बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

उत्तराखंड मौसम: बारिश के बाद बादल छंटते ही रुड़की से दिखने लगीं हिमालय की बर्फीली चोटियां

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, रुड़की Published by: अलका त्यागी Updated Fri, 21 May 2021 12:13 AM IST

सार

प्रदेश में मौसम की आंखमिचौली बुधवार को ही शुरू हो गई थी, लेकिन रात करीब दस बजे शुरू हुई बारिश अगले दिन सुबह 11 बजे तक जारी रही। जब बारिश रुकी तो मौसम सुहावना हो गया।
विज्ञापन
रुड़की से दिखती हिमालय की चोटियां
रुड़की से दिखती हिमालय की चोटियां - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें

विस्तार

उत्तराखंड में गुरुवार को बारिश के बाद जब शाम को बादल छंटे तो अद्भुत नजारा देखने को मिला। रुड़की से शाम के समय हिमालय की बर्फीली चोटियों का दीदार हुआ। यह पर्वत श्रृंखला देहरादून से भी बहुत साफ और सुंदर नजर आई। 
विज्ञापन


रुड़की में चक्रवाती तूफान ताउते के असर के चलते लगातार 24 घंटे हुई बारिश से कई जगहों पर जलभराव हो गया। शहर में अधिकांश जगहों पर सड़कों पर कीचड़ होने से लोगों को भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ा। वहीं, देहात क्षेत्र में खेत-खलिहान भी जलमग्न हो गए। बृहस्पतिवार सुबह करीब 11 बजे बारिश थमी। सुबह सात से दस बजे फल-सब्जी और दूध की दुकानें खुलीं, लेकिन कम लोग सड़कों पर दिखे। आईआईटी मौसम विभाग के अनुसार, इस दौरान रुड़की में 53.9 और बहादराबाद में सर्वाधिक 67 मिमी बारिश रिकॉर्ड हुई।


उत्तराखंड में ताउते का असर: मूसलाधार बारिश ने तोड़ा 105 वर्षों का रिकॉर्ड, सबसे ठंडा रहा मई का महीना

बारिश के दौरान शहर सहित देहात क्षेत्रों में लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। रुड़की में दिल्ली हरिद्वार हाईवे पर माजरा के निकट पानी भर गया, जिससे हाईवे से गुजर रहे लोगों को परेशानी हुई। गंगनहर पटरी पर रेलवे ओवरब्रिज के नीचे पानी भरा रहा। अंबर तालाब, मकतूलपुरी, शेरपुर, माजरा आदि इलाकों में भी जलभराव हुआ। कुछ इलाकों में नालियों की सफाई नहीं होने के चलते पानी निकासी में दिक्कत हुई। इससे सारा पानी सड़कों पर भर गया।

पुरानी तहसील समेत कुछ इलाकों में सड़कें कच्ची होने के चलते कीचड़ हो गया। इससे लोगों को पैदल और वाहनों के साथ निकलने में दिक्कत आई। नगर के मयूर विहार कॉलोनी, शेखपुरी, चाव मंडी आदि में हाल ही में गैस पाइप लाइन बिछाने का काम हुआ था। इसके बाद गड्ढ़ों को मिट्टी से भर दिया गया था। ऐसे में पानी भरने से कीचड़ हो गया। इसी तरह, डीएवी कॉलेज के पास कुछ दिन पहले एक प्राइवेट कंपनी ने केबल बिछाया था। यहां भी गड्ढों को मिट़्टी से भरा गया था। बृहस्पतिवार दोपहर जब यहां से वाहन निकले तो गड्ढों में फंस गए। दोपहर 12 बजे के आसपास मौसम साफ होने से तेज धूप निकली। आईआईटी के मौसम विभाग की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, रुड़की में 53.9 मिमी, लक्सर में 47 मिमी, बहादराबाद में 67 मिमी, भगवानपुर में 58 मिमी और नारसन में 65 मिमी बारिश हुई है। 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

हरिद्वार में दो दिन में हुई 32 एमएम बारिश

विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us