New Delhi Updated Fri, 09 Nov 2012 12:00 PM IST
नई दिल्ली। एनसीआर में यूरो-4 मानकों को दरकिनार करके माल ढुलाई में लगे वाहन और ओवरलोडिंग से तेजी से प्रदूषण बढ़ रहा है। वाहनों में चालीस फीसदी ओवरलोडिंग से नाइट्रोजन ऑक्साइड 37 गुना, पीपीएम 6 गुना, कार्बनमोनोऑक्साइड 17 गुना तक बढ़ जाते हैं। परिवहन विशेषज्ञों का कहना है कि 23 फरवरी को अधिसूचित किए गए मानकों का पालन नहीं करने से एनसीआर में प्रदूषण बढ़ रहा है। जबकि अधिसूचना में साफ किया गया था कि एनसीआर में रजिस्टर यूरो-4 मानक से नीचे का कोई भी वाहन यहां माल ढुलाई नहीं करेगा।
इंडिया फाउंडेशन ऑफ ट्रांसपोर्ट रिसर्च एंड ट्रेनिंग (आईएफटीआरटी) ने उपराज्यपाल तेजेंद्र खन्ना, मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के अलावा यूपी, हरियाणा और राजस्थान के मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर कार्रवाई की मांग की है। आईएफटीआरटी के संयोजक एसपी सिंह का कहना है कि मौसम तो सुधर जाएगा, लेकिन यूरो-मानक को दरकिनार करने व 40 फीसदी से 200 फीसदी तक की ओवरलोडिंग से फैलने वाले प्रदूषण को नहीं रोका गया तो हालात और खराब हो जाएंगे। आईएफटीआरटी ने केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय, सुप्रीम कोर्ट की मॉनिटरिंग कमेटी समेत एनसीआर राज्यों के मुख्यमंत्री को भेजी गई चिट्ठी में सेंट्रल रोड रिसर्च इंस्टीट्यूट के ओवरलोडिंग पर किए गए अध्ययन का हवाला दिया है। इसमें साफ किया गया है कि ओवरलोडिंग से न सिर्फ इंजन की क्षमता कम होती है, बल्कि प्रदूषण बढ़ता है और ईंधन खर्च भी बढ़ जाता है।
क्या हो रहा है उल्लंघन
आईएफटीआरटी की तरफ से भेजे गए पत्र में सरकारी एजेंसियों पर सीधी उंगली उठाई गई है। इसमें कहा गया है कि एनसीआर में रजिस्टर 99 फीसदी वाहन यूरो-4 नहीं हैं, लेकिन एनसीआर के दो प्वाइंट के लिए बुकिंग हो रही है। टूरिस्ट वाहन सरकुलर टूर पर चल रहे हैं। दिल्ली व पड़ोसी शहर गाजियाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, फरीदाबाद, पलवल, गुड़गांव, बहादुरगढ़, सोनीपत में केंद्रीय मंत्रालय की अधिसूचना का पालन नहीं कराया जा रहा है। वहीं, कुछ ऐसे ही हालात छोटे माल वाहनों के लिए 9 जनवरी, 2009 के आदेश के हैं। इसमें डीजल वाहनों को सीएनजी में बदलने के आदेश दिए गए थे, लेकिन वाहनों को नेशनल परमिट में तब्दील करके उन्हें डीजल से ही चलाया जा रहा है।
एनसीआर में वाहनों के मानक पर प्रावधान
23 फरवरी, 2012 को केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय ने एनसीआर में प्रदूषण को देखते हुए एक अधिसूचना जारी की थी। इसमें साफ किया गया था कि सेंट्रल मोटर व्हीकल रूल्स, 1989 के 115 (सब-रूल-14) तय किए गए यूरो-4 मानक का पालन एनसीआर में माल ढुलाई और यात्रियों की आवाजाही के लिए करना होगा। यूरो-4 से नीचे के मानक वाला ऐसा कोई भी वाहन एनसीआर में एक प्वाइंट से दूसरे प्वाइंट तक सर्विस नहीं देगा जो इस क्षेत्र में रजिस्टर है। इतना ही नहीं सरकुलर टूर पर भी यूरो-4 से नीचे मानक के वाहन नहीं चलेंगे।
आदेश का नहीं हो रहा है कोई असर
केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय की अधिसूचना के बाद 28 फरवरी को मुख्यमंत्री शीला दीक्षित और 3 मार्च, 2012 को सुप्रीम कोर्ट मॉनिटरिंग कमेटी के अध्यक्ष भूरेलाल ने एनसीआर में प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों से निपटने के लिए हाईलेवल बैठक की थी। इसमें दिल्ली, हरियाणा, यूपी और राजस्थान के परिवहन विभाग को अधिसूचना का पालन करने के निर्देश दिए गए थे लेकिन हालात वही बने हुए हैं।
सरकारी एजेंसी भी नहीं करा रही पालन
आईएफटीआरटी के अनुसार, सरकारी एजेंसी डीएमआरसी, एनएचएआई, एफसीआई और पीडब्ल्यूडी भी 23 फरवरी, 2012 की अधिसूचना को दरकिनार करके एनसीआर में रजिस्टर ट्रक, ट्राला व अन्य माल वाहनों के इस्तेमाल की अनुमति ठेकेदारों को देती है जिससे प्रदूषण बढ़ता है।
ओवरलोडिंग के कारण इतना बढ़ा प्रदूषण
लोडिंग पैटर्न एनओएक्स एचसी सीओ पीएम/जी/किमी
मानक 3.17 0.01 0.59 104.13
10 फीसदी 7.16 0.35 0.62 134.85
20 फीसदी 75.05 2.60 3.59 289.42
30 फीसदी 119.2 2.63 9.97 611.75

Spotlight

Most Read

Kanpur

बाइकवालाें काे भी देना हाेगा टोल टैक्स, सरकार वसूलेगी 285 रुपये

अगर अाप बाइक पर बैठकर आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर फर्राटा भरने की साेच रहे हैं ताे सरकार ने अापकी जेब काे भारी चपत लगाने की तैयारी कर ली है। आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चलने के लिए सभी वाहनों को टोल टैक्स अदा करना होगा।

17 जनवरी 2018

Related Videos

Video: सपना को मिला प्रपोजल, इस एक्टर ने पूछा, मुझसे शादी करोगी?

सपना चौधरी ने बॉलीवुड एक्टर सलमान खान और अक्षय कुमार के साथ जमकर डांस किया। दोनों एक्टर्स ने सपना चौधरी के साथ मुझसे शादी करोगी डांस पर ठुमके लगाए।

17 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper