बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

नौ राज्यों से आने वालों पर रहेगी सख्त निगरानी

Noida Bureau नोएडा ब्यूरो
Updated Fri, 30 Jul 2021 12:19 AM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
नोएडा। नौ राज्यों में बढ़ते कोरोना के मामलों को लेकर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है। मणिपुर, सिक्किम, मिजोरम, केरल, मेघालय, नागालैंड, अरुणाचल प्रदेश, त्रिपुरा और महाराष्ट्र से आने वालों के लिए विभाग ने निगेटिव कोरोना रिपोर्ट को अनिवार्य कर दिया है। इन राज्यों से आने वालों लोगों के लिए चार दिन पहले तक की रिपोर्ट को मान्य किया गया है। साथ ही, वैक्सीन की दोनों डोज लगवाने वाले प्रमाण पत्र दिखाकर जिले में प्रवेश कर सकेंगे। यह नियम फिलहाल 1 से 15 अगस्त तक लागू होगा।
विज्ञापन

दिल्ली व गाजियाबाद से गौतमबुद्धनगर सटा हुआ है, ऐसे में विशेष एहतियात बरतने के दिशा-निर्देश दिए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि रेलवे स्टेशनों और बस अड्डों पर बाहर से आने वाले मरीजों की जांच की जाएगी। आरटी-पीसीआर की निगेटिव रिपोर्ट ही मान्य होगी। 9 राज्यों से आने वाले लोग जिस दिन जिले में प्रवेश करेंगे, उससे चार दिन पहले तक की रिपोर्ट मान्य होगी। यानी, 1 अगस्त को आने वाले लोग 28 जुलाई की रिपोर्ट दिखा सकेंगे।

आपके पड़ोस में कोई आया तो तुरंत दें जानकारी
स्वास्थ्य विभाग ने अपील की है कि कोरोना की संभावित तीसरी लहर को रोकने में जिले की जनता सहयोग करे। उक्त नौ राज्यों से आने वालों की सूचना जिले का कोई भी निवासी सर्विलांस अधिकारी के मोबाइल नंबर-9971208271 पर दे सकता है।
फिर बढ़े संक्रमित, प्रदेश में पहले नंबर पर
कोराना संक्रमितों का आंकड़ा जिले में फिर बढ़ा है। बृहस्पतिवार को 24 घंटे में कोरोना के 8 नए मामले सामने आए हैं, जबकि एक मरीज स्वस्थ होकर अस्पताल से घर लौटा है। जिले में सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 37 हो गई है। वहीं, 62,702 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। आठ नए मामलों के कारण जिला प्रदेश में पहले स्थान पर रहा, जबकि 6 केस के साथ मुजफ्फरनगर दूसरे और 5 के साथ प्रयागराज तीसरे स्थान पर रहा।
कोविड अस्पताल के 400 बेड पर मिलेगा ऑक्सीजन
नोएडा। सेक्टर-39 स्थित कोविड अस्पताल में अब तक 200 बेड पर ही इलाज की सुविधा थी। अब भविष्य में जरूरत पड़ने पर इसकी क्षमता 400 तक बढ़ाई जा सकती है। बढ़े बेड के लिए अस्पताल में ऑक्सीजन सुविधा का इंतजाम कर लिया गया है। प्रशासन के सहयोग से पीएसए (हवा से ऑक्सीजन बनाने वाले) प्लांट स्थापित किए गए हैं। इनका ट्रायल किया जा चुका है। सीएमएस डॉ. सुषमा चंद्रा ने बताया कि बजट के अभाव में आक्सीजन प्लांट का कार्य रुका हुआ था। प्रशासन की तरफ से बजट जारी होेने के बाद काम पूरा हो गया है। अस्पताल में 30 बेड का पीडियाट्रिक आइसीयू और 70 बेड का आइसोलेशन वार्ड भी आरक्षित किया गया है।
जिले में तीसरी लहर की रोकथाम के लिए हर संभव कदम उठाए जा रहे हैं। 9 राज्यों के लोगों के प्रवेश को लेकर जो दिशा-निर्देश जारी हुए हैं, उनका पालन कराया जाएगा।
-डॉ. सुनील कुमार शर्मा, सीएमओ

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X