कोविड अस्पताल में मिलेंगी विश्वस्तरीय सुविधाएं

Noida Bureauनोएडा ब्यूरो Updated Sun, 09 Aug 2020 01:03 AM IST
विज्ञापन
नोएडा सेक्टर-39 स्थित कोविड अस्पताल का उद्घाटन कर निरीक्षण करते  मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ ।
नोएडा सेक्टर-39 स्थित कोविड अस्पताल का उद्घाटन कर निरीक्षण करते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ।

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
कोविड अस्पताल में मिलेंगी विश्वस्तरीय सुविधाएं
विज्ञापन

नोएडा। कोरोना संकट को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मरीजों को राहत दिलाने के फैसलों को अमलीजामा पहनाने के प्रयास तेज कर दिए हैं। इसी कड़ी में पूरे मेरठ जोन में कोरोना संकट की मार झेल रहे मरीजों की सुविधा के लिए नोएडा सेक्टर-39 में विश्वस्तरीय अत्याधुनिक सुविधाओं वाले कोविड अस्पताल की शुरुआत की गई है।
अस्पताल के उद्घाटन के बाद मुख्यमंत्री ने यहां मेरठ जोन के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। इसमें प्रशासन, स्वास्थ्य, प्राधिकरण के अधिकारियों ने अपने जिले की कोरोना मामलों स्थिति से मुख्यमंत्री को अवगत कराया। उन्होंने जोन के सभी जिलों में रिकवरी रेट, डेथ रेट और मरीजों की संख्या पर चर्चा की। साथ ही, कोरोना गाइडलाइन की सख्ती से पालन, इलाज की बेहतर व्यवस्थाओं, जांच संख्या बढ़ाने आदि के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया। साथ ही, सीएम ने अस्पताल के डॉक्टरों से बात कर यहां की सुविधाओं और व्यवस्थाओं के विषय में भी जानकारी ली और इस नवनिर्मित अस्पताल के सभी वार्डों में घूमकर जायजा लिया। मुख्यमंत्री ने पहले से हुई घोषणाओं के साथ ही और अधिक सुविधाएं बढ़ाने और त्वरित निर्णयों के निर्देश दिए।
इस दौरान सांसद डॉ. महेश शर्मा, राज्य सभा सांसद सुरेंद्र नागर, विधायक पंकज सिंह, विधायक तेजपाल नागर, विधायक धीरेंद्र सिंह, भाजपा नोएडा महानगर अध्यक्ष मनोज गुप्ता के अलावा यहां के नोडल अफसर नरेंद्र भूषण, जिलाधिकारी सुहास एलवाई व पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह के अलावा मेरठ मंडल के अधिकारी मौजूद रहे।
तैयारियों में जुटा रहा सरकारी अमला
मुख्यमंत्री की नाराजगी से बचने के लिए सरकारी अधिकारियों ने जीतोड़ कोशिशें कीं। मुख्यमंत्री के दौरे से पहले शुक्रवार को अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने भी कोविड अस्पताल पहुंचकर व्यवस्थाओं को जायजा लेकर खामियों को दूर कराया था। डीएम और सीडीओ भी समय-समय पर अस्पताल का चक्कर लगाते रहे।
400 बेड हैं प्रस्तावित
