आइसोलेट किए गए तब्लीगी जमात के एक कार्यकर्ता ने अस्पताल में की खुदकुशी की कोशिश

अमर उजाला नेटवर्क, नई दिल्ली Published by: पूजा त्रिपाठी Updated Wed, 01 Apr 2020 10:43 PM IST
मरकज में हो रहा सैनिटाइजेशन का काम
मरकज में हो रहा सैनिटाइजेशन का काम - फोटो : एएनआई
विज्ञापन
ख़बर सुनें
निजामुद्दीन स्थित मरकज में जहां मार्च में तबलीगी जमात का आयोजन हुआ था उसे आज पूरी तरह खाली करा लिया गया है। खाली कराने के बाद इसे सील कर दिया गया है और इस इलाके में और मरकज भवन के सैनिटाइजेशन का काम चल रहा है। वहीं तबलीगी जमात का आयोजन करने वाले मौलाना साद समेत छह लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। इससे पहले निजामुद्दीन स्थित मरकज में आयोजित इस जलसे में शामिल लोगों की पहचान कर उन्हें क्वारंटीन किया जा चुका है। पढ़ें दिन भर के अपडेट...
विज्ञापन


तब्लीगी जमात के कार्यकर्ता ने अस्पताल में आत्महत्या की कोशिश की 
दिल्ली के राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल प्रशासन ने जानकारी दी है कि मरकज निजामुद्दीन के लोगों को 6वीं मंजिल पर भर्ती किया गया था। उनमें से एक ने आज आत्महत्या करने की कोशिश की। जिसे सफलतापूर्वक बचा लिया गया है। हम सुरक्षा को कड़ी करने के हर संभव उपाय कर रहे हैं ताकि ऐसी घटनाएं दोबारा न हों।

 
दिल्ली मरकज में मणिपुर से शामिल हुई थे 10 जमाती 
मणिपुर सरकार ने बताया कि राज्य में दिल्ली निजामुद्दीन मरकज से 10 लोग लौटे थे। उनमें से 8 का कोरोना वायरस टेस्ट नेगेटिव आया है, उन्हें क्वारटाइन सेंटर में रखा गया है। बाकि 2 लोगों के बारे में अभी कुछ कहा नहीं जा सकता और वे अभी जेएनआईएमएस और आरआईएमएस अस्पताल में  भर्ती हैं।

मरकज में शामिल 12 लोग राजस्थान में संक्रमित मले 
राजस्थान में आज में आज 12 संक्रमितों की पुष्टि हुई है। इसमें टोंक में चार , अलवर में एक और चूरू में  सात मामले हैं। ये सभी दिल्ली के मरकज में शामिल हुए थे।

लखीमपुरखीरी के तब्लीगी जमात में आए 12 लोग पकड़े गए
लखीमपुरखीरी के  धौरहरा इलाके में 9 मार्च को तब्लीगी जमात में शामिल होने बिहार से आए 12 लोगों को कस्बे की मरकज, मदीना, तलहा और कूबा मस्जिद से बाहर निकाला गया। इन सभी को सैनिटाइज करने के बाद कस्बे के बाहर राजकीय इंटर कॉलेज में बने राहत शिविर के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है।

दिल्ली में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 152 हुई : सरकार 
दिल्ली सरकार ने जानकारी दी है कि अब दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या बढ़ कर 152 हो गई है। इसमें निजामुद्दीन मरकज के 53 मामले शामिल हैं।

167 लोगों को तुगलकाबाद क्वारंटीन सेंटर में रखा गया : उत्तर रेलवे सीपीआरओ
उत्तर रेलवे के सीपीआरओ, दीपक कुमार ने जानकारी दी कि तब्लीगी जमात निजामुद्दीन के 167 लोग कल रात 9 बजकर 40 मिनट पर 5 बसों में तुगलकाबाद क्वारंटीन सेंटर पहुंचे थे। 97लोगों को डीजल शेड ट्रेनिंग स्कूल हॉस्टल में और बाकी 70 को आरपीएस बैरक क्वारंटीन सेंटर में रखा गया है।

उन्होंने बताया कि ये लोग सुबह से अनियंत्रित थे और खाने पीने की अनुचित मांग कर रहे थे। उन्होंने क्वारंटाइन सेंट्रों के कर्मचारियों के साथ दुर्व्यवहार किया। इसके अलावा उन्होंने काम करने वाले सभी लोगों और डॉक्टरों पर थूकना शुरु कर दिया। हॉस्टल बिल्डिंग में भी घूम रहे थे।

