विज्ञापन

कैग ने खोली पोल, लापरवाही से यूपी सरकार को 11920 करोड़ का नुकसान

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, दिल्ली Updated Fri, 08 Feb 2019 05:23 AM IST
CAG open Negligence of public sector undertakings Rs 11920 crores for the UP government
ख़बर सुनें
प्रदेश के सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों (पीएसयू) की लापरवाही व वित्तीय अनियमितताओं के चलते सरकार को 11920.32 करोड़ रुपये की चपत लगी है। यह खुलासा नियंत्रक-महालेखापरीक्षक (कैग) की बृहस्पतिवार को विधानमंडल में रखी गई रिपोर्ट में हुआ है। रिपोर्ट में राजीव गांधी ग्रामीण विद्युतीकरण योजना में लापरवाही, जेएनएनआयूएम के तहत परिवहन सुविधा के संचालन में कमियों और पीएसयू में निवेश से 11920.32 करोड़ की हानि की बात कही गई है। राज्य सड़क परिवहन निगम में बकाये की वसूली में ठेकेदार को अनुचित लाभ पहुंचाने, मध्यांचल और पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड को वित्तीय हानि व वन निगम को ब्याज के नुकसान का भी खुलासा किया गया है।
विज्ञापन
रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश में 103 पीएसयू में से 95 के लेखे 36 साल (1981-82) से बकाया थे। पिछले तीन साल में अपने लेखाओं का अंतिमीकरण करने वाले 22 पीएसयू की जांच में 11920.32 करोड़ रुपये का नुकसान सामने आया है, जबकि 56 पीएसयू के लेखे तैयार ही नहीं किए गए। कैग ने 22 पीएसयू को 56,273.05 करोड़ रुपये और निष्क्रिय पीएसयू को 7.03 करोड़ देने पर राज्य सरकार को भी आड़े हाथों लिया है। रिपोर्ट के अनुसार, बिना लेखाओं के अंतिमीकरण के हजारों करोड़ का बजट देने का आधार समझ नहीं आया है। उप्र जल निगम और खाद्य एवं आवश्यक वस्तु निगम में कमियां इतनी चिंताजनक मिलीं कि सीएजी ने इस पर टिप्पणी करने से मना कर दिया। वहीं उज्ज्वल डिस्कॉम योजना (उदय) पर कैग ने परिचालन लक्ष्य प्राप्त करने में विफलता की रिपोर्ट दी है।

राजीव गांधी ग्रामीण विद्युतीकरण
राजीव गांधी विद्युतीकरण (दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना में शामिल) में 2012-17 की अवधि में 75 जिलों में 86 परियोजनाओं के लिए 11697.83 करोड़ रुपये अनुमोदित किए गए। इनमें 11 जिले 11वीं पंचवर्षीय योजना, 53 जिले 12वीं पंचवर्षीय योजना और 11 जिले दोनों योजनाओं में शामिल थे। आरईसी ने डिस्कॉम की लापरवाही से 1197.22 करोड़ की प्रतिपूर्ति रोक दी थी। लेखा परीक्षा में दोषपूर्ण वित्तीय प्रबंधन मिला। इसमें डिस्कॉम ने अनुदान उपलब्ध होने के बावजूद आरईसी से ऋण लिया, जिससे सार्वजनिक कोष पर ब्याज का गैरजरूरी भार पड़ा।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन

Recommended

जम्मू कश्मीर में 20 साल में सबसे बड़ा आतंकी हमला, विस्तृत कवरेज यहां पढ़ें
Pulwama Exclusive

जम्मू कश्मीर में 20 साल में सबसे बड़ा आतंकी हमला, विस्तृत कवरेज यहां पढ़ें

मोक्ष और अभय की कामना को पूर्ण करने के लिए शिवरात्रि पर ज्योतिर्लिंग काशी विश्वनाथ मंदिर में करवाएं विशेष शिव पूजा
ज्योतिष समाधान

मोक्ष और अभय की कामना को पूर्ण करने के लिए शिवरात्रि पर ज्योतिर्लिंग काशी विश्वनाथ मंदिर में करवाएं विशेष शिव पूजा

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Delhi NCR

होटल अर्पित के मालिक का भाजपा से संबंध इसलिए नहीं हुआ गिरफ्तारः सत्येंद्र जैन

सत्येंद्र जैन ने होटल मालिक की अभी तक गिरफ्तारी न हो पाने पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि यह बहुत आश्चर्य की बात है कि होटल का मालिक अभी तक गिरफ्तार नहीं हुआ है, ऐसा लगता है कि वह किसी राजनीतिक पार्टी से संबंध रखता है

16 फरवरी 2019

विज्ञापन

दिल्ली में लगातार तीसरे दिन दिखा आग का तांडव, नारायणा स्थित पेपर फैक्ट्री में भीषण आग

दिल्ली के नारायणा में गिफ्ट बनाने वाली नामी कंपनी आर्चीज की परफ्यूम फैक्ट्री में भीषण आग लगी है, जिसे दो घंटे बाद भी बुझाया नहीं जा सका। देखिए वीडियो

14 फरवरी 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree