लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttarakhand ›   Dehradun ›   Roorkee news: Rakesh Tikait Attack on Government during Farmers protest

इकबालपुर शुगर मिल: राकेश टिकैत के साथ में गरजे हरियाणा के किसान, 15 करोड़ में हुआ समझौता

संवाद न्यूज एजेंसी, अमर उजाला, झबरेड़ा (रुड़की) Published by: अलका त्यागी Updated Mon, 08 Aug 2022 09:27 PM IST
सार

धरना स्थल पर भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि अब बकाया भुगतान में देरी बर्दाश्त नहीं होगी। किसान आर्थिक तंगी से जूझ रहा है। किसान धरने पर बैठे हैं भुगतान लेकर ही जाएंगे।

रुड़की में राकेश टिकैत
रुड़की में राकेश टिकैत - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

रुड़की के झबरेड़ा में इकबालपुर शुगर मिल की ओर से बकाया गन्ने की भुगतान की मांग को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा के बैनर तले धरना दिया गया। धरनास्थल पर पहुंचे भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि कहा कि हरियाणा और स्थानीय किसानों का करोड़ों का भुगतान बकाया है। किसान धरने पर बैठे हैं भुगतान लेकर ही जाएंगे। इसके बाद मिल प्रबंधन ने देरशाम 15 करोड़ के चेक देकर किसानों को मना लिया। 



धरना स्थल पर सोमवार दोपहर करीब डेढ़ बजे पहुंचे भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि अब बकाया भुगतान में देरी बर्दाश्त नहीं होगी। किसान आर्थिक तंगी से जूझ रहा है। किसान धरने पर बैठे हैं भुगतान लेकर ही जाएंगे। अभी किसान धरना स्थल से नहीं हटेंगे। किसानों का पूरा भुगतान होने तक आंदोलन जारी रहेगा। स्थानीय विधायक विरेंद्र जाती ने कहा कि गन्ना भुगतान को लेकर वह सड़क से विधानसभा के अंदर तक संघर्ष करेंगे। किसानों का गन्ने का भुगतान हर हाल में कराया जाएगा।  


इसके बाद देर शाम मिल प्रबंधन और किसानों के बीच समझौता हो गया। इसके तहत मिल प्रबंधन ने किसानों को 20 दिसंबर 2022 का 5 करोड़ का चेक, 15 फरवरी 2023 का 5 करोड़ का चेक और 31 मार्च 2023 का 5 करोड़ का चेक दिया। साथ ही रेलवे ओवरब्रिज बनाने के लिए जमीन की बिक्री से जो धनराशि मिलेगी उससे 10 करोड़ का और भुगतान किया जाएगा। इस दौरान गढ़वाल मंडल अध्यक्ष संजय चौधरी, जिला अध्यक्ष विजय शास्त्री, इकबाल, राष्ट्रीय अध्यक्ष गुलशन रोड, जिलाध्यक्ष महकार सिंह, रवि चौधरी, धर्मेंद्र राजपाल, स्वामी अग्निवेश, काला, बृज मोहन, मकर सिंह आदि मौजूद रहे।

धरने पर जाकर प्रबंधक ने बताई भुगतान की स्थिति
इकबालपपुर शुगर मिल के मुख्य प्रबंधक सुरेश शर्मा ने धरनास्थल पर आकर भुगतान देने की स्थिति बताई। उन्होंने  कहा कि हरियाणा किसानों के 33 करोड़ के लगभग बकाया भुगतान चल रहा है। इसमें से पहले 11 करोड़ का भुगतान हो चुका है। आधा भुगतान मिल का पेराई सत्र चालू होने पर किया जाएगा। बाकी अन्य स्रोतों से कर दिया जाएगा लेकिन किसान इससे संतुष्ट नहीं हुए और तत्काल भुगतान की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन धरने का एलान कर दिया। इस दौरान मिल के जीएम फाइनेंस परमवीर सिंह, जीएम एडमिन बीएन चौधरी, जीएम केन शिव कुमार सिसौदिया मौजूद रहे।

टिकैत समर्थक और स्थानीय किसानों में टकराव 

धरने में हरियाणा और स्थानीय किसान एकत्र हुए थे। इस दौरान काफी देर तक हरियाणा के किसानों के भुगतान की बात होती रही। इस पर स्थानीय किसानों ने उनके भुगतान का मुद्दा उठाए जाने की बात कही। इस दौरान पहले स्थानीय किसानों और फिर हरियाणा के किसानों को भुगतान दिए जाने की बात को लेकर हंगामा शुरू हो गया। स्थानीय किसान आजाद व धर्मपाल प्रधान ने राकेश टिकैत को भी निशाने पर ले लिया। इस पर टिकैत समर्थक और स्थानीय किसानों में टकराव की स्थिति बन गई। मामला बढ़ते देख पुलिस ने दोनों के बीच में हस्तक्षेप कर बीच बचाव कराया। किसान नेताओं ने मंच से धरने को लगातार चलाए रखने की घोषणा की।

हरियाणा के किसानों ने सुनाया दुखड़ा
शुगर मिल की ओर से पिछले छह साल का बकाया गन्ना भुगतान नहीं होने से किसानों को किस तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। इसे लेकर कई किसानों ने दुखड़ा सुनाया। हरियाणा के मनवीर ने बताया कि उन्होंने मिल में गन्ना वर्ष 2017-18 में डाला था लेकिन आज तक गन्ने का भुगतान नहीं मिला है। इससे उनकी आर्थिक हालत बहुत खराब हो गई है। इसी तरह अन्य किसानों ने भी अपनी बात रखी। 

सहारनपुर के नेता ने जताया अफसोस
भाकियू के सहारनपुर जिला अध्यक्ष राजपाल सिंह ने कहा कि धरने पर कम संख्या में पहुंचे किसानों से लग रहा है कि यहां के किसानों को बकाया भुगतान लेने की जरूरत नहीं है। सहारनपुर का किसान भाकियू के कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है।  

ट्रैक्टर पर झंडा लगाकर चलेगा हर किसान
नारसन। नारसन कस्बे से होकर गुजर रहे राकेश टिकैत का ग्रामीणों ने फूल माला पहनाकर स्वागत किया। यहां नारसन बॉर्डर पर उन्होंने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि सरकार चंद उद्योगपतियों की कठपुतली बन गई है। देश की असली समस्या एवं मुद्दों से केंद्र सरकार ध्यान भटका रही है। देश का राष्ट्रीय ध्वज प्रत्येक नागरिक की आन, बान और शान है। हर घर तिरंगा अभियान के तहत प्रत्येक किसान अपने ट्रैक्टर पर तिरंगा लगाकर चलेगा। इस मौके पर टिकैत के गढ़वाल मंडल महामंत्री अरविंद राठी, मनोज कुमार, मोनू राठी, संजीव कुमार, कुलदीप तोमर, चीनू, श्रवण कुमार, राजपाल सिंह आदि मौजूद रहे। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00