विज्ञापन
विज्ञापन

अमर उजाला एक्सक्लूसिवः दिल्ली वाले हुए अनुशासित, चालान 79 फीसदी कम 

पुरुषोत्तम वर्मा, नई दिल्ली Updated Wed, 18 Sep 2019 06:45 AM IST
demo pic
demo pic - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें
संशोधित मोटर वाहन अधिनियम के तहत जुर्माने की राशि में भारी इजाफे के डर से दिल्लीवासी अब अनुशासित हो रहे हैं। लोग अब ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन नहीं कर रहे हैं। 
विज्ञापन
दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के डाटा के अनुसार संशोधित मोटर वाहन अधिनियम लागू होने से दिल्ली में चालान करीब 79 फीसदी कम हो गए हैं। बाहरी दिल्ली में सबसे ज्यादा 81.80 फीसदी चालान कम हुए हैं। दिल्ली ट्रैफिक अधिकारियों की मानें तो जुर्माने की बढ़ी राशि के कारण लोग अब ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन नहीं कर रहे हैं।

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि राजधानी में एक सितंबर से लेकर 15 सितंबर तक सिर्फ 7,3712 चालान हुए हैं, जबकि 16 अगस्त से लेकर 31 अगस्त तक दिल्ली में 348272 चालान हुए थे। अगस्त महीने के आखिरी 15 दिनों से सितंबर महीने के शुरुआती 15 दिनों की तुलना करें तो 274560 चालान कम हुए हैं। 

इस हिसाब से दिल्ली में 15 दिनों में ही 78.84 फीसदी चालान कम हो गए हैं। चालानों की संख्या में जो सबसे ज्यादा गिरावट बाहरी व नई दिल्ली रेंज में आई है। बाहरी दिल्ली में 81.80 और नई दिल्ली रेंज में 81.08 फीसदी चालान में कमी आई है। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस की छह रेंज हैं। 

सेंट्रल रेंज में 16 अगस्त से लेकर 31 अगस्त तक 51318 चालान हुए थे, जबकि एक सितंबर से लेकर 15 सितंबर तक सिर्फ 14485 चालान हुए हैं। सेंट्रल रेंज में सितंबर महीने के पहले 15 दिनों में चालानों में से 71.37 फीसदी कम चालान हुए हैं। 

ईस्टर्न रेंज में सितंबर महीने के शुरुआती 15 दिनों में 10883 चालान हुए हैं, जबकि यह संख्या अगस्त महीने के आखिरी 15 दिनों में 52532 थी। ईस्टर्न रेंज में चालानों में 79.29 फीसदी की कमी आई है। नई दिल्ली रेंज में अगस्त के आखिरी पंद्रह दिनों में 46303 चालान हुए थे, जबकि सितंबर महीने के पहले 15 दिनों में 8765 चालान ही हुए हैं। 

इस हिसाब से 81.8 फीसदी चालान कम हुए हैं। अगस्त माह के आखिरी 15 दिनों में बाहरी रेंज में 63757, सदर्न रेंज में 71528 और वेस्टर्न रेंज में 62835 चालान हुए थे, जबकि सितंबर महीने के पहले 15 दिनों में यह आंकड़ा 11604, 14748 और 13227 है। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस अधिकारियों की माने तो जुर्माने की बढ़ी राशि के चलते ही लोग ट्रैफिक नियमों का कम ही उल्लंघन कर रहे हैं। 

वर्ष 2010 में राष्ट्रमंडल  खेलों के दौरान कॉमनवेल्थ वाहनों के लिए सड़क पर अलग से लाइन बनाई गई थी। इस लाइन में घुसने पर दो हजार रुपये का चालान था। चालान राशि दो हजार होने के कारण दिल्लीवासी कॉमनवेल्थ लेन में नहीं घुसते थे। गौरतलब है कि दिल्ली में एक सितंबर से संशोधित मोटर वाहन अधिनियम लागू हुआ है। 

चालान 
रेंज                         16 से लेकर 31अगस्त                     एक से लेकर 15 सितंबर तक
सेंट्रल रेंज                  51318                                     14485
ईस्टर्न रेंज                  52532                                     10083
नई दिल्ली रेंज               46303                                      8765
बाहरी रेंज                  63757                                      11604
सदर्न रेंज                   71528                                      14748
वेस्टर्न रेंज                  62834                                       13227
विज्ञापन

Recommended

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन
Oppo Reno2

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि  व्  सर्वांगीण कल्याण  की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि व् सर्वांगीण कल्याण की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Delhi NCR

दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल को छह महीने की जेल, यह है मामला

अदालत ने दिल्ली विधानसभा के स्पीकर रामनिवास गोयल समेत पांच आरोपियों को विवेक विहार के बिल्डर के घर में अनधिकृत प्रवेश कर मारपीट में छह माह कैद और जुर्माने की सजा सुनाई है।

18 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

चीन है नकल में माहिर, इन लग्जरी गाड़ियों को कॉपी कर बनाए सस्ते मॉडल

दुनिया की तमाम शानदार लग्जरी कारों के चीनी वर्जन मौजूद हैं, यहां तक कि चीन की निगाह से सबसे महंगी कारें बनाने वाली रॉल्स रॉयस भी नहीं बच सकी है। आइए देखते हैं अब तक चीन किन कारों की बना चुका है कार्बन कापी..

18 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree