लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Delhi ›   Delhi NCR ›   Fine for not wearing mask in Delhi ends after corona cases dops

Delhi Corona: दिल्ली में मास्क नहीं लगाने पर जुर्माना खत्म, कोरोना मामले बढ़ने पर लागू हुआ था नियम

एएनआई, नई दिल्ली Published by: अनुराग सक्सेना Updated Tue, 04 Oct 2022 09:02 PM IST
सार

इससे पहले अगस्त में कोरोना के मामलों में अचानक उछाल आने के बाद दिल्ली सरकार ने इसपर लगाम लगाने के लिए सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं पहनने पर 500 रुपये का जुर्माना लगाने का आदेश दिया था।

नई दिल्ली के खान मार्केट में मास्क पहने घूमते लोग
नई दिल्ली के खान मार्केट में मास्क पहने घूमते लोग - फोटो : PTI-फाइल फोटो
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

दिल्ली में कोरोना के घटते मामलों को देखते हुए मास्क न पहनने पर लगने वाला 500 रुपए का जुर्माना जल्द हट जाएगा। डीडीएमए ने इस पर सहमति दी है। अगले एक-दो दिनों में स्वास्थ्य विभाग इसे लेकर आदेश जारी कर सकता है। बैठक में सहमति बनी है कि जुर्माना हटाने के साथ कोविड मरीजों के लिए दिल्ली में तीन जगहों पर बनाए गए कोविड केयर सेंटर को खत्म कर जगह खाली कर संस्थाओं को वापस किया जाए।



दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) की बैठक के बाद दिल्ली के मुख्य सचिव का कहना है कि यह सर्वसम्मति से सहमति व्यक्त की गई कि मास्क पहनना कोविड के उचित व्यवहार को बनाए रखने में उपयोगी है। फिर भी यह सहमति हुई कि अनिवार्य रूप से मास्क पहनने के आदेश के तहत महामारी अधिनियम को 30 सितंबर 2022 से आगे नहीं बढ़ाया जा सकता। ऐसे में सार्वजनिक स्थानों पर मास्क न पहनने पर लगने वाला 500 रुपए का जुर्माना 30 सितंबर के बाद से वापस लिया जाएगा।


साथ ही इस बात पर सहमति हुई कि जिस भूमि पर 03 कोविड केयर सेंटर (सीसीसी) बने हैं, उन्हें खाली कर वापस सौंपा जाएगा। इसमें कहा गया है कि राधा स्वामी सत्संग, छतरपुर और बुराड़ी स्थित सावन किरल व संत निरंकारी को संबंधित संस्थाओं को वापस सौंपा दिया जाएगा। साथ ही यह भी कहा गया है कि इन कोविड केयर सेंटरों में चिकित्सा उपकरण और मेडिकल स्टोर को उन अस्पतालों में स्थानांतरित किया जाएगा जहां इसकी आवश्यकता होगी।

ऐसे उपकरणों और भंडारों की उचित सूची तैयार की जाएगी।  कोविड अस्पतालों में स्वीकृत रिक्त पदों के लिए संविदा/आउटसोर्स कर्मचारियों की नियुक्ति केवल कोविड अस्पतालों में 31 दिसंबर, 2022 तक करने की अनुमति होगी। वहीं डीटीसी द्वारा आउटसोर्सिंग के आधार पर 12 ऑक्सीजन टैंकर संचालित किए जा सकते हैं। आउटसोर्सिंग के आधार पर 6000 ऑक्सीजन सिलेंडरों का भी उपयोग किया जाना चाहिए।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00