विज्ञापन
विज्ञापन
MyCity App MyCity App
विज्ञापन
शनि साढ़े साती के कुप्रभाव से बचने के लिए कराएं शनि पूजा
Puja

शनि साढ़े साती के कुप्रभाव से बचने के लिए कराएं शनि पूजा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

Coronavirus in Uttarakhand : उत्तराखंड में आज मिले 46 केस, अब कुल मामले हुए 1199

उत्तराखंड में आज कोरोना संक्रमण के 46 मामले सामने आए हैं। जिसके बाद अब राज्य में कुल संक्रमित मामलों की संख्या 1199 हो गई है। जिसमें से 309 मरीज ठीक हो चुके हैं। आज अल्मोड़ा में पांच, चमोली व चंपावत में दो, देहरादून में 15, हरिद्वार व पौड़ी में एक, रुद्रप्रयाग में 14 और टिहरी में छह संक्रमित मिले हैं।

दून अस्पताल में कोरोना संक्रमण फैलता ही जा रहा है। अस्पताल के स्टाफ में लगातार तीन दिन से कोरोना के केस सामने आ रहे हैं। शुक्रवार को यहां चार मामले सामने आए। जिसमें अस्पताल की दो स्टाफ नर्स, एक इलेक्ट्रिशियन व अस्पताल में भर्ती एक गर्भवती महिला में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। स्टेट कॉर्डिनेटर एनएस खत्री ने इन मामलों की पुष्टि की है। अब प्रदेश में कोरोना संक्रमण के कुल 1156 मामले हो गए हैं।


मुख्यमंत्री की जांच रिपोर्ट निगेटिव

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत पूरी तरह स्वस्थ हैं। उनकी कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट निगेटिव आई है। सूत्रों के अनुसार बृहस्पतिवार सुबह ही उनका सैंपल लिया गया था, रात को जांच रिपोर्ट निगेटिव आई।

बता दें कि कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज की कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद मुख्यमंत्री सेल्फ क्वारंटीन में चले गए थे। बृहस्पतिवार को ही तीन दिन का सेल्फ क्वारंटीन खत्म होने के बाद उन्होंने पूरी तरह अपना कामकाज संभाल लिया है।
... और पढ़ें
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

उत्तराखंड: कोरोना संक्रमित पाए गए कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज को हाईकोर्ट का नोटिस

हाल ही में कोरोना संक्रमित पाए गए उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज को हाईकोर्ट ने नोटिस जारी किया है। इसके साथ ही तीन हफ्ते के अंदर जवाब भी दाखिल करने के निर्देश दिए हैं।

बता दें कि कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज द्वारा कोरोना वायरस से बचने के लिए जारी केंद्र सरकार की गाइड लाइन का उल्लंघन करने के मामले में याचिका दायर की गई थी। इस पर आज सुनवाई हुई। इसके बाद कोर्ट ने सख्त रुख अपनाते हुए केंद्र सरकार और राज्य सरकार के साथ ही मंत्री महाराज को भी नोटिस जारी किया।


यह भी पढ़ें:
Coronavirus in Uttarakhand : उत्तराखंड में आज मिले 46 केस, अब कुल मामले हुए 1199

कोर्ट ने पूछा है कि जब आम लोगों पर क्वारंटीन के नियमों का उल्लंघन करने पर मुकदमा दर्ज किया जा रहा है तो संवैधानिक पद पर बैठे लोगों के खिलाफ कार्यवाही क्यों नहीं की जा रही है। इसे लेकर हाईकोर्ट कोर्ट ने केंद्र, राज्य सरकार व मंत्री महाराज को तीन हफ्ते के अंदर जवाब दाखिल करने के निर्देश दिए हैं।
... और पढ़ें

उत्तराखंड बोर्ड की शेष परीक्षाओं की तिथि घोषित, शिक्षा मंत्री ने की घोषणा

शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय ने आज शुक्रवार को उत्तराखंड बोर्ड परीक्षाओं की तिथि की घोषणा कर दी है। उन्होंने आज प्रेस गूलरभोज स्थित अपने कैंप कार्यालय में प्रेस वार्ता के दौरान यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि आगामी 20 से 23 जून के बीच हाईस्कूल और इंटर की शेष परीक्षाओं को संपन्न कराया गया जाएगा। इससे पहले 19 जून तक सभी स्कूलों को सैनिटाइज कराया जाएगा।

