तीलू रौतेली पुरस्कार 2020 : उत्कृष्ट एवं साहसिक कार्यों के लिए महिलाओं का किया सम्मान, मुख्यमंत्री ने दी बधाई

न्यूज़ डेस्क, अमर उजाला, देहरादून Published by: Nirmala Suyal Nirmala Suyal Updated Sat, 08 Aug 2020 10:21 PM IST
Tilu rauteli Award 2019-20: women will honored today in dehradun
विज्ञापन
ख़बर सुनें
उत्तराखंड की वीरांगना तीलू रौतेली की जयंती पर आज डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम भवन सचिवालय में उत्कृष्ट एवं साहसिक कार्यों के लिए 21 बालिकाओं और महिलाओं को तीलू रौतेली पुरस्कार से पुरस्कृत किया गया। इस दौरान 22 आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का भी सम्मान किया गया।
विज्ञापन


मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने वीरांगना तीलू रौतेली के जन्मदिवस पर महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग की ओर से आयोजित राज्य स्त्री शक्ति तीलू रौतेली पुरस्कार वितरण के अवसर पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी पुरस्कार विजेताओं को संबोधित कर बधाई दी।


21 बालिकाओं और महिलाओं में अल्मोड़ा से प्रीति भंडारी, शिवानी आर्य, बागेश्वर से गुंजन बाला, चंपावत से जानकी चंद, चमोली से शशि देवली, देहरादून से उन्नति बिष्ट, संगीता थपलियाल, गीता मौर्या, हरिद्वार से पुष्पांजलि अग्रवाल, नैनीताल से कंचन भंडारी, मालविका माया उपाध्याय, पिथौरागढ़ से सुमन वर्मा, शीतल पौड़ी गढ़वाल से मधु खुगशाल टिहरी गढ़वाल से कीर्ति कुमारी, रुद्रप्रयाग से बबीता रावत, सुमती थपलियाल, ऊधमसिंह नगर से ज्योति उप्रेती अरोड़ा, मीनू लता गुप्ता, चंद्रकला राय और उत्तरकाशी से हर्षा रावत शामिल हैं।

इसके अलावा 22 आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को उत्कृष्ट कार्य के लिए पुरस्कृत किया गया। जिसमें अल्मोड़ा से नीता गोस्वामी, गीता देवी, बागेश्वर से पुष्पा, चंपावत से हेमा बोरा, चमोली से अंजना रावत, देहरादून से हयात फातिमा, सुधा, सीमा, हरिद्वार से पूनम, सुमनलता यादव, असमा, नैनीताल से गंगा बिष्ट, समारेज, निर्मला पांडे, पिथौरागढ़ से चंद्रकला, पौड़ी से अर्चना देवी, रोशनी, रुद्रप्रयाग से सुशीला देवी, टिहरी गढ़वाल से लक्ष्मी देवी, ललिता देवी, उत्तरकाशी से कुसुम मेहर और बीना चौहान शामिल हैं।

वीरांगना तीलू रौतेली

तीलू रौतेली उत्तराखंड की ऐसी वीरांगना है जो केवल 15 साल की उम्र में रणभूमि में कूद गई थी। सात साल तक उन्होंने दुश्मन राजाओं को कड़ी चुनौती दी। 15 से 20 साल की आयु में सात युद्ध लड़ने वाली तीलू रौतेली विश्व की एकमात्र वीरांगना है, जिनकी जयंती पर प्रदेश सरकार की ओर से उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं को हर साल पुरस्कृत किया जाता है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00