लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttarakhand ›   Dehradun News ›   National Girl Child Day 2023 CM Pushkar Singh Dhami attend seminar in Dehradun

National Girl Child Day: सीएम धामी ने किया बेटियों का सम्मान, कहा- निडर होकर आगे बढ़ें और सपनों को साकार करें

अमर उजाला ब्यूरो, देहरादून Published by: अलका त्यागी Updated Tue, 24 Jan 2023 08:46 PM IST
सार

मुख्यमंत्री ने महिलाओं की खेल में सहभागिता विषय पर आयोजित सेमिनार में कहा बेटियों ने हर क्षेत्र में अपना एक अलग मुकाम बनाया है। शिक्षा से लेकर खेल के मैदान और वैज्ञानिक अनुसंधान से लेकर सेना के अभियान तक में हमारी बेटियां बढ़चढ़ कर हिस्सा ले रही हैं।

सीएम पुष्कर सिंह धामी
सीएम पुष्कर सिंह धामी - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन

विस्तार

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि सरकार बेटी का अपमान करने वाले के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई से कभी पीछे नहीं हटेगी। हमारी बेटियां हमारी शान, मान एवं अभिमान हैं। वे निडर होकर आगे बढ़ें और अपने सपनों का साकार करें। सीएम ने यह बात राष्ट्रीय बालिका दिवस पर परेड ग्राउंड स्थित बहुद्देशीय हॉल में महिला आयोग की ओर से आयोजित सेमिनार में बतौर मुख्य अतिथि कही।



मुख्यमंत्री ने महिलाओं की खेल में सहभागिता विषय पर आयोजित सेमिनार में कहा बेटियों ने हर क्षेत्र में अपना एक अलग मुकाम बनाया है। शिक्षा से लेकर खेल के मैदान और वैज्ञानिक अनुसंधान से लेकर सेना के अभियान तक में हमारी बेटियां बढ़चढ़ कर हिस्सा ले रही हैं। राज्य सरकार ने सरकारी नौकरियों में महिलाओं को 30 प्रतिशत आरक्षण देने का प्राविधान किया है। उन्होंने कहा कि कुछ माह पूर्व राज्य सरकार ने प्रदेश की 80 हजार बालिकाओं को 323 करोड़ रुपये की धनराशि “नंदा गौरा योजना“ के तहत हस्तांतरित की थी।


Earthquake: जोशीमठ में आपदा के बीच उत्तराखंड में भी कांपी धरती, पहाड़ से मैदान तक महसूस हुए झटके

जो निश्चित ही हमारी बेटियों के बेहतर भविष्य की नींव रखने में काम आएगी। मुख्यमंत्री ने कहा विद्यालयों में बेटियों के नामांकन में बढ़ोतरी हुई है, लिंगानुपात में भी सुधार हुआ है, इससे स्पष्ट है कि बेटियों के लिए चलाई जा रही विभिन्न योजनाएं सफल हो रही हैं। महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्य ने कहा राज्य महिला आयोग की ओर से खेल को केंद्रित करते हुए बालिकाओं को लेकर सेमिनार का आयोजन किया जा रहा है, यह सराहनीय पहल है।

राज्य में बालिकाएं खेल के क्षेत्र में तेजी से आगे बढ़े इसके लिए राज्य में नई खेल नीति में हर संभव सुविधा देने के प्रयास किए गए हैं। खिलाड़ियों को अपनी प्रतिभाओं को उजागर करने के लिए आर्थिक संकट से न गुजरना पड़े, इसके लिए नई खेल नीति में हर सुविधा देने के प्रयास किए गए है। खिलाड़ियों को भोजन के लिए दी जाने वाली धनराशि 150 रुपए से बढ़ाकर 175 रुपए की गई है। राज्य में लगभग 3900 बच्चों को मुख्यमंत्री उदीयमान खिलाड़ी उन्नयन योजना के तहत 1500 रुपए प्रति बच्चे को छात्रवृत्ति दी जा रही है, जिसमें 50 प्रतिशत बालिकाएं शामिल हैं। कार्यक्रम में विधायक खजान दास, सविता कपूर, राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कण्डवाल, खेल निदेशक जितेन्द्र सोनकर एवं राज्य के विभिन्न क्षेत्रों से आई बालिकाएं मौजूद रही।

इनका हुआ सम्मान
सेमिनार में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने महिला खिलाड़ी एवं कोच नीरजा गोयल, सविता गुरूंग, शिक्षा बिष्ट, भावना कोरंगा, सलोनी लिखवाल, सुशीला राणा एवं दुर्गा थापा को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00