विज्ञापन
विज्ञापन

लो जी पक्की हो गईं 917 कॉलोनियां

New Delhi Updated Wed, 29 Aug 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
नई दिल्ली। दिल्ली की 917 अनधिकृत कॉलोनियां नियमित हो गई हैं। इस संबंध में अधिसूचना बुधवार को जारी कर दी जाएगी। इससे करीब 30 लाख लोगों को लाभ मिलेगा। मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने कैबिनेट मंत्रियों के साथ मंगलवार को नियमितीकरण की अधिकारिक घोषणा कर दी। इस दौरान मुख्यमंत्री ने साफ किया कि कोई भी कॉलोनी तोड़ी नहीं जाएगी। कानूनी तौर पर पक्का काम किए जाने से नियमन में देरी हुई है। अब अदालत में यह मुद्दा नहीं जाएगा। इसकी जरूरत नहीं है।
विज्ञापन
विज्ञापन
शीला दीक्षित ने बताया कि एएसआई, रिज और वन विभाग की जमीन पर बसी कॉलोनियों के लिए जो भी बदलाव करने पड़े वह किए जाएंगे इसका वायदा केंद्रीय शहरी विकास मंत्री कमलनाथ ने किया है। कॉलोनियां पहले बसी हैं, जबकि एएसआई कानून बाद में आया है। बड़े ऐहतियात और होशियारी से काम किया गया है। इंदिरा गांधी ने 612 कॉलोनियाें को इसी तरह अधिकृत किया था, उसके बाद राजीव गांधी ने 400 कॉलोनियाें को विकास कार्य के लिए एनओसी दी। उसी तरह हम इन कॉलोनियाें का नियमन कर रहे हैं। अनधिकृत कॉलोनियाें के नियमन की अधिसूचना निकलने के बाद जो भी कार्य बचे हैं उन्होंने पूरा किया जाएगा। कॉलोनी नियमन का अधिकार दिल्ली सरकार का है। अधिसूचना के बाद एमसीडी, डीडीए, पीडब्ल्यूडी कोई अड़ंगा नहीं लगा सकते। उनका कार्य विकास कार्य करना है। शहरी विकास मंत्रालय से स्वीकृति ले ली गई है। उन्होंने कहा कि विपक्षी पार्टी कहती थी कि नियमन नहीं होगा। हमने कर दिया है। कोई धोखा नहीं दिया। सब कुछ दुरुस्त करने में देरी हुई। डॉ. अशोक कुमार वालिया का विशेष रूप से धन्यवाद करती हूं उन्होंने जिस तरह काम किया है उसमें मेरा विश्वास है कि इस पर अब कोर्ट का कोई फैसला नहीं आएगा।
45 पुनर्वास कॉलोनियाें की गेंद केंद्र के पाले में
मुख्यमंत्री ने कहा है कि दिल्ली की 45 पुनर्वास कॉलोनियाें पर भी केंद्रीय शहरी विकास मंत्री से बातचीत की गई है। मंत्रालय सैद्धांतिक रूप से मालिकाना हक देने पर सहमत है। जो भी दिक्कत है उस संबंध में केंद्रीय मंत्रिमंडल के समक्ष प्रस्ताव लेकर जाएंगे। मालिकाना हक 45 कॉलोनियाें को मिल जाएगा। उम्मीद है कि अगले एक-दो सप्ताह में सब कुछ ठीक हो जाएगा।
--------------
लोगों को मजबूरन अनधिकृत कॉलोनियों में बसना बड़ा, क्योंकि दिल्ली में मकानों की कमी के कारण और कोई विकल्प नहीं था। कॉलोनी कैसे बसी, गलती किसकी है, इस पर नहीं जाऊंगी लेकिन लोगों ने जीवन की गाढ़ी कमाई लगाकर घरौंदा बनाया है, उसे बचाया जाएगा, एक भी कॉलोनी टूटने नहीं दी जाएगी।
- शीला दीक्षित, मुख्यमंत्री दिल्ली
--------------
अगर कहीं किसी कॉलोनी के नियमन में दिक्कत है तो भी विकास के कार्य में कोई दिक्कत नहीं होने देंगे। एक भी कॉलोनी नियमन से बाहर न रहे। जो भी बाधाएं हैं, उसे दूर किया जाएगा। शहरी विकास मंत्रालय मिला है तो मैं पूरा समय इसी पर लगाऊंगा। विधायकों और सांसदों को शामिल करके समाधान निकालेंगे। एक गलती की दो सजा नहीं हो सकती है। चाहे गलती अमीर आदमी करे या फिर गरीब, सरकार राहत देगी तो सभी को देगी।
- अरविंदर सिंह लवली, शहरी विकास मंत्री, दिल्ली
---------------
दिल्ली में वर्ष 1993-98 के बीच विपक्षी पार्टी की सरकार रही। अनधिकृत कॉलोनी में कोई काम नहीं हुआ, बल्कि अनधिकृत कॉलोनियाें को तोड़ने और अधिक विकास शुल्क लेने के फैसले किए हैं। कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र का बड़ा हिस्सा पूरा किया है। दिल्ली सरकार नियमन के बाद अनधिकृत कॉलोनियाें का फैक्ट पेपर जारी होगा।
- मुकेश शर्मा, संसदीय सचिव, मुख्यमंत्री
---------------
पहली सूची में नियमित होने वाली कॉलोनियां
पूर्वी दिल्ली 90
उत्तर पूर्वी दिल्ली 124
पश्चिम दिल्ली 186
उत्तरी दिल्ली 29
दक्षिण दिल्ली 119
उत्तर पश्चिम दिल्ली 161
दक्षिण पश्चिम दिल्ली 208

अनधिकृत कॉलोनियों की स्थिति
रजिस्टर कॉलोनी 1639
प्रोविजनल सर्टिफिकेट 1218
मानकों पर खरे पाए 1018
स्ट्रीट लाइट लगी 930
पानी की पाइप लाइन 783
पानी की सप्लाई शुरू 700
सीवर डाले गए 98
सीवर के टेंडर व वर्क 747

Recommended

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
UP Board 2019

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019
ज्योतिष समाधान

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
लोकसभा चुनाव - किस सीट पर बदले समीकरण, कहां है दल बदल की सुगबुगाहट, राहुल गाँधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक रैलियों का रेला, बयानों की बाढ़, मुद्दों की पड़ताल, लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हर लाइव अपडेट के लिए पड़ते रहे अमर उजाला चुनाव समाचार।
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

तलाक के 2 साल बाद छलका अरबाज का दर्द तो वहीं अस्पताल के बाहर स्पॉट हुए मलाइका-अर्जुन

हाल ही में मलाइका अरोड़ा और अर्जुन कपूर मुबंई के लीलावती अस्पताल के बाहर देखे गए। दोनों यहां प्री मैरिटल चेकअप के लिए हॉस्पिटल पहुंचे थे। वहीं मलाइका और अरबाज के तलाक को 2 साल होने वाले हैं और अरबाज ने पहली बार अपने तलाक पर खुलकर बात की।

19 अप्रैल 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election