Hindi News ›   Uttarakhand ›   Dehradun ›   Coronavirus in Uttarakhand COVID-19 News today 11 january: positive patients update

उत्तराखंड: प्रदेश में फिर आया कोविड संक्रमण में उछाल, 24 घंटे में 2127 नए मामले, एक की मौत

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून Published by: Nirmala Suyal Nirmala Suyal Updated Wed, 12 Jan 2022 02:45 PM IST
सार

प्रदेश में कोरोना के 2127 नए मामलों में सर्वाधिक देहरादून में 991, नैनीताल में 451 और हरिद्वार में 259 मामले शामिल हैं।

Coronavirus in Uttarakhand COVID-19 News today 11 january: positive patients update
- फोटो : अमर उजाला फाइल फोटो
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

दो दिन की राहत के बाद मंगलवार को फिर कोरोना के मामलों में जबर्दस्त उछाल दर्ज किया गया। 24 घंटे के भीतर प्रदेश में कोरोना के 2127 नए मामले सामने आए हैं, जबकि एक कोरोना संक्रमित की मौत हो गई। ताजा मामलों में सर्वाधिक 991 देहरादून के हैं।



स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी सूचना के मुताबिक, मंगलवार को प्रदेश में कोरोना के 2127 नए मामलों में सर्वाधिक देहरादून में 991, नैनीताल में 451 और हरिद्वार में 259 मामले शामिल हैं। इसके अलावा अल्मोड़ा में 43, बागेश्वर में चार, चमोली में 25, चंपावत में 26, पौड़ी में 48, पिथौरागढ़ में 30, रुद्रप्रयाग में 13, टिहरी में 35, ऊधमसिंह नगर में 189 और उत्तरकाशी में 13 नए मामले हैं। वहीं, राजकीय दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती एक कोरोना संक्रमित मरीज की मृत्यु हो गई। 


ऋषिकेश: योगनगरी को भारी पड़ रही मेहमाननवाजी, 84 पर्यटक मिले कोरोना संक्रमित

प्रदेश में एक्टिव केस छह हजार पार
अब प्रदेश में कोविड के 6603 एक्टिव केस हैं, जिनमें सर्वाधिक 2166 केस देहरादून के हैं। एक्टिव केस में नैनीताल के 1606, हरिद्वार के 1420, अल्मोड़ा के 121, बागेश्वर के 40, चमोली के 92, चंपावत के 98, पौड़ी के 151, पिथौरागढ़ में 145, रुद्रप्रयाग के 35, टिहरी के 75, ऊधमसिंह नगर के 623 और उत्तरकाशी के 31 मामले शामिल हैं।

72 हजार को दी वैक्सीन
प्रदेश में मंगलवार को 72 हजार 761 को कोविड से बचाव की वैक्सीन दी गई। अब तक प्रदेश में 82 लाख 68 हजार 758 को पहली डोज दी जा चुकी है। जबकि 66 लाख 34 हजार 277 को दोनों डोज दी जा चुकी हैं। अब तक प्रदेश में 29 हजार 784 लोगों को एहतियाती डोज दी जा चुकी है।

दून अस्पताल के सभी कर्मियों की 24 घंटे में हो जांच

दून समेत पूरे राज्य में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ने लगा है। दून अस्पताल में बड़ी संख्या में विशेषज्ञ डॉक्टर, पैरामेडिकल और स्टाफ नर्स के कर्मचारी कोरोना संक्रमित होने के बाद सभी कर्मचारियों को 24 घंटे के भीतर आरटीपीसीआर जांच सुनिश्चित करने का आदेश दिए गए हैं। 

राजकीय दून मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. आशुतोष सयाना ने मेडिकल कॉलेज के सभी विभागाध्यक्षों, सीनियर रेजिडेंट के अलावा दून अस्पताल के सभी विशेषज्ञ डॉक्टरों, स्टाफ नर्स, पैरामेडिकल और कर्मचारियों को आदेश जारी किया है कि वे 24 घंटे के भीतर अपना आरटीपीसीआर जांच कराएं। ताकि इस बात का पता लगाया जा सके कि कौन विशेषज्ञ डॉक्टर, स्टाफ नर्स, पैरामेडिकल और कर्मचारी कोरोना संक्रमित हैं। जो भी कोरोना संक्रमित हैं वे खुद को आइसोलेट करने के साथ ही अस्पताल में भर्ती होकर अपना इलाज कराएं।

कोरोना संक्रमण बढ़ने से अस्पतालों में मरीजों की जांच व इलाज करने वाले डॉक्टर, पैरामेडिकल और स्टाफ नर्स कर्मचारी भी कोरोना संक्रमित हो रहे हैं। जो डॉक्टर, कर्मचारी, पैरामेडिकल कोरोना संक्रमित हैं उनमें से ज्यादातर मरीजों में संक्रमण का कोई खास लक्षण नहीं दिखाई दे रहा है। 

उत्तराखंड में ओमिक्रॉन को लेकर नई एसओपी जारी

प्रदेश में ओमिक्रॉन वायरस से बचाव और नियंत्रण को लेकर नई एसओपी जारी की गई है। इसके तहत चुनाव आयोग की चुनाव प्रचार संबंधी गाइडलाइंस को भी एसओपी का हिस्सा बना दिया गया है। प्रदेश में 16 जनवरी तक जनसभा, चुनावी रैली पर पूर्ण रोक रहेगी। यह रोक 15 जनवरी तक चुनाव आयोग ने लगाई हुई है जबकि राज्य सरकार पूर्व में ही इसे 16 जनवरी तक कर चुकी थी।

चुनाव आयोग की ओर से समीक्षा होने के बाद इस रोक पर आगे का फैसला लिया जाएगा। एसओपी के तहत, प्रदेश में नामांकन की प्रक्रिया से लेकर चुनाव प्रचार तक कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना होगा। ऑफलाइन नामांकन के दौरान प्रत्याशी के साथ केवल दो लोग ही नामांकन जमा कराने जा सकेंगे। इसी प्रकार, नामांकन के जुलूस में वाहनों की संख्या और उनके बीच की दूरी को लेकर भी गाइडलाइंस जारी की गई हैं। 

चुनाव आयोग के दिशा-निर्देशों के तहत आयोग की टीम सभी नेताओं के कार्यक्रमों को लेकर अलग से मॉनिटरिंग कर रही है। अगर कहीं भी नियमों का उल्लंघन किया गया तो संबंधित नेता व दल के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

प्रदेश में डॉक्टरों व अस्पताल कार्मिकों की हड़ताल पर रोक
प्रदेश के अस्पतालों, मेडिकल कॉलेजों के डॉक्टरों व कर्मचारियों की हड़ताल पर रोक लगा दी गई है। मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधू ने इस संबंध में आदेश जारी किया। आदेश के मुताबिक, कोविड महामारी के मद्देनजर यह निर्णय लिया गया है कि 31 मार्च तक के लिए चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग के सभी चिकित्सकों व कार्मिकों, राज्य के राजकीय मेडिकल कॉलेजों में पीजी डॉक्टरों, कर्मचारियों की सेवाओं को अत्यावश्यक सेवा घोषित किया गया है। इसके तहत इन सभी की हड़ताल पर पूर्ण रूप से रोक लगा दी गई है।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00