पहले संपन्न हो चुकी परीक्षा में जो सेंटर थे। उन्हीं परीक्षा सेंटरों में परीक्षाएं आयोजित होंगी। लॉकडाउन के दौरान जिन सेंटरों को क्वारंटीन सेंटर बनाया गया है। उनके निकट के किसी विद्यालय को परीक्षा सेंटर बनाया जाएगा।
... और पढ़ें

पर्यावरण दिवस 2020: उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने किया वृक्षारोपण, राज्य को दिया यह संदेश

विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर आज उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सीएम आवास में वृक्षारोपण किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने सभी को पर्यावरण दिवस की शुभकामनाएं दीं।

कहा कि उत्तराखंड देवभूमि है और हम प्रकृति के बेहद नजदीक रहते हैं। हम प्रकृति की पूजा करते हैं। कहा कि उत्तराखंड में आज भी लगभग 70 प्रतिशत वन क्षेत्र है और 48 प्रतिशत भू-भाग वनों से ढका हुआ है। यहीं चिपको आंदोलन की शुरूआत हुई। एक दूरस्थ गांव में गौरा देवी जैसी महिला ने दुनिया को पर्यावरण के प्रति जागरुक करने का काम किया। वृक्ष बचाने के लिए उन्होंने अपनी जान की भी परवाह नहीं की। 

मैं आज आप से यह अपील करता हूं कि हम यह संकल्प लें कि हमारे घर में कोई भी मांगलिक कार्य हो तो उस दिन वृक्ष लगाकर उसे यादगार बना सकते हैं। हमारे जो पितृ नहीं रहे, पेड़ लगाकर हम उन्हें भी यादगार के रूप में रख सकते हैं। 

विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर आज उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने बैराज स्थित अपने कैंप कार्यालय सहित भरत मंदिर इंटर कॉलेज एवं आईडीपीएल इंटर कॉलेज के प्रांगण में विभिन्न प्रजातियों के पौधों का रोपण किया।

जैव विविधता पर सीएम करेंगे अफसरों से संवाद

विश्व पर्यावरण दिवस पर राज्य की पर्यावरण रिपोर्ट राज्य पर्यावरण एवं प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड जारी करेगा। इसके साथ ही जिलाधिकारियों, डीएफओ, कृषि एवं उद्यान तथा अन्य विभागों के अधिकारियों से मुख्यमंत्री जैव विविधता पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से संवाद करेंगे। इस समारोह की थीम जैव विविधता है और इसमें वन मंत्री हरक सिंह, प्रमुख सचिव वन आनंद वर्द्धन, जैव विविधता बोर्ड, वन विभाग के अधिकारी आदि शामिल होंगे।

समारोह के तहत वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सीएम सभी जिलाधिकारियों, जिला प्रभागीय अधिकारियों और अन्य विभागों के अधिकारियों से बात करेेंगे। विश्व पर्यावरण दिवस के तहत ही वन अनुसंधान केंद्र हल्द्वानी की ओर से नेचर पार्क की शुरूआत की जाएगी। विश्व पर्यावरण एवं प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के सदस्य सचिव एसपी सुबुद्धि ने बताया कि पर्यावरण दिवस पर जारी होने वाली रिपोर्ट को अल्मोड़ा स्थित जीबी पंत संस्थान के सहयोग से तैयार किया गया है। रिपोर्ट में प्रदेश के पर्यावरण की स्थिति का आकलन प्रस्तुत किया गया है। यह पहली रिपोर्ट है जो पूरे प्रदेश को आधार मानकर तैयार की गई है।
... और पढ़ें

अमर उजाला स्लोगन प्रतियोगिता: 'वनों से करो यारी, नहीं आएगी महामारी'

trivendra singh rawat
जल, जंगल, जमीन की चिंता उत्तराखंडवासियों के दिल से जुड़ी है। पर्यावरण दिवस पर अमर उजाला की ओर से आयोजित स्लोगन प्रतियोगिता में यह बात साफ झलकी। हमें उत्तराखंड के हर कोने से दिल छू लेने वाले स्लोगन मिले।

