आप समर्थकों के खिलाफ एक और FIR

अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Sat, 25 Jan 2014 09:02 AM IST
fir against aap supporters
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के रेल भवन के पास धरने के मामले में आप पार्टी समर्थकों के खिलाफ एक और एफआईआर दर्ज की गई है। महिला गेस्ट शिक्षक ने आप समर्थकों पर मारपीट करने, अश्लील इशारे करने और घूरने का आरोप लगाया गया है। हालांकि, किसी को नामजद नहीं किया गया है। मामला अज्ञात लोगों के खिलाफ दर्ज किया गया है। नई दिल्ली जिला पुलिस उपायुक्त एसबीएस त्यागी ने मामला दर्ज करने की पुष्टि की है।

नई दिल्ली जिला पुलिस अधिकारियों के अनुसार, महिला गेस्ट शिक्षक ने शिकायत में कहा है कि वह नौकरी पक्की करने और अन्य मांगों को लेकर धरना स्थल पर केजरीवाल से मिलने आई थी। जब मुख्यमंत्री के नजदीक जाकर ज्ञापन देने की कोशिश कर रही थी तो आप पार्टी समर्थकों ने उसे रोक लिया। धक्का-मुक्की करने के अलावा बदतमीजी भी की गई।

पढ़ें, 'आप के वीडियो' पर तीन पुलिसकर्मी निलंबित

बताया जा रहा है कि केजरीवाल के धरने को लेकर अब तक चार एफआईआर हो चुकी हैं। एक में केजरीवाल व उनके मंत्रियों को नामजद किया गया है जबकि तीन एफआईआर अज्ञात लोगों के खिलाफ दर्ज की गई हैं। इनमें से एक एफआईआर पत्थरबाजी को लेकर, दूसरी रफी मार्ग पर बेरीकेड तोड़ने और तीसरी गेस्ट शिक्षक ने दर्ज कराई है।

पुलिस ने काफी लोगों की पहचान की

20-21 जनवरी को धरने को लेकर दर्ज की गई एफआईआर मामले में पुलिस ने आरोपियों की पहचान शुरू कर दी है। वीडियो फुटेज देखकर चेहरे साफ किए जा रहे हैं। आरोपी लोगों की सूची बनाई जा रही है। पहचान के बाद इनसे पूछताछ की जाएगी। पुलिस ने धरने की वीडियोग्राफी करवाई थी। इसके अलावा चैनलों से भी फुटेज मांगी जा रही है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

करणी सेना बनाने वाले इस नेता की ये है पूरी सियासी कुंडली

धर्म और जाति दोनों का सहारा लेकर कोई अगर पूरे देश में शहर-शहर घूम कर हिंसा को बढ़ावा दे और कोई उसका कुछ न करे। तो सवाल उठता है कि एक ही तरह की हरकतों के लिए देश में अलग अलग कार्रवाई क्यों होती है? कौन है ये लोकेंद्र और क्या है इसका अतीत?

24 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls