नोएडा एयरपोर्ट के दूसरे चरण का काम पकड़ेगा रफ्तार

Noida Bureau नोएडा ब्यूरो
Updated Wed, 19 Feb 2020 01:48 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
नोएडा एयरपोर्ट के दूसरे चरण का काम पकड़ेगा रफ्तार
विज्ञापन

ग्रेटर नोएडा। उत्तर प्रदेश सरकार ने मंगलवार को वित्तीय वर्ष 2020-21 का बजट पेश किया। इसमें नोएडा एयरपोर्ट के लिए 2000 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। यह रकम नोएडा एयरपोर्ट के दूसरे चरण की जमीन के अधिग्रहण पर खर्च होगी। वहीं, चार से छह रनवे बनाए जाएंगे।
दरअसल, नोएडा एयरपोर्ट दो चरणों में बनना है। पहले चरण में दो रनवे बनेंगे, जिसके लिए ज्यूरिख कंपनी का चयन हो चुका है। अप्रैल में इसकी नींव रखे जाने के आसार हैं। पहले चरण में 1334 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण हो चुका है। इसके एवज में जिला प्रशासन ने करीब 3167 करोड़ रुपये का मुआवजा बांटा। इसमें से 37.5-37.5 फीसदी रकम प्रदेश सरकार व नोएडा प्राधिकरण ने दी है। शेष 12.5-12.5 फीसदी रकम ग्रेटर नोएडा व यीडा ने दी है। 837 करोड़ रुपये पुनर्वास व अन्य के लिए भी इसी अनुपात में प्रदेश सरकार, नोएडा, ग्रेटर नोएडा व यीडा ने दिए हैं। दो रनवे का काम शुरू होने की तिथि से तीन साल में पूरा हो सकेगा। 2023 में उड़ान सेवा शुरू करने का लक्ष्य है। वहीं, दूसरे चरण में एयरपोर्ट को चार से छह रनवे बनाने की तैयारी भी शुरू हो गई है। प्रदेश सरकार ने जमीन अधिग्रहण के लिए बजट में 2000 करोड़ रुपये का प्रावधान कर दिया है। इस रकम को दूसरे चरण की जमीन खरीदने में इस्तेमाल किया जाएगा। प्राइस वाटरहाउस कूपर (पीडब्ल्यूसी) कंपनी इसकी तकनीकी रिपोर्ट तैयार कर रही है। इसके बाद पता चल सकेगा कि दूसरे चरण के चार से छह रनवे के लिए कितनी जमीन ली जाएगी। नोएडा एयरपोर्ट और एयरोसिटी के लिए पांच हजार हेक्टेयर जमीन आरक्षित है।

परिसंपत्तियों के लिए बांटे 11.98 करोड़
05 गांवों के 272 किसानों के खाते में भेजी रकम
जेवर (संवाद)। एयरपोर्ट के लिए जमीन अधिग्रहण के बाद किसानों को उनके पुनर्वासन और पुनर्व्यस्थापन के लिए प्रशासन ने मुआवजा राशि मंगलवार से बांटनी शुरू कर दी है। यह राशि प्रशासन सीधे किसानों के बैंक खातों में आरटीजीएस के माध्यम से भेज रहा है। मंगलवार को जिलाधिकारी ने इसकी शुरुआत की और पांच गांव के 272 किसानों के बैंक खातों में करीब 12 करोड़ की मुआवजा राशि भेज दी है। नोएडा एयरपोर्ट के प्रभारी अधिकारी डिप्टी कलेक्टर अभय कुमार सिंह ने बताया कि नोएडा एयरपोर्ट के लिए अधिगृहीत जमीन से जुड़े किसानों को परिसंपत्तियों मकान, पेड़, बोरिंग, नौकरी के बदले मिलने वाली पांच लाख रुपये की रकम दी गई है। पहले दिन रोही के 125, दयानतपुर के 91, किशोरपुर के 22, रनहेरा के 32 किसानों व पारोही के 2 किसानों को 11.98 करोड़ रुपये मुआवजा बांटा गया। बचे हुए किसानों की भी मुआवजा राशि उनके खाते में भेज दी जाएगी। एक माह में सभी किसानों के खाते में परिसंपत्तियों की राशि पहुंच जाएगी।
एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट
बजट में नोएडा एयरपोर्ट के लिए 20 हजार करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है, जो एशिया का सबसे बड़े एयरपोर्ट के रूप में जाना जाएगा। इससे आसपास के क्षेत्रों में निवेश की भरमार होगी। दुनिया का हर निवेशक अब उत्तर प्रदेश में निवेश करना चाहता है। उत्तर प्रदेश सरकार ने 5.12 लाख करोड़ रुपये का बजट पेश किया है जो उत्तर प्रदेश के इतिहास का सबसे बड़ा बजट है।
- धीरेंद्र सिंह, जेवर विधायक

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X