अमर उजाला स्लोगन प्रतियोगिता के तहत हमें करीब 400 स्लोगन मिले। सर्वश्रेष्ठ स्लोगन चुनना कठिन था, लेकिन इनमें से कुछ स्लोगन बिल्कुल अलग थे। आप भी पढ़िए और इनमें झलक रही प्रकृति की चिंता का मनन कीजिए। अमर उजाला सभी विजेताओं को बधाई देता है।


प्रथम स्थान:
वनों से करो यारी, नहीं आएगी महामारी। - कविता नेगी, विष्णु पुरम, नकरौंदा, देहरादून

द्वितीय स्थान: 
- स्वच्छ पानी और शुद्ध हवा, संतुलित जीवन की यही दवा। - प्रियंका पांडेय
- ओ हरियाली, तुम खुशहाली, तुम बिन जीवन खाली। - नंद किशोर, शिक्षक, चौखुटिया, अल्मोड़ा

तृतीय स्थान:
-बरखा की धूम से सजते पहाड़, नदियां की गूंज ले पेड़ों की आड़।
बूटियों में समोकर झरनों का मन, जंगल के प्राण दें सबको जीवन। - डॉ. शालीनी जोशी पंत, पूर्व प्राचार्य, एसएसडीपीसी

- आसमां के बादलों की चित्रकारी, जमी पर मुस्कुराती हुई हरियाली।
मस्तक पर विराजमान पर्वतमाला, कुदरत तेरा हर रंग है निराला। - अंकित कैंतुरा, प्रेमनगर देहरादून

- बनाएं प्रकृति की हर एक कृति, अपनाएं पर्यावरण संस्कृति। -एकेश्वर, आठवीं (स), केंद्रीय विद्यालय, आईएमए, देहरादून
... और पढ़ें

Coronavirus Lockdown : लॉकडाउन में मोबाइल, टीवी के अधिक उपयोग से बढ़ा कंधे, गर्दन और कमर का दर्द

लॉकडाउन में अधिकतर लोग अधिकांश समय टीवी, मोबाइल आदि पर बिता रहे हैं। अत्यधिक उपयोग से कई रोग बढ़ने की भी संभावना अधिक हो गई है।

Coronavirus in Uttarakhand: बृहस्पतिवार को प्रदेश में मिले 68 कोरोना पॉजिटिव, कुल मरीजों की संख्या हुई 1153

जिला अस्पताल अल्मोड़ा के फिजियोथेरेपी सेंटर में मई के महीने में सर्वाधिक कंधा, गर्दन और कमर दर्द से पीडि़त रोगी उपचार के लिए पहुुंचे। इससे पूर्व लॉकडाउन शुरू होने के बाद से अप्रैल माह तक थेरेपी सेंटर पूरी तरह से बंद था, लेकिन अब फिर से केंद्र चलने से लोगों को राहत मिली है।

लॉकडाउन के दौरान घरों में अधिकांश लोगों ने मोबाइल, टीवी आदि में ही अपना समय गुजारा। मनोरंजन के लिए बेहतरीन साधन टीवी, मोबाइल के अधिक इस्तेमाल का असर लोगों के स्वास्थ्य पर पडऩे लगा है। मार्च के दूसरे पखवाड़े से शुरू होकर मई तक लॉकडाउन में लोग घरों में ही थे।
... और पढ़ें

Coronavirus in Uttarakhand :  मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत पूरी तरह स्वस्थ, कोरोना रिपोर्ट आई निगेटिव

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत पूरी तरह स्वस्थ हैं। उनकी कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट निगेटिव आई है। सूत्रों के अनुसार बृहस्पतिवार सुबह ही उनका सैंपल लिया गया था, रात को जांच रिपोर्ट निगेटिव आई।

Coronavirus in Uttarakhand: बृहस्पतिवार को प्रदेश में मिले 68 कोरोना पॉजिटिव, कुल मरीजों की संख्या हुई 1153

बता दें कि कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज की कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद मुख्यमंत्री सेल्फ क्वारंटीन में चले गए थे। बृहस्पतिवार को ही तीन दिन का सेल्फ क्वारंटीन खत्म होने के बाद उन्होंने पूरी तरह अपना कामकाज संभाल लिया है।

