रुड़की: चर्च में हमले के मामले में आया नया मोड़, धर्मांतरण के बदले रकम और नौकरी का लालच देने का आरोप

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, रुड़की Published by: अलका त्यागी Updated Sun, 03 Oct 2021 11:20 PM IST

सार

Roorkee Conversion News: आरोप है कि चर्च में मौजूद लोग धर्मांतरण के लिए दबाव बनाने लगे। साथ ही ईसा मसीह की प्रार्थना छोड़कर जाने पर बच्चों की मौत होने की बात कही।
रुड़की में धर्मांतरण के आरोप में हंगामा
रुड़की में धर्मांतरण के आरोप में हंगामा - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

रुड़की के चर्च में हमले के मामले में रविवार देर शाम एक महिला ने पुलिस को तहरीर देकर आरोप लगाया कि उसे सामाजिक कार्यक्रम में बुलाया गया था। यहां उसके साथ कुछ और लोगों को धर्मांतरण के बदले दो-दो लाख रुपये, नौकरी व मकान का लालच दिया गया। विरोध करने पर उन पर दबाव बनाया गया। आरोप है कि चर्च में मौजूद महिलाओं और पुरुषों ने धर्मांतरण नहीं करने पर गालीगलौज कर मारपीट की। यही नहीं, गले से सोने की चेन और अन्य सामान भी छीन लिया। उन्होंने शोर मचाया तो आसपास के लोग पहुंचे और उनको बचाया।
विज्ञापन


धर्मांतरण का आरोप:...तो पूर्व नियोजित थी चर्च में हमले की घटना, प्रार्थना कर रहे लोगों पर लाठी-डंडों से बोला हमला, तस्वीरें


आदर्श नगर निवासी सोनम ने पुलिस को तहरीर देकर बताया कि उन्हें और पति राहुल समेत मोहित, सरिता त्यागी, कविता वाल्मीकि को रविवार सुबह चर्च में एक सामाजिक कार्यक्रम में बुलाया गया था। चर्च में कुछ महिलाएं और पुरुष थे। आरोप लगाया कि चर्च में मौजूद लोगों ने बताया कि तुम लोग किस्मत वाले हो, जो ईसा मसीह की शरण में आए हो। आरोप है कि धर्मांतरण के लिए दो-दो लाख रुपये और नौकरी देने का लालच दिया। इसके अलावा मकान बनाने, बीमार होने पर इलाज कराने और बच्चों को ईसाई स्कूल में पढ़ाने का लालच दिया। इस पर उन्होंने इनकार कर दिया।

आरोप है कि चर्च में मौजूद लोग धर्मांतरण के लिए दबाव बनाने लगे। साथ ही ईसा मसीह की प्रार्थना छोड़कर जाने पर बच्चों की मौत होने की बात कही। विरोध करने पर गालीगलौज करते हुए घेर लिया और मारपीट की। आरोप है कि उक्त लोगों ने गले सेे सोने की चेन और अन्य लोगों का सामान छीन लिया। आरोप है कि अश्लील हरकत करते हुए और कपड़े फाड़ दिए। शोर मचाने पर आसपास के लोग मौके पर पहुंचे। इसके बाद वे वहां से भागे। उधर, एसपी देहात प्रमेंद्र सिंह डोबाल ने बताया कि तहरीर के आधार पर जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

आखिर घटना से पहले वाली रात किनका हुआ था जमावड़ा

वहीं, चर्च को संचालित कर रहीं साधना लांस का कहना है कि घटना से पहले वाली रात चर्च के आसपास काफी शोरगुल था। कई लोग गाड़ियों में दूर-दर बैठे थे और अगले दिन सुबह ही अचानक इसी तरह का शोरगुल बढ़ा और तोड़फोड़ शुरू हो गई। ऐसे में सवाल उठता है कि पुलिस और खुुफिया विभाग को भनक क्यों नहीं लगी जबकि घटना के समय ही कुछ किमी दूर कुंजा बहादरपुर में मुख्यमंत्री का भी कार्यक्रम था।

रविवार सुबह दस बजे सौ से अधिक हमलावर चर्च में मारपीट और तोड़फोड़ कर दस मिनट में ही फरार हो गए। चर्च संचालिका साधना लांस के अनुसार, उनके पड़ोस में एक व्यक्ति के यहां शनिवार रात को काफी शोरगुल था। कई गाड़ियां खड़ी थीं, जिनमें लोग बैठे थे। काफी देर बाद गाड़ियां रवाना हुईं। रविवार सुबह प्रार्थना के समय चर्च में दस-बारह लोग थे, जिन पर अचानक भीड़ ने हमला कर दिया। ऐसे में यह अपने आप में बड़ा सवाल है कि गाड़ियों में बैठे लोग कौन थे और क्या योजना बना रहे थे। इससे भी बड़ा सवाल है कि यदि यह साजिश थी तो खुफिया विभाग और पुलिस को इसकी भनक क्यों नहीं लगी। वह भी तब, जब रविवार सुबह 10.30 बजे कुंजा बहादरपुर में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को भी एक कार्यक्रम में शामिल होना था। पूरे घटनाक्रम पर नजर डालें तो पुलिस और खुफिया विभाग की सक्रियता पर भी सवाल खड़े होते हैं।

आखिर तोड़फोड़ करने वाले लोगों की संख्या कितनी रही होगी, इसे लेकर भी पुलिस जांच कर रही है। तहरीर में बताया गया है कि करीब ढाई सौ लोग थे जबकि खुफिया विभाग के सूत्रों के अनुसार, घटना में 80 से 90 लोग शामिल थे। एक सवाल यह भी है कि हमलावर में ज्यादातर मोहल्ले के लोग शामिल थे या बाहरी। साधना लांस के अनुसार, मोहल्ले के बहुत कम लोग थे। अधिकांश चेहरे शहर की दूसरी कॉलोनी के थे। हालांकि, पुलिस की जांच के बाद ही सही तस्वीर सामने आ पाएगी।

सोशल मीडिया और मोबाइल लोकेशन भी बनेगी मददगार
धर्मांतरण की घटना को लेकर बताया जा रहा है कि कुछ लोगों की ओर से फोन कर अन्य लोगों को घटनास्थल पर बुलाया गया, जिससे यहां काफी संख्या में लोग एकत्र हो गए। ऐसे में यह कौन लोग थे। पुलिस इसके लिए सोशल मीडिया और घटनास्थल पर फोन ट्रेसिंग के जरिये जांच करेगी। एसपी देहात प्रमेंद्र डोबाल का कहना है कि घटना की सभी पहलुओं पर जांच कर कार्रवाई की जाएगी।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00