लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Delhi ›   If there is contempt of court, the democratic fabric in the society will be shattered: High Court

कोर्ट की अवमानना होगी तो समाज में लोकतांत्रिक ताना-बाना बिखर जाएगा : हाईकोर्ट

Noida Bureau नोएडा ब्यूरो
Updated Tue, 17 May 2022 01:27 AM IST
If there is contempt of court, the democratic fabric in the society will be shattered: High Court
विज्ञापन
नई दिल्ली। उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को एक व्यक्ति को अदालत के आदेशों के बावजूद चहारदीवारी को ध्वस्त करने पर 45 दिनों के साधारण कारावास की सजा सुनाई है। अदालत ने दोषी पर दो हजार रुपये जुर्माना भी लगाया है।

न्यायमूर्ति सुब्रह्मण्यम प्रसाद ने कहा कि जिस तरह से श्याम सुंदर त्यागी नाम के व्यक्ति ने जेसीबी का उपयोग करके दीवार को गिराया है, वह दर्शाता है कि उसने याचिकाकर्ताओं को आतंकित करने का इरादा रखा था। उसका कृत्य यह भी दर्शाता है कि उसकी नजर में अदालत के आदेशों के प्रति बहुत कम सम्मान है। आरोपी ने अदालत की गरिमा को कम किया और कानून की महिमा को अपमानित किया। अदालत ने कहा अवमानना का उद्देश्य अदालतों की महिमा और गरिमा को बनाए रखना है, क्योंकि अदालतों द्वारा दिए सम्मान और अधिकार एक सामान्य नागरिक के लिए सबसे बड़ी गारंटी हैं। यदि न्यायपालिका को कम आंका गया तो समाज में लोकतांत्रिक ताना-बाना बिखर जाएगा। कोर्ट ने कहा कि आरोपी किसी दया का पात्र नहीं हैं और समाज को एक कड़ा संदेश देना होगा कि अदालत के आदेशों की अवहेलना नहीं की जा सकती। उच्च न्यायालय ने यह फैसला निर्मल जिंदल नाम की एक महिला द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए दिया है। अदालत ने याचिकाकर्ता को इस शर्त पर दीवार बनाने की अनुमति दी थी कि अगर राजस्व विभाग को पता चलता है कि संपत्ति वास्तव में दूसरी तरफ की है तो उसे ध्वस्त कर दिया जाएगा। कोर्ट ने उन्हें पुलिस सुरक्षा भी दी थी। हालांकि 3 जनवरी को श्यामसुंदर त्यागी एक बुलडोजर और कुछ आदमियों के साथ आया और दीवार को गिरा दिया।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00