लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttarakhand ›   Dehradun ›   Electrical connection Delay in reporting officials will pay fine

Electrical Connection: यूपीसीएल ने अधिकारियों को चेताया, बिजली कनेक्शन में देरी की रिपोर्ट पर भुगतेंगे अर्थदंड

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून Published by: रेनू सकलानी Updated Thu, 11 Aug 2022 08:44 AM IST
सार

नियामक आयोग ने यूपीसीएल से एलटी-एचडी कनेक्शन में देरी की रिपोर्ट मांगी है। यूपीसीएल ने वितरण खंडों से जानकारी मांगी थी जोकि उपलब्ध नहीं कराई गई। अब बिजली कनेक्शन में देरी की रिपोर्ट देने में विलंब होने पर अधिकारी अर्थदंड भुगतेंगे।

बिजली कनेक्शन
बिजली कनेक्शन - फोटो : amar ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

बिजली का कनेक्शन जारी करने में देरी की रिपोर्ट विद्युत वितरण खंड यूपीसीएल को उपलब्ध नहीं करा रहे हैं। यूपीसीएल प्रबंधन ने सभी वितरण खंडों के अधिकारियों को चेताया है कि ऑनलाइन रिपोर्ट पर अगर नियामक आयोग ने कोई जुर्माना लगाया तो उसके लिए संबंधित खंडों के अधिकारी ही जिम्मेदार होंगे।



नियामक आयोग ने अप्रैल में यूपीसीएल से सभी एलटी और एचटी बिजली कनेक्शन लगाने में देरी की रिपोर्ट तलब की थी। यूपीसीएल ने हर महीने की पांच तारीख को देरी के कारण बताते हुए रिपोर्ट मांगी थी लेकिन ज्यादातर विद्युत वितरण खंड अपनी रिपोर्ट नहीं दे रहे हैं। 

ये भी पढ़ें...Ayurveda University:  कर्मचारियों और अधिकारियों की छुट्टी पर रोक, विवि में विजिलेंस स्तर से चल रही जांच

यूपीसीएल के चीफ इंजीनियर कॉमर्शियल नरेश कुमार ने गढ़वाल, हरिद्वार, कुमाऊं, ऊधमसिंह नगर के चीफ इंजीनियर को एक आदेश जारी किया है। इसमें नाराजगी जताते हुए उन्होंने साफ कर दिया है कि कंप्यूटर से जेनरेट होने वाली रिपोर्ट नियामक आयोग को भेजनी पड़ रही है। अगर आयोग ने इस रिपोर्ट को ही स्वीकार करते हुए इस पर कोई अर्थदंड लगाया तो संबंधित वितरण खंड व संबंधित अधिकारी ही जिम्मेदार होंगे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00