२८वें मिनट में कर दी लूट---अक्षय कालरा

Noida Bureauनोएडा ब्यूरो Updated Wed, 28 Oct 2020 01:51 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
‘आज काम अच्छा हो जाएगा’ कहकर 28वें मिनट में कर दी लूट
विज्ञापन

नोएडा (सुशांत समदर्शी)। गाजियाबाद के कौशांबी से लूटपाट करने के लिए एक्सेंट कार से निकले पांच बदमाशों ने 2-3 सितंबर की रात को अक्षय कालरा को सेक्टर-63 में अकेला चाय पीते देखा और चंद सेकेंड में क्रेटा लूटने की साजिश रच ली। क्रेटा के साथ अक्षय को देख गिरोह सरगना कुलदीप ने अन्य चार साथियों से कहा, ‘आज काम अच्छा हो जाएगा’। इसके बाद अक्षय की कार के पीछे लग गए।
सबसे पहले पहले बदमाशों ने फोर्टिस अस्पताल की सर्विस लेन पर ओवरटेक कर कार लूटने का प्रयास किया, लेकिन सामने से एक वैगनआर आ गई। इसके बाद सेक्टर-62 में साजिश रचने के 28वें मिनट में बदमाशों ने एक्सेंट कार से ओवरटेक कर ईंट से क्रेटा के शीशे को तोड़कर रोक लिया। डरकर कार से उतरकर अक्षय भागने लगा। इसी बीच वह गिर गया और बदमाशों ने उसके सिर पर ईंट से हमलाकर लहूलुहान कर दिया और क्रेटा लूटकर गाजियाबाद की तरफ भाग गए। जिस एक्सेंट कार से कुलदीप ने साथियों के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया। वह उसकी बहन के नाम से रजिस्टर्ड है। यह कार व्यावसायिक है। इस कार को कुलदीप का जीजा चलाता है, लेकिन बीच-बीच में कुलदीप भी चलाता था। ये लोग घटना के बाद फर्जी नंबर प्लेट भी कार में लगा लेते थे। इनके पास से फर्जी नंबर प्लेट भी बरामद हुई है।
ईडीएम मॉल के पास पी थी शराब
घटना की रात कुलदीप अपने भाई विकास और बदमाश सोनू, शमीम व अजय के साथ रात आठ बजे कौशांबी से घर से निकला। आरोपियों ने ईडीएम मॉल के पास दिल्ली में शराब पी और लूटपाट करने के लिए नोएडा आ गए। इस दौरान कुलदीप एक्सेंट कार चला रहा था। शमीम आगे बैठा था। अजय, विकास व सोनू पीछे बैठे थे। अक्षय से लूट करने के बाद कुलदीप क्रेटा चलाकर गाजियाबाद ले गया था। विकास एक्सेंट चला रहा था।
कार में ईंट लेकर आए थे बदमाश
जब ये बदमाश एक्सेंट कार से गाजियाबाद से ईडीएम मॉल शराब पीने गए थे। तब वहां कार का एक्सल खराब हो गया था। इन लोगों ने एक्सल के बीच में ईंट रख दी थी। कुछ दूर आगे कार के एक्सल को ठीक कराया और ईंट निकालकर कार में रख ली। इसी ईंट से सेक्टर-62 में क्रेटा का शीशा तोड़ा और अक्षय के सिर पर वार किया था।
45 मिनट के गूगल मैप से मदद
पुलिस ने जब इस ब्लाइंड केस की जांच की तो पहले कुछ पता नहीं चला। इसके बाद पुलिस ने गूगल मैप का सहारा लिया तो घटना की रात घर से निकलने से लेकर घटना होने तक का गूगल मैप पुलिस ने निकाला। 45 मिनट के गूगल मैप से पता चला कि अक्षय उस रात 11:07 मिनट पर घर से निकला था। इसके बाद वह फोर्टिस से आगे जाकर यू टर्न लिया और सेक्टर-63 इलेक्ट्रॉनिक सिटी मेट्रो स्टेशन के आगे चाय की दुकान पर करीब 13 मिनट रुका था। यहीं पर बदमाशों ने रेकी की और यहां से निकलने के बाद सात से आठ मिनट के बाद वारदात को अंजाम दिया था।
क्रेटा का ही नंबर लगाया था लूटी कार में
एसीपी रजनीश वर्मा ने बताया कि बदमाशों ने लूट के बाद क्रेटा से नंबर प्लेट हटा ली थी और दूसरी क्रेटा का नंबर लगा दिया था। पुलिस को इन बदमाशों ने पास से कई फर्जी नंबर प्लेट मिली हैं। इनमें यूपी शासन लिखा हुई नंबर प्लेट भी शामिल है। इन बदमाशों ने पिछले दिनों दिल्ली के मयूर विहार में भी होंडा सिटी लूटी थी, लेकिन आगे पुलिस की चेकिंग होने से लूटी गई होंडा सिटी वहीं छोड़ दी थी।
पुलिस कमिश्नर की पहली पीसी