साउथ ईस्ट दिल्ली के जिलाधिकारी से उन्हें नियंत्रित करने के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम या किसी सुरक्षित जगह पर शिफ्ट करने के लिए कहा गया था। शाम 5:30 बजे, दिल्ली पुलिस के 4 सिपाही और 6 सीआरपीएफ के  जवानों के साथ पीसीआर वैन को क्वारंटीन केंद्रों पर तैनात किया गया।

दिल्ली मरकज से आए 36 लोग मुरादाबाद में मिले। पुलिस ने क्वारंटीन केंंद्र भेजा
दिल्ली मरकज में शामिल होने वाले अलग-अलग शहरों के 36 लोग मुरादाबाद के असलतपुरा क्षेत्र में छुपे हुए मिले हैं। शुरुआती जानकारी के मुताबिक इनमें से कुछ लोग कुछ मदरसों में थे जबकि बाकी ने कुछ घरों पर पनाह ले रखी थी। एक गोपनीय सूचना के बाद देर शाम भारी पुलिस फोर्स के साथ इलाके की छानबीन की गई तो मरकज में शामिल होने वाले 36 लोग बरामद कर लिए गए हैं। इ

658 लोगों के सैंपल लिए गए, 110 संक्रमितों की पुष्टि: स्वास्थ्य सचिव बीला राजेश
तमिलनाडु की स्वास्थ्य सचिव बीला राजेश ने कहा कि मैं हर उस व्यक्ति को धन्यवाद देना चाहता हूं, जो दिल्ली सम्मेलन मरकज में शामिल हुए और  हमारी अपील पर स्वेच्छा से सामने आ गए। वे सभी हमारी उपचार सुविधाओं में आ गए हैं। हमने उनमें से 658 लोगों की जांच कर ली है, अब तक 1103 सदस्य सामने आए हैं।

उन्होंने कहा कि पिछले 24 घंटों से पूरा सरकारी तंत्र लगातार काम कर रहा है। हम उन्हें अलग-थलग वार्डों में ले गए हैं,  658 नमूने लिए गए हैं और उनमें से अब तक 110 संक्रमितों की पुष्टि हुई है।

मरकज में जो कुछ भी हुआ वह गलत : आरिफ मोहम्मद खान 
केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने कहा कि दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में जो कुछ भी हुआ वह बिल्कुल गलत है। यह राष्ट्र और मानवता के खिलाफ अपराध है। वहां दिए गए भाषण भी अपराधिक थे, जहां सामाजिक भेदभाव करते हुए सरकार द्वारा दिए गए निर्देश को एक साजिश के रूप में वर्णित किया गया था।

पुलिस ने जारी किया मरकज का वीडियो 

दिल्ली पुलिस से मरकज का 26 मार्च का वीडियों जारी किया है।

दिल्ली के मरकज से लौटे कोरोना पॉजिटिव शख्स की भावनगर में मौत
गुजरात के डीजीपी शिवानंद झा ने बताया है कि निजामुद्दीन के मरकज में गुजरात से कुल 72 लोग गए थे। इनमें 34 अहमदाबाद, 20 भावनगर और 12 मेहसाना के थे। भावनगर का एक व्यक्ति जिनसे जमात में हिस्सा लिया था और उसकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव थी, उसकी मौत हो गई है। वहीं 71 अन्य लोगों में कोरोना के कुछ लक्षण पाए गए हैं और उन सभी को क्वारंटीन में रखा गया है।

मरकज भवन किया जा रहा सैनिटाइज
दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित मरकज भवन जहां मार्च माह में तबलीगी जमात का आयोजन हुआ था, उसे अब सैनिटाइज किया जा रहा है। इससे पहले आज सुबह से निजामुद्दीन इलाके में सैनिटाइजेशन का काम चल रहा था।

नागपुर से मरकज आए 54 लोगों की हुई पहचान
महाराष्ट्र के नागपुर से निजामुद्दीन मरकज में 54 लोग पहुंचे थे जिनकी पहचान कर उन्हें क्वारंटीन में भेज दिया गया है। इस बात की पुष्टि नागपुर नगर निगम के कमिश्नर तुकाराम मुंडे ने की है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया 1800 लोगों को क्वारंटीन में रखा गया
स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया है कि मरकज से निकाले गए 1800 लोगों को नौ अस्पतालों में क्वारंटीन में रखा गया है। उन्होंने ये भी कहा कि इसकी वजह से हाल में जो पॉजिटिव केसों में बढ़ोतरी हुई है वह राष्ट्रीय ट्रेंड नहीं दिखाता है।

कर्नाटक के कुल 342 लोग हुए जमात में शामिल
कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री श्रीरामुलु ने बताया है कि 200 लोग जिनमें 4 बंगलूरू और 5 बेलगाम के हैं उन्हें क्वारंटीन में रखा गया है। ये सभी दिल्ली के तबलीगी जमात से लौटे हैं। कर्नाटक से कुल 342 लोग जमात में शामिल हुए थे।

बिहार के डीजी और मुख्य सचिव ने कही ये बातें
बिहार के स्वास्थ विभाग के प्रमुख सचिव संजय कुमार ने बताया है कि हमें दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज से लौटे 81 लोगों की सूची मिली है। इनमें पटना के 17 और बक्सर के 13 लोगों की पहचान की गई है। हमें अन्य लोगों की तलाश है। वहीं बिहार के डीजीपी जी पांडेय ने कहा है कि बिहार के 86 निवासी और 57 विदेशी जिन्होंने दिल्ली मरकज में हिस्सा लिया था, उन पर हम निगरानी रखे हुए हैं। 48 लोगों को पहले ही क्वारंटीन में भेजा जा चुका है। 86 में से कुछ लोग बिहार में नहीं हैं, वह देश के किसी अन्य राज्य में हैं। हम उन राज्यों की पुलिस की मदद से उन लोगों को खोजने की कोशिश कर रहे हैं।

दिल्ली पुलिस ने निजामुद्दीन में तबलीगी जमात का आयोजन करने के लिए छह लोगों पर प्राथमिकी दर्ज
दिल्ली पुलिस के सूत्रों के हवाले से मिली खबर के अनुसार तबलीगी जमात का आयोज करने के लिए छह लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। इनके नाम हैं मौलाना साद, डॉ. जीशान, मुफ्ती शहजाद, एम सैफी, यूनुस और मोहम्मद सलमान। मरकज को आज सुबह करीब 3.30 पर खाली कराया गया और यहां से करीब 2100 लोग निकाले गए और पांच दिन में ये जगह खाली कराई गई। पुलिस सूत्रों का ये भी कहना है कि मौलाना साद कहां हैं यह 28 मार्च से ही पता नहीं चल रहा है। उनकी खोजबीन जारी है।

गाजियाबाद में मरकज से लौटने वालों की संख्या पहुंची 93
दिल्ली मरकज जमात से गाजियाबाद वापस आने वालों की संख्या 93 पहुंच गई है। स्वास्थ्य विभाग ने 52 को किया अलग-अलग जगह क्वारंटीन।

कर्नाटक के शिवमोगा में दिल्ली से लौटे छह लोगों को जिला अस्पताल में किया क्वारंटीन
कर्नाटक के शिवमोगा जिला के जिला स्वास्थ्य अधिकारी आर सुरागिहल्ली ने बताया कि 28 मार्च को छह लोग दिल्ली से लौटे हैं। उनकी जानकारी के अनुसार यह लोग निजामुद्दीन के मरकज से लौटे हैं और इन सबको मैकगन जिला अस्पताल में क्वारंटीन किया गया है।

मनीष सिसोदिया ने किया ट्वीट
निजामुद्दीन के आलमी मरकज में 36 घंटे का सघन अभियान चलाकर सुबह चार बजे पूरी बिल्डिंग को खाली करा लिया गया है। इस इमारत में कुल 2361 लोग निकले। इसमें से 617 को अस्पताल में और बाकी को क्वारंटीन केंद्र में भर्ती कराया गया है। करीब 36 घंटे के इस ओपरेशन में मेडिकल स्टाफ, प्रशासन, पुलिस, डीटीसी स्टाफ सबने मिलकर, अपनी जान जोखिम में डालकर काम किया। इन सबको दिल से सलाम।

निजामुद्दीन इलाका कराया जा रहा सैनिटाइज, खाली करा सील हुआ मरकज
आज सुबह से ही निजामुद्दीन इलाके को सैनिटाइज किया जा रहा है। वहीं मरकज को पूरी तरह से खाली कराकर सील कर दिया गया है।

पुणे से 130 से ज्यादा लोग मरकज में पहुंचे थे
पुणे के जिलाधिकारी ने जानकारी दी है कि वहां से 130 लोगों से ज्यादा लोग निजामुद्दीन में आयोजित तबलीगी जमात में शामिल होने गए थे। अभी वो लोग पुणे में हैं या नहीं यह पता नहीं चल पा रहा है। उनकी खोज जारी है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00