महाराज के परिवार समेत 22 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी

उत्तराखंड के पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज समेत परिवार के पांच और सदस्यों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई थी। महाराज के अलावा पॉजिटिव मिले चार अन्य सदस्यों में छोटा बेटा सुयश, बड़ी बहू आराध्य, छोटी बहू मोहिनी और पांच साल का पोता श्रेयांश शामिल थे।
... और पढ़ें

Uttarakhand weather : मौसम ने ली करवट, कहीं बारिश तो कहीं बादलों से गर्मी से मिली राहत

गुरुवार को रातभर बारिश होने के बाद शुक्रवार को भी राजधानी देहरादून में बादलों के साथ रुक-रुक कर बूंदाबांदी जारी है। मौसम में आए इस बदलाव से तापमान में खासी गिरावट आ गई है। वहीं शुक्रवार को राज्य के अधिकतर इलाकों में मौसम ऐसा ही बना रहा। कहीं तड़के झमाझम बारिश हुई तो कहीं बादल छाए हैं।

यह भी पढ़ें:
Uttarakhand Weather: उत्तराखंड में 21 जून के आसपास दस्तक दे सकता है मानसून, सामान्य से ज्यादा होगी बारिश

चमोली के बदरीनाथ, हेमकुंड, रुद्रनाथ सहित निचले हिस्सों में शुक्रवार को भी बारिश जारी है। श्रीनगर में हल्की बारिश हुई। रुद्रप्रयाग में आज तड़के तेज बारिश हुई। जिससे तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। पिथौरागढ़, लोहाघाट, बागेश्वर, अल्मोड़ा, रामनगर, भवाली, नैनीताल, रुद्रपुर, काशीपुर, टनकपुर में बादल छाए हुए हैं।

पहाड़ी जिलों में भारी बारिश की चेतावनी

गुरुवार को राजधानी देहरादून में जहां दिनभर बादल छाए रहे वहीं, देर शाम को झमाझम बारिश हुई। मौसम विभाग ने शुक्रवार को प्रदेश के पर्वतीय क्षेत्रों में 50 से 60 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चलने और भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। विशेषकर कुमाऊं के जिलों और कुमाऊं से जुड़े गढ़वाल मंडल के जिलों में यह भारी से भारी बारिश हो सकती है। शनिवार को भी बारिश की संभावना जताई है।
... और पढ़ें

विश्व पर्यावरण दिवस 2020: हिमालयी क्षेत्र में पर्यावरण की सेहत बिगाड़ रहा ब्लैक कार्बन

उच्च हिमालयी क्षेत्रों में साल दर साल तेजी से बढ़ रहा ब्लैक कार्बन हिमालय की सेहत को बिगाड़ रहा है। वाडिया इंस्टीट्यूट ऑफ हिमालयन जियोलॉजी के वैज्ञानिकों के शोध में खुलासा हुआ है कि इन क्षेत्रों में 0.01 से लेकर 4.62 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर की दर से ब्लैक कार्बन जमा हो रहा है।

यह कार्बन न सिर्फ उच्च हिमालयी क्षेत्रों में ग्लेशियर के पिघलने की गति तेज कर रहा है, बल्कि इन क्षेत्रों के वन्यजीवों और पेड़ पौधों पर भी प्रतिकूल प्रभाव डाल रहा है। दुनिया में यह पहली बार है जब वाडिया के वैज्ञानिकों ने ‘रियल टाइम ऑल वेदर डाटा’ के जरिये अध्ययन किया है।


यह भी पढ़ें:
विश्व पर्यावरण दिवस 2020 : रोग प्रतिरोधकता बढ़ाने में उपयोगी हैं मिट्टी के बर्तन

वैज्ञानिकों का मानना है कि ब्लैक कार्बन सूर्य से आने वाली पैराबैंगनी किरणों को अवशोषित करने के साथ ही इन्फ्रारेड के रूप में उन्हें उत्सर्जित कर रहा है जिसका सीधा असर हिमालयी क्षेत्र के तापमान और ग्लेशियरों पर पड़ रहा है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us