कमिश्नरेट बनने के बाद पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह ने किसी घटना के वर्कआउट को लेकर पहली बार प्रेस कांफ्रेंस की। मंगलवार को आलोक सिंह ने कोतवाली सेक्टर-58 पहुंचकर इस सनसनीखेज घटना का खुलासा करते हुए मीडिया को ब्रीफ किया। इस दौरान उन्होंने अक्षय के पिता को सांत्वना दी। पुलिस कमिश्नर ने कहा कि इस गिरोह से जुड़े अन्य लोगों और अपराधियों को शरण देने वालों की पहचान करने के बाद कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान पुलिस कमिश्नर ने डीसीपी नोएडा राजेश एस, एडीसीपी रणविजय सिंह और एसीपी रजनीश वर्मा की सराहना करते हुए पीठ थपथपाई।
दो-दो सगे भाई गिरोह में शामिल
गिरोह के सात बदमाशों में दो-दो सगे भाई हैं। सरगना कुलदीप का सगा भाई विकास उर्फ विक्की है। वहीं, गिरफ्तार शमीम पैकर्स और मूवर्स का काम करता है। उसका भाई मोहम्मद नसीम को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है।
गाजियाबाद और दिल्ली में खड़ी रही कार, पुलिस अंजान
सेक्टर-62 से कार लूटने के बाद बदमाश सबसे पहले कौशांबी गए। गाजियाबाद में करीब चार घंटे तक ये लोग लूटी गई क्रेटा से घूमते रहे। इसके बाद क्रेटा को वैशाली में छिपा दिया। पुलिस से बचने के लिए क्रेटा को दिल्ली के ओखला ले गए। ओखला में करीब 15 दिन तक प्राइवेट पार्किंग में तिरपाल डालकर कर रखी गई। इसके बाद यहां से क्रेटा लेकर खिचड़ीपुर गए। वहां भी कई दिनों तक पार्किंग में तिरपाल से ढककर कार रखी। वहां से फिर कौशांबी लेकर आ गए यानी घटना के 52 दिनों तक लूटी गई क्रेटा गाजियाबाद व दिल्ली में रही, लेकिन पुलिस को पता नहीं चला।
सीसीटीवी की मदद से पुलिस पहुंची नजदीक
हाईप्रोफाइल हत्याकांड के बाद क्रेटा लूट की घटना सुर्खियों में थी। पुलिस के लिए यह एक ब्लाइंड केस था। घटना मेें पुलिस को सबसे अधिक मदद सीसीटीवी फुटेज से मिली। सेक्टर-62 में मिठास और आगे के सीसीटीवी फुटेज से पता लग गया था कि कार एनएच-24 की तरफ गई है। इसके बाद नोएडा, दिल्ली, गाजियाबाद व मेरठ की कई ऐसे सीसीटीवी फुटेज निकाले गए जहां पर या तो कबाड़ी का काम होता है या गाड़ियों की खरीद बिक्री होती है। लूटी गई क्रेटा पश्चिमी यूपी के एक शहर में दिख गई थी। इसके बाद पुलिस को यह पता लग गया था कि अब क्रेटा बेचने के चक्कर में बदमाश लगे हैं। इसके बाद से यह गिरोह पुलिस के रडार पर आ गया था।
बदमाशों के काम और घटना में भूमिका
1. कुलदीप उर्फ हैप्पी- गिरोह सरगना 12वीं पास है और कैब चलाता है। कृष्णा नाम से गाजियाबाद मेें जेल जा चुका है। इस पर सात मुकदमे हैं। इसने ही अक्षय पर ईंट से वार किया था।
2. विकास उर्फ विक्की- 10वीं पास, लूटपाट करने का काम। कुलदीप का सगा भाई है। इस पर भी नोएडा-गाजियाबाद में सात मुकदमे दर्ज हैं।
3. सोनू सिंह- दिल्ली की एक कंपनी में नौकरी करता था। लॉकडाउन में नौकरी छूटी तो मौसेरे भाई कुलदीप के पास गाजियाबाद आ गया और लूटपाट करने लगा। इस पर तीन मुकदमे दर्ज हैं।
4. शमीम शेख- इसकी पैकर्स एंड मूवर्स की फर्म है। घटना के दिन यह साथ था और लूटी क्रेटा छिपाने में मदद की।
5. अजय कुमार राठौर- कौशांबी में मोबाइल की दुकान चलाता है। घटना में शामिल था। क्रेटा छिपाने में मदद की।
6. मोहम्मद नसीम- यह शमीम का सगा भाई है। पैकर्स एंड मूवर्स फर्म में भाई के साथ काम करता है। लूटी क्रेटा बेचने के प्रयास में शामिल था।
7. वासुकीनाथ- बीटेक पास है। यह अन्य आरोपियों का दोस्त है। इसने क्रेटा बेचने के लिए कई लोगों से संपर्क किया और मदद की।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X