लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Delhi ›   Delhi NCR ›   Delhi Police recovered heroin worth 1725 crores came to India from Pakistan via Dubai from Mumbai

नशे की खेप: दिल्ली पुलिस को बड़ी कामयाबी, पाकिस्तान से दुबई वाया भारत आई 1725 करोड़ की हेरोइन मुंबई से बरामद

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: Vikas Kumar Updated Wed, 21 Sep 2022 10:37 PM IST
सार

स्पेशल सेल के अधिकारियों का कहना है कि भारत में नार्को टेरर को बढ़ावा देने के लिए हेरोइन को पाकिस्तान से भारत भेजा गया था। जिस कंपनी के जरिये हेरोइन को भेजा गया। वह अफगानिस्तान मूल की है। उसका मालिक पाकिस्तान में है। 

इस कंटेनर से बरामद हुई हेरोइन
इस कंटेनर से बरामद हुई हेरोइन - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

नार्को टेरर के खिलाफ दिल्ली पुलिस का अभियान लगातार जारी है। इसी कड़ी में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को एक बड़ी कामयाबी मिली है। पुलिस ने मुंबई के जवाहर लाल नेहरू पोर्ट ट्रस्ट (बंदरगाह) पर एक कंटेनर से 1725 करोड़ की हेरोइन बरामद की है। करीब 345 किलोग्राम हेरोइन को अफगानिस्तान वाया पाकिस्तान के रास्ते दुबई भेजा गया। वहां से 20 हजार किलोग्राम मुलेठी की जड़ों में छिपाकर एक कंटेनर में भारत भेजा गया था। इसी माह गिरफ्तार किए गए दो अफगानी नागरिक मुस्तफा और रहीमुल्लाह रहीमी से पूछताछ के बाद टीम को पता चला था कि पिछले एक साल से मुंबई पोर्ट पर खड़े एक कंटेनर में हेरोइन को छिपाया गया है। टीम मुंबई पहुंची और वहां तलाशी के बाद मुलेठी की जड़ों के साथ मौजूद हेरोइन को बरामद कर लिया। स्पेशल सेल के अधिकारियों का कहना है कि दो सप्ताह के भीतर यह अब तक की सबसे बड़ी बरामदगी है। इससे पूर्व टीम ने 312 किलो मैथाएफटामिन व 10 किलो हेरोइन और बरामद की थी।


 

स्पेशल सेल के विशेष आयुक्त एचजीएस धालीवाल ने बताया कि पिछले काफी समय से उनकी टीम मादक पदार्थ का धंधा करने वाले लोगों के खिलाफ अभियान चला रही है। भारत में नार्को टेरर को बढ़ावा देने के लिए पड़ोसी देश लगातर मध्य एशिया के देशों से भारत में मादक पदार्थ भेज रहा है। इसी कड़ी में कार्रवाई करते हुए उनकी टीम ने वर्ष 2021 में अफगानिस्तान से भेजी गई 57.2 और 354 किलो हेरोइन बरामद की थी। इसी माह स्पेशल सेल की टीम ने एक और अफगानी नेटवर्क का खुलासा कर तीन सितंबर को रहीमुल्लाह और मुस्तफा नामक दो अफगानी नागरिकों को गिरफ्तार किया था। इनके पास से भारी मात्रा में मादक पदार्थ और हेरोइन बरामद हुई थी। पुलिस दोनों को रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही थी। उनसे पूछताछ के बाद टीम को पता चला कि मुंबई के जेएनपीटी बंदरगाह पर पर एक कंटेनर में भारी मात्रा में हेरोइन को छिपाया गया है। कंटेनर में 20 हजार किलोग्राम मुलेठी है। इसके बैगों में मौजूद मुलेठी जड़ों के बीच हेरोइन को छिपाया गया है। फौरन एक टीम का गठन किया गया।
 

16 सितंबर को एक टीम को कंटेनर की तलाशी का वारंट लेकर मुंबई पोर्ट भेज दिया गया। टीम वहां पहुंची और कंटेनर की तलाशी शुरू की। शुरुआत में पुलिस की टीम को वहां कुछ नहीं मिला। रातभर कंटेनर की तलाशी ली गई। मुलेठी की जड़ों की गंभीरता से जांच करने पर कुछ जड़ों का रंग गहरा था। उनको 20 हजार किलोग्राम मुलेठी से एक-एक कर अलग किया गया। उसमें से कुल 345 किलोग्राम हेरोइन बरामद हुए। टीम कंटेनर को दिल्ली लाने की अनुमति लेकर दिल्ली ले आई। छानबीन के दौरान के पुलिस को पता चला कि भारतीय सुरक्षा एजेंसियों से बचने के लिए विदेशों से आने वाली हेरोइन को सिलिका जैल, टेलकम पाउडर, जिप्सम पाउडर, तुलसी के बीज और दूसरे सामान के बीच छिपाकर भेजा जा रहा है। इनको कंटेनर में देश के अलग-अलग बंदरगाहों पर भेजा जा रहा है।

नार्को टेरर के लिए पाकिस्तान से भारत आई हेरोइन...
स्पेशल सेल के अधिकारियों का कहना है कि भारत में नार्को टेरर को बढ़ावा देने के लिए हेरोइन को पाकिस्तान से भारत भेजा गया था। जिस कंपनी के जरिये हेरोइन को भेजा गया। वह अफगानिस्तान मूल की है। उसका मालिक पाकिस्तान में है। हेरोइन को अफगानिस्तान से पाकिस्तान मंगाया गया। बाद में इसे दुबई भेजा गया। दुबई से इसको मुलेठी की जड़ों के साथ छिपाकर कंटेनर में भारत भेज दिया गया। पुलिस मुस्तफा और रहीमुल्लाह से लगातार पूछताछ कर मामले की छानबीन कर रही है।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00