बेटे ने पिता की गला घोंटकर हत्या की

New Delhi Updated Fri, 12 Oct 2012 12:00 PM IST
नई दिल्ली। रणहौला इलाके में दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। 19 वर्षीय बेटे ने सिर्फ इसलिए अपने पिता की गला घोंटकर हत्या कर दी, क्योंकि उसने मां की मौत के बाद कार्यालय से मिले लाखों रुपये का हिसाब मांग लिया था। इस कलयुगी बेटे ने पिता की हत्या करने के बाद लाश को दो दिन तक कमरे में रखा और साक्ष्य मिटाने के लिए कमरे में ही मिट्टी का तेल डालकर लाश को जलाने की कोशिश की। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है।
जानकारी के मुताबिक विजय धीमान (62) बेटे जतिन धीमान के साथ रणहौला के प्रेस एंक्लेव इलाके में रहते थे। 9 अक्तूबर को रात करीब दो बजे गश्त कर रहे पुलिसकर्मियों ने विजय के घर से धुंआ निकलते हुए देखा। पुलिसकर्मियों ने आसपास के लोगों को जगाया। लोगोें ने दरवाजे को खोलने की कोशिश की, लेकिन वह भीतर से बंद था। तुरंत इसकी सूचना दमकल विभाग को दी गई। दमकल विभाग के कर्मचारी मौके पर पहुंचे। उन लोगों ने पाया कि घर का पिछला दरवाजा खुला है।
दमकलकर्मियों ने अंदर पहुंचकर आग बुझा दी। पुलिस को बिस्तर पर विजय धीमान की अधजली लाश मिली। जिसे पुलिस ने अपने कब्जे में कर लिया। जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि विजय अपने बेटे जतिन के साथ यहां रहते थे, जो घटना के समय घर पर मौजूद नहीं था। पुलिस ने उसके फोन पर संपर्क किया। उसने पहाड़गंज इलाके में होने की बात कही। घटना की जानकारी मिलने के बाद वह घर पहुंच गया।
पूछताछ के दौरान वह पुलिस को विरोधाभाषी बयान देने लगा। पुलिस ने शक होने पर उससे कड़ाई से पूछताछ की। इसमें उसने अपना अपराध कबूल कर लिया। उसने बताया कि पिता के साथ कहासुनी होने पर सात अक्तूबर को उनकी गला घोंटकर हत्या कर दी। दो दिनों तक शव घर में ही रखा, लेकिन बदबू आने पर उसने बाजार से मिट्टी का तेल लाकर आग लगा दी और पीछे के रास्ते घर से फरार हो गया।
मृत पत्नी के रुपये को लेकर हुई थी पिता पुत्र के बीच कहासुनी
जांच में पुलिस को पता चला कि विजय की पत्नी कांता की इस वर्ष फरवरी माह में मृत्यु हो गई थी। वह हथियार और विस्फोटक बनाने की फैक्टरी में काम करती थीं। उनकी मृत्यु के बाद कार्यालय की ओर से परिवार को पांच लाख 87 हजार रुपये मिलेे थे। जतिन ने हाल में ही 12वीं पास की है। सात अक्तूबर की रात पिता पुत्र के बीच रुपये के खर्च को लेकर बहस हो गई। इस दौरान जतिन ने गुस्से में आकर पिता की पिटाई कर दी और बाद में गला घोंटकर उनकी हत्या कर दी।
हृदय विदारक घटना को देखने के बाद स्थानीय लोग हतप्रभ हैं। उन्हें समझ ही नहीं आ रहा है कि जतिन ने कैसे पिता की हत्या करने के बाद शव को घर में ही जलाने की कोशिश की। स्थानीय लोगों के मुताबिक 7 अक्तूबर की रात करीब सवा बारह बजे विजय के घर में शोर शराबा हो रहा था। लेकिन कुछ देर बाद सब कुछ शांत हो गया। अगले दिन विजय को लोगों ने घर से बाहर निकलते नहीं देखा, लेकिन जतिन घर के बाहर टहल रहा था।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

FILM REVIEW: राजपूतों की गौरवगाथा है पद्मावत, रणवीर सिंह ने निभाया अलाउद्दीन ख़िलजी का दमदार रोल

संजय लीला भंसाली की विवादित फिल्म पद्मावत 25 फरवरी को रिलीज हो रही है। लेकिन उससे पहले उन्होंने अपनी फिल्म की स्पेशल स्क्रीनिंग की। आइए आपको बताते हैं कि कैसे रही ये फिल्म...

24 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls