लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttarakhand ›   Dehradun ›   Jal Jeevan Mission: 9 lakh 64 thousand houses have got water connection in Uttarakhand

Jal Jeevan Mission: उत्तराखंड में अब तक नौ लाख 64 हजार घरों में लगे पानी के कनेक्शन

अमर उजाला ब्यूरो, देहरादून Published by: अलका त्यागी Updated Wed, 10 Aug 2022 11:51 PM IST
सार

प्रदेश में जल जीवन मिशन के तहत हर घर नल से जल पहुंचाने के साथ ही अब सरकार पेयजल आपूर्ति की अगले 30 वर्ष की संभावनाएं भी परखेगी।

पानी (प्रतीकात्मक तस्वीर)
पानी (प्रतीकात्मक तस्वीर) - फोटो : Social Media
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

जल जीवन मिशन के तहत प्रदेश में अब तक 14 लाख 95 हजार में से नौ लाख 64 हजार घरों में पानी के कनेक्शन दिए जा चुके हैं। करीब 7100 करोड़ की इस योजना से पेयजल की छोटी-बड़ी 16 हजार 151 परियोजनाएं बनाई जा रही हैं। जल जीवन मिशन के तहत प्रदेश में छोटी-बड़ी 16,151 पेयजल योजनाएं बनाई गई हैं। इनमें से 14 हजार योजनाएं स्वीकृत हो चुकी हैं। स्वीकृत योजनाओं में से 8632 का काम पूरा भी हो चुका है। इनमें से 6500 का थर्ड पार्टी इंस्पेक्शन कराया गया, जिसमें से 200 योजनाओं की कमियां दूर भी की जा चुकी हैं। 



सचिव पेयजल नितेश झा ने बताया कि पांच करोड़ तक की पेयजल योजनाएं जिलाधिकारी के स्तर से आवंटित की जा रही हैं। इससे अधिक की 81 परियोजनाएं शासन स्तर से स्वीकृत की जाएंगी। इनमें से 79 परियोजनाओं को मंजूरी दी जा चुकी है। करीब 45 बड़ी परियोजनाओं पर काम भी शुरू हो चुका है। जहां की परियोजनाएं बन चुकी हैं, वह गांवों की विलेज वाटर सैनिटेशन कमेटी (वीडब्ल्यूएससी) को सुपुर्द की जा चुकी हैं। यह समिति ही पेयजल योजना का रखरखाव करेगी। गौरतलब है कि प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में जल जीवन मिशन के तहत एक रुपये में पानी का कनेक्शन दिया जा रहा है।

30 साल के लिए पानी की उपलब्धता परखेगा विभाग

प्रदेश में जल जीवन मिशन के तहत हर घर नल से जल पहुंचाने के साथ ही अब सरकार पेयजल आपूर्ति की अगले 30 वर्ष की संभावनाएं भी परखेगी। बुधवार को केंद्रीय जल शक्ति मंत्रालय, पेयजल आयोग की ओर से समीक्षा बैठक हुई, जिसमें राज्य सरकार की ओर से सचिव पेयजल नितेश झा भी शामिल हुए। तय किया गया कि प्रदेशभर से पेयजल स्रोतों से पानी की उपलब्धता की रिपोर्ट मांगी जाएगी।

बुधवार को हुई बैठक में जल जीवन मिशन की प्रगति की समीक्षा हुई। बैठक के बाद सचिव पेयजल नितेश झा ने बताया कि सरकार का मकसद है कि गांव-गांव तक हर घर नल से जल पहुंचाने का जो मिशन चल रहा है, उसके तहत पेयजल की हर समय आपूर्ति हो। जल जीवन मिशन के तहत हर व्यक्ति तक प्रतिदिन 55 लीटर पेयजल पहुंचाने पर काम चल रहा है।

आज जल जीवन मिशन की समीक्षा बैठक में योजनाओं के साथ ही वहां पानी की उपलब्धता को लेकर चर्चा हुई है। तय किया गया है कि सभी डिवीजन से पेयजल स्रोतों व अन्य माध्यमों से रिपोर्ट मांगी जाएगी। अगली केंद्रीय बैठक में इस पर दोबारा चर्चा होगी।

-नितेश झा, सचिव, पेयजल

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00