रोहिणी में कारोबारी दंपति व बेटी की हत्या

New Delhi Updated Sat, 22 Sep 2012 12:00 PM IST
नई दिल्ली। रोेहिणी सेक्टर 17 में शुक्रवार सुबह एक कारोबारी दंपति और उसकी 24 वर्षीय बेटी की हत्या कर दी गई। बेटी और मां की गला घोंटकर हत्या की गई है, जबकि कारोबारी के सिर पर चोट के निशान हैं। घर से एक लैपटॉप और मोबाइल गायब है। पुलिस इसे लूटपाट का मामला नहीं मान रही है। पुलिस का कहना है कि हत्या किसी और मकसद से की गई है। शुरुआती जांच में पुलिस का कहना है कि हत्या किसी पहचानवाले ने ही की है। पुलिस इस कोण से भी जांच कर रही है कि दंपति की अपनी बड़ी बेटी हेमा से विवाद होने के कारण वह अपने बेटे के साथ रोहिणी में ही अलग किराये के मकान में रहने चली गई थी। हेमा का अपने पति से तलाक हो गया है।
पुलिस के अनुसार वाईपीएस चौहान (55), पत्नी रेखा (52) और बेटी रोजी (24) के साथ रोहिणी सेक्टर 17 के बी सात में रहते थे। शुक्रवार सुबह पुलिस को सूचना मिली कि परिवार के तीनों सदस्यों की हत्या कर दी गई है। तिहरे हत्याकांड की सूचना मिलते ही पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गये। पुलिस ने कमरे में प्रवेश किया तो नीचे के कमरे में बिस्तर पर चौहान का शव पड़ा था। उसके सिर और कान के पीछे गहरे जख्म थे। उसके बाद पुलिस पहली मंजिल पर पहुंची। जहां बिस्तर के नीचे मां-बेटी का शव पड़ा था। रेखा के गले को तार से घोंटा गया था, जबकि रोजी के गले में चुन्नी बंधी थी। ऊपर के कमरे से एक लैपटॉप और मोबाइल गायब मिला। साथ ही घर में रखी एक अटैची खुली हुई थी। हत्या करने वालों ने घर में खून के धब्बों पर पानी डालकर फर्श धो दिया था।
पुलिस ने तीनों शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस का कहना है कि जिस तरह से हमलावरों ने घर में दोस्ताना तरीके से प्रवेश किया है, उससे जाहिर होता है कि उसका मकसद लूटपाट करना नहीं, बल्कि हत्या करना था। अभी पुलिस हत्या के कारणों के किसी नतीजे पर नहीं पहुंची है।
लोगों का कहना था कि चौहान की पत्नी को मोहल्ले की महिलाओं के साथ वैष्णो देवी जाना था और व उसी की तैयारी में जुटी थीं। वाईपीएस चौहान के मकान की पिछली गली में गौरीशंकर मंदिर है। जिसके पुजारी उदय चंद झा ने मोहल्ले की दस महिलाओं को वैष्णो देवी जाने की व्यवस्था की थी। सुबह छह बजे सभी को रवाना होना था। अन्य महिलाएं वहां तय समय पर पहुंच गईं, लेकिन रेखा नहीं पहुंची। पता करने के लिए उदय चंद झा रेखा के घर पहुंचे। दरवाजा काफी देर तक खटखटाने पर नहीं खुला। घर से कोई आवाज नहीं आने पर उदय वहां से चले गये। फिर उन्होंने अपनी पत्नी को भेजा, वह भी दरवाजा खटखटाने के बाद चली गई। बाद में उदय की बेटी पहुंची और दरवाजे को धकेला तो वह खुल गया। उसने बिस्तर पर चौहान को मृत पाया। उसने तुरंत पड़ोसी सुशील को जगाकर इसकी सूचना दी। उसके बाद मोहल्ले वालों ने घटना की जानकारी पुलिस को दी।

डेढ़ साल पहले सड़क हादसे में हो चुकी है बेटे की मौत
पुलिस के अनुसार वाईपीएस चौहान मूलत: उत्तर प्रदेश के एटा जिले के रहने वाले थे। चौहान का शाहबाद डेयरी दौलतपुर में केमिकल का गोदाम था। करीब 17 साल पहले उन्होंने यहां मकान बनाया था। 26 मीटर के प्लॉट में बने इस मकान में एक कमरा नीचे है, जबकि एक कमरा ऊपर है। चौहान की अन्य बेटियों की शादी हो चुकी है, जबकि रोजी उनके साथ रहती है। डेढ़ साल पहले चौहान के बेटे की सड़क हादसे में मौत हो गई थी। उनकी बहू अपने बच्चे के साथ मायके में रहती है।

बेटी से विवाद की भी जांच कर रही है पुलिस
वाईपीएस चौहान की तीन बेटी और एक बेटा था। तीन बेटी में हेमा, जॉली और रोजी है। हेमा की बीकानेर में शादी हुई थी, जबकि जॉली पति के साथ फरीदाबाद में रहती है। हेमा एक स्कूल में टीचर है। हेमा का अपने पति से विवाद हो गया और तलाक का मामला अदालत में चल रहा था। जिसकी वजह से हेमा दस साल से अपने परिजनों के साथ रहती थी। 15 दिन पहले ही परिजनों से विवाद होने के बाद वह रोहिणी में किराए पर मकान लेकर अपने 14 साल के बच्चे के साथ रहने लगी थी। पुलिस इस दृष्टि से भी जांच कर रही है। बताया जा रहा है कि हेमा का तलाक हो गया है।

प्रॉपर्टी हथियाने का भी हो सकता है मामला : पुलिस
घर में रहने वाले तीन सदस्यों की सामूहिक हत्या के पीछे प्रॉपर्टी हथियाने का मकसद हो सकता है। जिले के संयुक्त आयुक्त तेजेंद्र सिंह लूथरा का कहना है कि अक्सर देखा गया है कि इस तरह की सामूहिक हत्या के पीछे प्रॉपर्टी हथियाने का मामला होता है। इसलिए पुलिस इस पहलू को भी ध्यान में रखकर जांच कर रही है। पुलिस आस-पास के लोगों से यह जानकारी जुटा रही है कि इनके घर कौन-कौन आते थे। साथ ही पुलिस प्रेम प्रसंग को लेकर भी जांच कर रही हैै। बताया जा रहा है कि पत्रकारिता का कोर्स करने वाली रोजी की शादी की बात चल रही थी। आशंका यह भी है कि इस बात से भी कोई नाराज होकर वारदात को अंजाम दे सकता है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

अखिलेश यादव का तंज, ...ताकि पकौड़ा तलने को नौकरी के बराबर मानें लोग

यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह पर निशाना साधा और कहा कि भाजपा देश की सोच को अवैज्ञानिक बताना चाहती है।

22 जनवरी 2018

Related Videos

राजधानी में बेखौफ बदमाश, दिनदहाड़े घर में घुसकर महिला का कत्ल

यूपी में बदमाशों का कहर जारी है। ग्रामीण क्षेत्रों को तो छोड़ ही दीजिए, राजधानी में भी लोग सुरक्षित नहीं हैं। शनिवार दोपहर बदमाशों ने लखनऊ में हार्डवेयर कारोबारी की पत्नी की दिनदहाड़े घर में घुस कर हत्या कर दी।

21 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper