विज्ञापन

DUSU Election 2018: कालकाजी व देहात क्षेत्र के कॉलेज जिस पर होंगे मेहरबान, उसकी जीत हो जाएगी आसान

रश्मि शर्मा, अमर उलाजा, नई दिल्ली Updated Thu, 13 Sep 2018 12:08 PM IST
dusu election
dusu election - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें
डूसू चुनाव में कालकाजी व देहात क्षेत्र के कॉलेजों के वोटर किसी भी प्रत्याशी की जीत हार की राह तय करने में अहम भूमिका निभाते हैं। वैसे तो दिल्ली विश्वविद्यालय के 50 से अधिक कॉलेज डूसू से संबद्ध हैं, लेकिन इन क्षेत्रों के महज दर्जन भर ऐसे कॉलेज हैं जिनकी वोटिंग से यह तय हो जाता है कि किस संगठन का कौन सा प्रत्याशी जीत रहा है।
विज्ञापन
इन कॉलेजों में कैंपस कॉलेज व आउट ऑफ कैंपस कॉलेज शामिल हैं। जिसमें लगभग 1000 से ज्यादा छात्र वोट देते हैं। डूसू चुनाव में कालकाजी व देहात क्षेत्र में आने वाले कॉलेजों की वोटिंग से किसी भी उम्मीदवार का तख्ता पलट जाता है। इन क्षेत्रों में ज्यादातर ईवनिंग कॉलेज हैं, जहां जाट-गुर्जर जाति का दबदबा है। संगठन भी जाट-गुर्जर समीकरण को देखकर अपने पैनल तैयार करते हैं।

डूसू चुनाव के जानकारों के अनुसार भले ही जीत किसी भी संगठन का हो लेकिन हर प्रत्याशी व संगठन सबसे ज्यादा जोर इन्हीं कॉलेजों में लगाते हैं। कालकाजी क्षेत्र के देशबंधु कॉलेज, रामानुजन, कॉलेज ऑफ वोकेशनल स्टडी में तीन-चार हजार से अधिक वोटिंग होती है।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन

Recommended

जम्मू कश्मीर में 20 साल में सबसे बड़ा आतंकी हमला, विस्तृत कवरेज यहां पढ़ें
Pulwama Exclusive

जम्मू कश्मीर में 20 साल में सबसे बड़ा आतंकी हमला, विस्तृत कवरेज यहां पढ़ें

मोक्ष और अभय की कामना को पूर्ण करने के लिए शिवरात्रि पर ज्योतिर्लिंग काशी विश्वनाथ मंदिर में करवाएं विशेष शिव पूजा
ज्योतिष समाधान

मोक्ष और अभय की कामना को पूर्ण करने के लिए शिवरात्रि पर ज्योतिर्लिंग काशी विश्वनाथ मंदिर में करवाएं विशेष शिव पूजा

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Lucknow

लखनऊ यूनिवर्सिटीः 38 केंद्रों पर होंगी वार्षिक परीक्षाएं, यहां देखें सूची

लखनऊ विश्वविद्यालय की वार्षिक परीक्षा के लिए इस साल 38 केंद्र बनाए गए हैं। बीए, बीएससी, बीकॉम, बीए ऑनर्स और बीएलएड पाठ्यक्रमों की द्वितीय और तृतीय वर्ष की परीक्षा के लिए कुल 49 हजार 72 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं।

16 फरवरी 2019

विज्ञापन

पुलवामा हमला: बयान पर बवाल के बाद सिद्धू ने दी सफाई

जम्मू कश्मीर के पुलवामा आतंकी हमले पर विवादित बयान देकर फंसने वाले कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू सफाई देते हुए नजर आ रहे हैं।

17 फरवरी 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree