विज्ञापन
विज्ञापन

5 लाख रुपये तक मिलेगी वित्तीय सहायता

New Delhi Updated Tue, 28 Aug 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
नई दिल्ली। दिल्ली कैबिनेट ने आयोग्य कोष से डेढ़ लाख रुपये की जगह पांच लाख रुपये तक वित्तीय सहायता देने का फैसला किया है। गंभीर बीमारी में इस योजना का लाभ सालाना 2 लाख रुपये कमाने वाले भी उठा सकेंगे। अभी तक यह सीमा राशि एक लाख रुपये थी। इसके अलावा बुराड़ी में 208 करोड़ रुपये की लागत से 200 बिस्तर का अस्पताल बनाने की योजना को मंजूरी दी गई।
विज्ञापन
विज्ञापन
मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने बताया कि दिल्ली आरोग्य कोष की उपयोगिता बढ़ाने की जरूरत महसूस की गयी। इसका मकसद गंभीर बीमारियों और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के परिवारों को सहायता देना है। आरोग्य कोष का रजिस्ट्रेशन 6 सितम्बर 2011 को सोसाइटी के रूप में कराया गया था। इसके तहत गंभीर बीमारी से पीड़ित लोगों को उपचार के लिए वित्तीय सहायता देना है। अभी तक 46 मरीजों को 41.43 लाख रुपये की सहायता दी गई है। अब इसके दिशा-निर्देशों में संशोधन का फैसला किया गया है।
मुख्यमंत्री ने बताया कि सहायता लेने के लिए पात्रता की सीमा वार्षिक पारिवारिक आय एक लाख रुपये से बढ़ाकर 2 लाख रुपये कर दी गई है। सरकारी अस्पताल में चिकित्सा कराई जा सकेगी। डायलसिस के लिए निजी अस्पतालों में भी स्वीकृत दरों पर मंजूरी दी गई है। कोष के तहत आने वाली बीमारियों की सूची में दिल की बीमारियां, कैंसर और गुर्दे की बीमारी के अलावा उन सभी बीमारियों, ऑपरेशन के बाद शामिल किया जाएगा, जिसे संस्था जीवन के लिए खतरा वाली सूची में शामिल करने की अनुमति देगी।

किस बीमारी में कितनी सहायता
कैबिनेट ने फैसला किया है कि दिल, गुर्दे और कैंसर के बीमारियों के लिए वित्तीय सहायता की अधिकतम सीमा 1.5 लाख रुपये से बढ़ाकर 5 लाख रुपये की जाए या उपचार की अनुमानित लागत का 100 फीसदी, जो भी कम हो। गुर्दा बदलने और बोनमैरो तथा लिवर बदलने के लिए भी मिलने वाली सहायता की अधितम राशि 2.5 लाख से बढ़ाकर 5 लाख रुपये की गयी। डायलसिस के लिए अब तक 1.5 लाख रुपये की वित्तीय सहायता मिलती थी। लेकिन अब निजी अस्पतालों में हर बार डायलसिस के लिए दवाओं की लागत मिलाकर 1500 रुपये दिए जाएंगे।

लाभ लेने के लिए जरूरी प्रमाण
आवेदक को दिल्ली का कम से कम तीन वर्ष पूर्व से निवासी होना चाहिए। एसडीएम या राजस्व विभाग की तरफ से जारी आय प्रमाणपत्र भी जरूरी होगा। परिवार में पति-पत्नी और 21 वर्ष के अविवाहित बच्चे शामिल हैं। आवेदन करने की तिथि से पहले दिल्ली में निवास करने के वर्षों के अनुसार पात्रता मानी जाएगी। इसके लिए अधिवास प्रमाण पत्र, राशन कार्ड, मतदाता फोटो पहचान पत्र, आधार, चालक लाइसेंस या मतदाता सूची का अंश, में से किसी एक का होना जरूरी है और इनमें से किसी में प्रमाण के तौर पर आवेदक का चित्र होना चाहिए।

बुराड़ी में 200 बिस्तर के अस्पताल को अनुमति
मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने बताया कि कैबिनेट में 208 करोड़ रुपये की लागत से बुराड़ी के कौशिक एन्कलेव में 200 बिस्तर के अस्पताल बनाने का फैसला किया गया है। इससे स्वास्थ्य सेवाएं मजबूत होंगी। बुराड़ी बड़ी कालोनी है। अस्पताल बनने से लोगों को बड़ी राहत मिलेगी। इस अस्पताल में स्वास्थ्य केन्द्रों से भी मरीजों को भेजा जा सकेगा। अस्पताल में 24 घंटे आपात सेवा, मातृ-शिशु सेवा, शल्य चिकित्सा और विशेष चिकित्सा होगी।

अस्पताल की इमारत हरित अवधारणा के अनुरूप बनेगी।
उन्होंने बताया कि अस्पताल में इमरजेंसी, ओ पी डी, जनरल वार्ड, स्पेशल वार्ड, ऑपरेशन केन्द्र और रिहायशी परिसर होंगे। अस्पताल के लिए 1.6 हेक्टेयर भूमि ली गई है। यहां 48 हजार वर्ग मीटर में कुर्सी क्षेत्र बनाया जाएगा। काम आवंटित किए जाने के 30 महीने में निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा।

Recommended

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
UP Board 2019

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019
ज्योतिष समाधान

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव में किस सीट पर बदल रहे समीकरण, कहां है दल बदल की सुगबुगाहट, राहुल गाँधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक रैलियों का रेला, बयानों की बाढ़, मुद्दों की पड़ताल, लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हर लाइव अपडेट के लिए पढ़ते रहे अमर उजाला चुनाव समाचार।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

जयाप्रदा के समर्थन में उतरे अमर सिंह, आजम खान को लेकर कह दी ये बड़ी बात

रामपुर से भाजपा प्रत्याशी जयाप्रदा का समर्थन करने के लिए अमर सिंह रामपुर पहुंचे। उन्होंने कहा कि अगर जयाप्रदा ये चुनाव हारती हैं तो नारी की अस्मिता हारती है। देखिए और क्या बोले अमर सिंह।

19 अप्रैल 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election