लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Delhi ›   Delhi NCR ›   Arms smuggling gang busted in Delhi

दिल्ली को दहलाने की साजिश नाकाम: 15 अगस्त से पहले छह हथियार तस्कर गिरफ्तार, 2000 कारतूस और गोला-बारूद बरामद

एएनआई, नई दिल्ली Published by: विजय पुंडीर Updated Sat, 13 Aug 2022 02:55 AM IST
सार

दिल्ली पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। पुलिस ने गोला-बारूद की तस्करी में शामिल एक गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए छह आरोपियों को गिरफ्तार किया है। 

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी - फोटो : ANI
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

स्वतंत्रता दिवस से पहले दिल्ली में भारी मात्रा में कारतूस मिलने से दिल्ली पुलिस में अफरातफरी मच गई है। पूर्वी दिल्ली की पटपड़गंज औद्योगिक क्षेत्र पुलिस ने देहरादून के गन हाउस मालिक व यूपी के जौनपुर के बदमाशों समेत छह आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से आठ तरह के हथियारों के 2,251 कारतूस बरामद किए गए हैं।



पूर्वी रेंज के अतिरिक्त पुलिस आयुक्त विक्रमजीत के अनुसार, मेरठ की जेल में बंद बदमाश अनिल व जौनपुर के एक गैंगस्टर के इशारे पर ये कारतूस देहरादून के रॉयल गन हाउस से पांच लाख रुपये में खरीदे गए थे। इन कारतूसों को लखनऊ ले जाया जा रहा था, जहां इन्हें गैंगस्टरों को सप्लाई किए जाने थे। गिरफ्तार आरोपियों में यूपी के जौनपुर के गांव सुता कलां के अजमल, राशिद उर्फ लल्लन, सद्दाम, देहरादून के रॉयल गन हाउस मालिक परीक्षित नेगी, दिल्ली यमुना विहार के कामरान व रुड़की के नासिर शामिल हैं। कामरान व नासिर परीक्षित को लाइसेंसी हथियारों के कारतूस अवैध मुहैया कराते थे। इसके बाद परीक्षित इन्हीं के जरिये ज्यादा कीमत पर ये कारतूस गैंगस्टर को देता था। 


ऑटो चालक की सूचना पर गिरफ्तारी
15 अगस्त को देखते हुए दिल्ली में हाई अलर्ट के दौरान पुलिसकर्मी 6 अगस्त को गश्त कर रहे थे। पटपड़गंज में एक ऑटो चालक ने ट्रॉली बैग के साथ दो संदिग्धों की सूचना पुलिस को दी। पुलिस को देखकर दोनों भागने लगे। तलाशी में बैग से 2,251 कारतूस मिले। आरोपियों ने बताया कि वह रॉयल गन हाउस से कारतूस लेकर आए हैं और लखनऊ ले जा रहे हैं। उन्होंने कुबूला कि पहले भी 4-5 बार कारतूसों की बड़ी खेप लखनऊ व यूपी के अन्य शहरों में सप्लाई कर चुके हैं।

धड़ल्ले से हो रही सरकारी कारतूसों की तस्करी
रॉयल गन हाउस के मालिक परीक्षित नेगी से पूछताछ में पता चला कि नेगी अपने रिकॉर्ड में सरकारी दरों पर मिलने वाले कारतूसों को अन्य गन हाउस में सरकारी दरों पर बेचने की इंट्री करता था, जबकि वह कारतूस महंगे दामों पर गैंगस्टर को बेचता था। नेगी के गन हाउस के रिकॉर्ड जब्त किए गए हैं। उल्लेखनीय है कि गन हाउस मालिक को केवल लाइसेंस धारकों व  निशानेबाजों को ही कारतूस बेचने की अनुमति है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00