बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

अपराजिता... निडरता के साथ दें मनचलों को मुंहतोड़ जवाब

Ghaziabad Bureau गाजियाबाद ब्यूरो
Updated Tue, 09 Mar 2021 12:52 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
अपराजिता... निडरता के साथ दें मनचलों को मुंहतोड़ जवाब
विज्ञापन

गाजियाबाद। घर से कॉलेज या ट्यूशन आते जाते समय आपके साथ कोई छेड़छाड़ करता है तो आपको निडरता के साथ उसे जवाब देना चाहिए। आप जरा भी डरे तो सामने वाला व्यक्ति आप पर हावी हो जाएगा। इससे आपके साथ किसी भी वारदात को अंजाम दे सकता है इसलिए अलर्ट रहना चाहिए, जिससे सामने वाले को मुंहतोड़ जवाब दे सकें। छात्राओं को आत्मरक्षा के टिप्स दिए गए।
महिला दिवस के उपलक्ष्य में आईटीएस डेंटल कॉलेज मुरादनगर में अपराजिता कार्यक्रम के तहत छात्राओं को विशेषज्ञ संतोष कुमार एवं पूनम रावत ने आत्मरक्षा के बारे में समझाया। उन्होंने कहा कि छात्राएं अपने आपको कमजोर समझती हैं जबकि ऐसा नहीं है वह लड़कों से कहीं ज्यादा मजबूत हैं। बस उन्हें हिम्मत और निडरता की आवश्यकता है। हिम्मत आने पर वह किसी को भी मुंहतोड़ जवाब दे सकती हैं। उन्होंने छात्राओं को धारदार हथियारों के माध्यम से हमला कर अभ्यास कराया। इस दौरान उन्होंने छात्राओें को समझाया कि वे किस-किस तरह से अपना बचाव कर सकती हैं। एक-एक कर छात्राओं ने अभ्यास किया और खुद को बचाने की तकनीक आजमाई। साथ ही हमला करने वाले व्यक्ति पर वह हमलावर दिखीं। विशेषज्ञ ने कहा कोई भी चीज आत्मविश्वास से बड़ी नहीं है। अगर हमारे अंदर आत्मविश्वास है तो हम किसी को भी हरा सकते हैं। उन्होंने छात्राओं को पेन से हमला करना सिखाया। छात्राओं ने भी सुरक्षा से संबंधित विभिन्न सवाल पूछे, जिसका दोनों विशेषज्ञों ने अभ्यास करके जवाब दिया।

हर समय रहें अलर्ट
विशेषज्ञों ने कहा कि आप कहीं अकेले में खाना खा रहे हैं, वहां भी आपको बहुत ही सतर्क रहने की आवश्यकता है। कोई भी अपराधी आप पर हमला कर सकता है। नजरें आपकी हर समय अलर्ट रहनी चाहिए। ऐसा न हो आप एक स्थान पर बैठे हुए हैं और आपका ध्यान एक ही तरफ है। कुछ छोटी-छोटी चीजें हमें अपराध से बचा सकती हैं।
कन्या भ्रूण हत्या रोकने और महिला सम्मान पर दिया विशेष जोर
छात्राओं ने महिला दिवस पर कन्या भ्रूण हत्या रोकने और महिलाओं को सम्मान दिलाने पर जोर दिया। उन्होंने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से महिलाओं की पढ़ाई पर जोर दिया। कहा कि शिक्षा से ही महिला सम्मान पा सकती हैं इसलिए ज्यादा से ज्यादा शिक्षा ग्रहण करें।
बोली छात्राएं, अब डटकर करेंगे सामना
इस कार्यक्रम से हमारा डर निकल गया है। हमें सीखने को मिला की सड़क पर चलते समय नजरों को अलर्ट रखना है। जिससे अपराधी को समय रहते जवाब दे सकें। - आकांक्षा
रास्ते में हम पर कोई हमला कर रहा है तो हमें उससे लड़ाई करनी चाहिए और शोर मचाना चाहिए। अगर कोई हमें बचाने नहीं आता है तो हमारा आत्मविश्वास इतना होना चाहिए कि अपराधी खुद ही भाग जाए। - निहारिका
भी अपराधी हमें बता कर तो अटैक करेगा नहीं। इस कार्यक्रम के माध्यम से हमें सीख मिली है कि अलर्ट रहने से हम स्वयं के अलावा अन्य लोगों को भी अपराध होने से बचा सकते हैं।
अनुष्का
मानसिक रूप से मजबूत होना हमें ज्यादा ताकतवर बनाता है। अगर हम दिमाग से मजबूत होंगे तो सामने वाले से लड़ सकते हैं। हमारी हिम्मत और निडरता को देखकर आरोपी खुद ही भाग जाएगा। - नंदिता
इस कार्यक्रम ने छात्राओं का आत्मविश्वास बढ़ाया है। अब रास्ते में आते जाते समय हर मनचले, वह असामाजिक तत्वों को मुंहतोड़ जवाब दे सकती हैं। महिला सुरक्षा की दृष्टि को ध्यान में रखते हुए इस तरह के आयोजन होते रहने चाहिए। - अर्पित चड्ढा, वाइस प्रेसिडेंट, आईटीएस कॉलेज मुरादनगर

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X