विज्ञापन

सीआईएससीई ने बोर्ड परीक्षा में किए बदलाव, एक क्लिक में पढ़ें पूरी जानकारी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Thu, 06 Dec 2018 10:11 AM IST
ICSE 2018
ICSE 2018
ख़बर सुनें
काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन(सीआईएससीई) 10वीं व 12वीं की परीक्षाओं में कुछ बदलाव करने जा रहा है। इनमें से कुछ बदलाव वर्ष 2019 व वर्ष 2021 से लागू होंगे। वर्ष 2021 से विदेशी (थाइलैंड निवासी) छात्रों को नए विषय भी पढ़ाए जाएंगे।
विज्ञापन
विज्ञापन
जबकि वर्ष 2019 से 10वीं के छात्रों को साइंस, अंग्रेजी विषय के अंतर्गत आने वाले पेपर के लिए मार्कशीट में अलग-अलग अंक मिलेंगे। परीक्षा संचालन में शामिल कर्मियों के लिए परीक्षा सेंटरों पर ऑनलाइन ही दाखिला कार्ड व टाइमटेबल उपलब्ध कराया जाएगा। वहीं, वर्ष 2019 से विभिन्न विषयों में शिक्षकों के लिए ट्रेनिंग अनिवार्य होगी।

सीआईएससीई के मुख्य कार्यकारी एवं सचिव गैरी अराथून की ओर से जारी सूचना के मुताबिक वर्ष 2019 से अंग्रेजी, इतिहास, साइंस व भूगोल के विषयवार व पेपरवार अंक दिए जाएंगे। इसी के साथ शैक्षणिक सत्र 2021 से 12वीं में आतिथ्य प्रबंधन व लीगल स्टडी विषय पढ़ाया जाएगा।

थाइलैंड के छात्र बड़ी संख्या में आईसीएसई(10वीं) व आईएससी(12वीं) में पढ़ाई करते हैं। अब 10वीं के छात्रों के लिए इतिहास, नागरिक शास्त्र व भूगोल की पढ़ाई शुरू होगी। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2019 में 10वीं व 12वीं में बैठने वाले छात्रों के लिए कंपार्टमेंट की परीक्षा भी शुरू की जा रही है।

10वीं (आईसीएसई) मेें हर विषय के नंबर जान सकेंगे
सीआईएससीई बोर्ड के 10वीं (आईसीएसई) के विद्यार्थी अब प्रत्येक विषय के अंक अलग-अलग जान सकेंगे। विद्यार्थियों की मार्कशीट में अंग्रेजी, इतिहास व साइंस के हर विषय के नंबर अलग-अलग लिखे होंगे। अब तक उन्हें इन विषयों में औसत अंक ही पता चलते हैं। मसलन साइंस विषय के अंतर्गत छात्र केमिस्ट्री, बॉयोलॉजी व फिजिक्स की परीक्षा देते हैं। प्रत्येक विषय के लिए 100-100 अंक होते हैं। लेकिन मार्कशीट में इन पेपर के लिए अलग-अलग अंक नहीं लिखे होते। साइंस विषय के अंतर्गत तीनों पेपर के औसत अंक लिखे होते हैैं। अब मार्कशीट में बॉयो, फिजिक्स व केमिस्ट्री के अलग-अलग अंक लिखे होंगे। इसी तरह से इतिहास, नागरिक शास्त्र व भूगोल के लिए भी अलग-अलग अंक मार्कशीट में होंगे। वहीं, अंग्रेजी विषय के अंर्तगत लैंग्वेज व लिटरेचर के नंबर भी अलग-अलग मिलेंगे।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Chandigarh

कड़ा फरमानः स्कूलों से बाहर अब बच्चों से कोई भी काम कराया तो गुरु जी की खैर नहीं, संभल जाएं

अब गुरु जी विद्यार्थियों से स्कूलों के बाहर किसी भी तरह का काम नहीं करा सकेंगे। रैली निकालने जैसे काम भी नहीं करा सकेंगे, कड़ा फरमान जारी किया गया है।

13 दिसंबर 2018

विज्ञापन

हारी बाजी को जीत कर ये बने मुकद्दर के सिंकदर

राजस्थान और मध्य प्रदेश में कांग्रेस के तीन दिग्गज नेता तमाम चुनौतियों को पछाड़ कर बन गए बाजीगर

14 दिसंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree