लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Delhi ›   Delhi News : So that is why it is raining so much in delhi ncr

Rain Havoc : ...तो इसलिए हो रही है इतनी बारिश, अभी थमने वाला नहीं है दिल्ली-एनसीआर और पश्चिमी यूपी में सिलसिला

अमर उजाला नेटवर्क, नई दिल्ली Published by: दुष्यंत शर्मा Updated Fri, 23 Sep 2022 06:44 AM IST
सार

Delhi News : दिल्ली-एनसीआर में लगातार हो रही बारिश ने जन-जीवन अस्त-व्यस्त और त्रस्त कर दिया है। हैरानी की बात यह है कि मानसून जाने वाला है और एनसीआर से बरसाती बादल जाने का नाम नहीं ले रहे। सवाल है कि आखिर इस समय इतनी बारिश क्यों हो रही है और ऐसा कब तक चलने वाला है।

जारी रहेगा झमाझम का दौर...
जारी रहेगा झमाझम का दौर... - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

दिल्ली-एनसीआर में लगातार हो रही बारिश ने जन-जीवन अस्त-व्यस्त और त्रस्त कर दिया है। हैरानी की बात यह है कि मानसून जाने वाला है और एनसीआर से बरसाती बादल जाने का नाम नहीं ले रहे। सवाल है कि आखिर इस समय इतनी बारिश क्यों हो रही है और ऐसा कब तक चलने वाला है। मौसम विभाग ने इस असमय बरसात का कारण बताया है और साथ ही चेतावनी के तौर पर यह भी जानकारी दी है कि अभी कम से कम आज तो बारिश का सिलसिला थमने वाला नहीं है। 



चक्रवाती स्थिति है वजह
मौसम विभाग के वैज्ञानिक कुलदीप श्रीवास्तव के मुताबिक, उत्तर-पश्चिम मध्यप्रदेश व दक्षिण-पश्चिमी उत्तर प्रदेश के ऊपर निम्न स्तर पर चक्रवाती स्थिति बनने के कारण दिल्ली-एनसीआर व पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बारिश रिकॉर्ड हो रही है। अगले 24 घंटे में भी इस स्थिति के बने रहने की संभावना है। ऐसे में दिल्ली-एनसीआर में बारिश का दौर जारी रहेगा।


मौसम विभाग ने बृहस्पतिवार के लिए यलो अलर्ट जारी किया था, लेकिन दोपहर तक इसे ऑरेंज अलर्ट कर दिया गया। इस कड़ी में सुबह थोड़ी देर धूप निकलने के बाद आसमान में काले बादल छा गए और देर शाम तक रिमझिम बारिश का दौर जारी रहा। पूर्वी दिल्ली के कई इलाकों में दिन में ही अंधेरा छा गया, जिसके बाद तेज बारिश रिकॉर्ड की गई।

आज भी हल्की से लेकर मध्यम स्तर की बारिश के आसार
मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक, शुक्रवार को भी बारिश का दौर जारी रहेगा। हल्की से लेकर मध्यम स्तर की बारिश दर्ज की जा सकती है। विभाग ने इसके लिए यलो अलर्ट भी जारी किया है। अधिकतम तापमान 28 व न्यूनतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया जा सकता है। विभाग के मुताबिक, अगले चार दिनों तक हल्की बारिश का दौर जारी रहेगा। हालांकि,  27 सितंबर से बारिश का दौर थम सकता है और पारा चढ़ने की संभावना है।

दो दिनों तक पूर्वी दिशा से हवाओं का दौर 
भारतीय उष्णदेशीय मौसम विज्ञान संस्थान के मुताबिक, आगामी दो दिनों तक पूर्वी दिशा से हवाओं का दौर जारी रहेगा। इस वजह से दिल्ली-एनसीआर में बारिश की संभावना बनी हुई है। दो दिन बाद हवा की दिशा पूर्वी व उत्तरपूर्वी हो जाएगी। अगले 24 घंटे में मिक्सिंग हाइट 1500 मीटर व वेंटिलेशन इंडेक्स 12 हजार वर्ग मीटर प्रति सेकेंड रह सकता है। वेंटिलेशन इंडेक्स छह हजार से कम  व हवा की रफ्तार 10 किलोमीटर प्रतिघंटा से कम होने पर प्रदूषक नहीं फैलते हैं, जिस वजह से प्रदूषण का स्तर बढ़ता है। हालांकि, अभी बारिश की वजह से दिल्ली-एनसीआर की स्थिति सामान्य है।

बारिश की वजह से दिनभर परेशान रहे लोग
बारिश का दौर दिनभर जारी रहने की वजह से ऑफिस व अन्य कार्यों से बाहर निकले लोग परेशान रहे। दिल्ली के कुछ इलाकों में बीच-बीच में तेज बारिश तो कुछ इलाकों में हल्की बारिश होती रही। दोपहर बाद शुरू हुई बारिश का दौर रिमझिम फुहारों के साथ शाम तक जारी रहा। ऐसे में अपने गंतव्य तक पहुंचने के दौरान लोग भीगते नजर आए। 

पालम में सबसे अधिक रिकॉर्ड की गई बारिश
कल तक  पालम इलाके में सबसे अधिक बारिश रिकॉर्ड की गई। यहां शाम तक 56.5 मिमी बारिश दर्ज हुई है। वहीं, आया नगर में 45.8 मिमी बारिश दर्ज की गई है। लोधी रोड में 27.4 मिमी बारिश हुई है। पालम मानक केंद्र पर सामान्य तौर पर 565.1 मिमी बारिश होती है और अभी तक यहां 383 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई है। लोधी रोड में सामान्य तौर पर 625.4 मिमी बारिश रिकॉर्ड होती है व अभी तक 414.2 मिमी बारिश रिकॉर्ड हुई है। 

बारिश से धुला दिल्ली एनसीआर का प्रदूषण

लगातार दो दिनों से हो रही बारिश ने दिल्ली-एनसीआर का प्रदूषण धो दिया है। बीते 24 घंटे में औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक साफ से लेकर संंतोषजनक श्रेणी में दर्ज किया गया है। 49 एक्यूआई के साथ गाजियाबाद की हवा सबसे साफ दर्ज की गई। वहीं, दिल्ली, फरीदाबाद और नोएडा की हवा 66 एक्यूआई के साथ संतोषजनक श्रेणी में रही। वायु मानक एजेंसी सफर इंडिया का पूर्वानुमान है कि बारिश की वजह से अगले तीन दिन तक हवा की गुणवत्ता बिगड़ने की संभावना नहीं है।

केंद्र की वायु मानक संस्था सफर इंडिया के मुताबिक, बीते 24 घंटे में पीएम 2.5 से बड़े कणों की पीएम 10 में 55 फीसदी हिस्सेदारी रही है। पीएम 10 का स्तर 50 व पीएम 2.5 का स्तर 22 माइक्रोग्राम प्रतिघन मीटर दर्ज किया गया है। इन आंकड़ों के साथ प्रदूषक कणों का स्तर साफ श्रेणी में रहा है। सफर का पूर्वानुमान है कि अगले तीन दिनों तक हवा की रफ्तार 15 से 16 किमी प्रतिघंटा व मिक्सिंग हाइट डेढ़ किलोमीटर तक रह सकती है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक, आगामी दो दिनों तक पूर्वी दिशा से हवाओं का दौर जारी रहेगा। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00