लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttarakhand ›   Dehradun ›   Different cities will be settled in Uttarakhand on the lines of Mohali

पहल: उत्तराखंड में मोहाली की तर्ज पर बसेंगे अलग-अलग शहर, तीन श्रेणियों में बनेगी टाउनशिप

आफताब अजमत, अमर उजाला, देहरादून Published by: अलका त्यागी Updated Fri, 30 Sep 2022 08:05 PM IST
सार

सरकार ने इस योजना को अमली जामा पहनाने के लिए टास्क फोर्स का गठन किया है। प्राप्त आवेदनों का सर्वेक्षण कराया जाएगा। विशेषज्ञ यह बताएंगे कि संबंधित जमीन पर टाउनशिप विकसित हो सकती है या नहीं।

टाउनशिप
टाउनशिप - फोटो : प्रतीकात्मक तस्वीर
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

चंडीगढ़ के उप नगर मोहाली की तर्ज पर उत्तराखंड में भी अब अलग-अलग शहर बसाए जाएंगे। इसके लिए उत्तराखंड आवास एवं विकास परिषद ने निजी विकासकर्ताओं से आवेदन मांगे हैं। यह टाउनशिप तीन श्रेणियों में विकसित की जा सकती हैं।

इन तीन श्रेणियों में बनेगी टाउनशिप

नेबरहुड- यह छोटी टाउनशिप होगी। मैदानी क्षेत्रों में छह हेक्टेयर से 20 हेक्टेयर और पर्वतीय क्षेत्रों में तीन हेक्टेयर से दस हेक्टेयर भूमि पर ही यह टाउनशिप विकसित की जा सकेगी।


टाउनशिप- मैदानी क्षेत्रों में 20 से 40 हेक्टेयर भूमि पर और पर्वतीय क्षेत्रों में 10 से 20 हेक्टेयर भूमि पर यह टाउनशिप विकसित की जा सकेगी।
स्पेशल टाउनशिप- मैदानी क्षेत्रों में 40 हेक्टेयर से अधिक भूमि और पर्वतीय क्षेत्रों में 20 हेक्टेयर से अधिक भूमि पर यह टाउनशिप विकसित की जाएगी। 

ऐसे बनेंगे छोटे शहर

सरकार ने इस योजना को अमली जामा पहनाने के लिए टास्क फोर्स का गठन किया है। प्राप्त आवेदनों का सर्वेक्षण कराया जाएगा। विशेषज्ञ यह बताएंगे कि संबंधित जमीन पर टाउनशिप विकसित हो सकती है या नहीं। इसके बाद उस जगह का मास्टर प्लान तैयार होगा। विकासकर्ता को उस जगह पर सड़क, बिजली, पानी जैसी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करानी होंगी। भू-उपयोग परिवर्तन से लेकर मास्टर प्लान, रेरा से पंजीकरण सहित तमाम सरकारी कामों में विकासकर्ता को परिषद से सहयोग मिलेगा। हालांकि सरकारी शुल्क जमा कराने होंगे। 

स्कूल, कॉलेज, अस्पताल तक की सुविधा

मोहाली की तर्ज पर जो शहर बनेंगे, वहां स्कूल, कॉलेज से लेकर अस्पताल और खेल के मैदान तक की पूरी सुविधा होगी। मोहाली को जैसे सेक्टर में बांटा गया है, वैसे ही उत्तराखंड के शहरों को भी सेक्टर में बांटा जा सकेगा। इसमें विशेष क्षेत्र जैसे आईटी कंपनियों के लिए या अन्य रोजगार देने वाली कंपनियों के लिए भी अलग से जगह सुरक्षित की जाएगी। सभी टाउनशिप की उत्तराखंड आवास एवं विकास परिषद निगरानी करेगा।

विज्ञापन

प्रदेश में नई टाउनशिप विकसित करने के लिए आवेदन मांगे गए हैं। इस योजना को परवान चढ़ाने के लिए टास्क फोर्स भी बनाई गई है। मकसद यह है कि पुराने शहरों का बोझ कम हो और नए शहरों में लोगों को अत्याधुनिक सुविधाएं मिलें।
-आनंद बर्द्धन, अपर मुख्य सचिव, शहरी विकास एवं आवास

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00