लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttarakhand ›   Dehradun ›   uksssc paper leak Case Gang war in online-offline copying mafia

UKSSSC: ऑनलाइन-ऑफलाइन नकल माफिया में गैंगवार, आयोग के पूर्व अध्यक्ष का चौंकाने वाला खुलासा, नहीं कर पाए ये काम

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून Published by: देहरादून ब्यूरो Updated Wed, 10 Aug 2022 02:41 PM IST
सार

आयोग के चेयरमैन एस राजू ने पेपर लीक मामले में धांधली को लेकर नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे दिया था। वे 2016 से चेयरमैन के पद पर तैनात थे। सितंबर में उनका कार्यकाल समाप्त होने वाला था। अब उन्होंने कुछ चौंकाने वाले खुलासे किए हैं।

यूकेएसएसएससी के चेयरमैन एस राजू ने दिया इस्तीफा
यूकेएसएसएससी के चेयरमैन एस राजू ने दिया इस्तीफा - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की परीक्षाओं पर ऑनलाइन और ऑफलाइन परीक्षाओं के अलग-अलग गैंग हैं, जिनमें बड़ा गैंगवार है। आयोग के पूर्व अध्यक्ष एस राजू ने अमर उजाला से बातचीत में यह बात स्वीकारी। उन्होंने कहा कि इस वजह से चाहकर भी वह आठ से अधिक ऑनलाइन परीक्षाएं नहीं करा पाए।



आयोग के अध्यक्ष रहे एस राजू ने कहा कि आयोग की परीक्षाओं में बड़े पैमाने पर नकल माफिया सक्रिय हैं। इनमें कई सफेदपोश से लेकर कोचिंग संस्थानों के मालिक भी शामिल हैं। उन्होंने बताया कि ऑफलाइन परीक्षाओं का अलग और ऑनलाइन परीक्षाओं का अलग गैंग है। इनके बीच गैंगवार है। उन्होंने पेपर लीक जैसी घटनों से सुरक्षा के तौर पर ऑनलाइन मोड में परीक्षाएं शुरू कीं।


वन दरोगा, सहायक कृषि अधिकारी, पशुधन प्रसार अधिकारी, सहायक लेखाकार, जेई, वैयक्तिक सहायक जैसी आठ परीक्षाएं ऑनलाइन भी कराईं, लेकिन ऑफलाइन परीक्षाओं के माफिया इन परीक्षाओं के विरोध में दुष्प्रचार पर उतर आए। दबाव में आकर उन्होंने आगे की ऑनलाइन परीक्षाओं का फैसला रोक लिया। इसी प्रकार, जब भी कोई ऑफलाइन परीक्षा कराई जाती है तो ऑनलाइन नकल माफिया इस परीक्षा के दुष्प्रचार में जुट जाते हैं ताकि आयोग दबाव में आकर ऑनलाइन परीक्षाएं कराए।

ये भी पढ़ें...आजादी की चाह: जिन किलकारियों से घर-आंगन होना था गुलजार, वो जेल की चहारदीवारी में कैद, सलाखों के पीछे है दर्द
 

कोचिंग सेंटरों की भूमिका संदेह के घेरे में
आयोग के अध्यक्ष रहे एस राजू का कहना है कि कोचिंग संस्थानों की भूमिका भी संदेह के घेरे में है। कई परीक्षाओं में समय-समय पर कोचिंग सेंटर संचालकों की मिली भगत सामने भी आ चुकी है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00