कोविड अस्पताल में 400 बेड की क्षमता है। फिलहाल यहां पर सिर्फ 168 बेड पर ही कोरोना के मरीज भर्ती होंगे। यूपी सरकार के स्वास्थ्य राज्यमंत्री अतुल गर्ग ने बताया कि अगस्त के अंत तक 200 बेड शुरू हो जाएंगे। साथ ही, 400 बेड की व्यवस्था भी जल्द मिलेगी। माना जा रहा है कि लंबे समय से प्रस्तावित इस अस्पताल में समय से डॉक्टरों की नियुक्ति में आई अड़चनों और भर्ती घोटाले के कारण बेड़ों की संख्या कम है। वहीं, स्वास्थ्य मंत्री ने क हा कि जरूरत के अनुसार पर्याप्त संख्या में बेड हैं। आवश्यकता के अनुसार इन संख्या लगातार बढ़ाई जाएगी। यहां प्रथम तल पर आइसीयू व इमरजेंसी और पांचवें तल पर आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है। इसके अलावा द्वितीय तल पर डायलिसिस यूनिट व सीटी स्कैन की सुविधा है। इसके लिए लखनऊ, सीएमओ व सीएएस के स्तर से चिकित्सकों का गठन किया गया है।
यह होगी व्यवस्था
मुख्यमंत्री ने अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस इस अस्पताल को एल 2 और एल 3 श्रेणी मरीजों के इलाज में उपयोग करने के लिए कहा है। पहले इसमें एल 1, एल 2 और एल 3 तीनों श्रेणियों को शामिल करने की बात कही गई थी। यहां 28 बेड के तीन आइसीयू, 9 बेड की एक इमरजेंसी, 2 वार्ड 65-65 बेड, डायलिसिस यूनिट सीटी स्कैन लैब, 10 वेंटिलेटर आदि की सुविधाएं होंगी। साथ ही, कोविड इलाज में उपयोगी प्लाज्मा, यूवी चैंबर, मेडिकल गैस पाइपलाइन सिस्टम, सेंट्रल मॉनिटरिंग यूनिट आदि की व्यवस्थाएं होंगी।
कोविड अस्पताल पर एक नजर
- अस्पताल को एल2 और एल3 श्रेणी का बनाने की योजना। 168 बेड से अस्पताल की शुरुआत हुई। अगस्त के अंत तक 200 बेड और बाद में 400 बेड की व्यवस्था होगी।
- 28 डॉक्टरों और 80 से अधिक पैरा मेडिकल स्टाफ हैं नियुक्त। 29 गहन चिकित्सा केंद्र बने हैं।
- कोरोना से जुड़ी नवीनतम तकनीक के साथ, सीटी स्कैन, डायलिसिस जैसी कई जांचों कीं होगी सुविधा।
- पूरे मेरठ जोन के सभी जिलों से गंभीर मरीजों को किया जाएगा भर्ती।
- अभी और बढ़ सकती हैं सुविधाएं, विश्वस्तरीय मॉडल के अनुसार कार्य पर दिया जोर।
- यूपी के सबसे बेहतरीन अस्पतालों में शामिल होने का प्रयास, एम्स की तर्ज पर होगा काम।
गौतमबुद्ध नगर-गाजियाबाद के प्रयास सराहनीय
कोविड-19 को लेकर मंडल के सभी जनपदों की गहन समीक्षा मुख्यमंत्री ने की। उन्होंने कहा कि गौतमबुद्ध नगर व गाजियाबाद करोना को लेकर अत्यंत संवेदनशील जनपद रहे हैं, लेकिन यहां पर प्रशासन पुलिस व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के संक्रमण से लोगों को सुरक्षित करने के लिए वर्तमान तक जो प्रयास किए हैं वह सराहनीय हैं। मुख्यमंत्री ने एनसीआर के सभी अधिकारियों का हौसला बढ़ाते हुए आगे भी इसी प्रकार प्रयास जारी रखने का आह्वान किया।
मुख्यमंत्री ने दिए अपराधियों से सख्ती से निपटने के निर्देश
मुख्यमंत्री ने कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक में कहा कि गौतमबुद्ध नगर जिले में कमिश्नरी सिस्टम लागू होने से अपराधों पर अंकुश लगा है। उन्होंने अधिकारियों को सख्त लहजे में हिदायत दी कि अपराधियों व माफिया के खिलाफ और सख्त रुख अपनाया जाए। कोई भी अपराधी जेल से बाहर न रहने पाए। वहीं, मुख्यमंत्री ने मेरठ मंडल के सभी जनपदों के नोडल अधिकारियों व अन्य अधिकारियों से भी कानून व्यवस्था की जानकारी ली।

Trending Video

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X
  • Downloads

Follow Us